scorecardresearch
 

बिहारः पत्नी ने छोटे कपड़े और शराब पीने से मना किया तो पति ने दे दिया तीन तलाक

पीड़िता ने कहा कि पति मुझसे शहर की अन्य मॉडर्न लड़कियों की तरह बनने के लिए कहता था. वो चाहता था कि मैं छोटे कपड़े पहनूं, नाइट पार्टी में जाऊं और शराब का सेवन करूं.

पीड़ित महिला पीड़ित महिला

  • पीड़ित महिला ने राज्य महिला आयोग से की शिकायत
  • आयोग ने मामले का संज्ञान लिया, पति को भेजा नोटिस
देश में तीन तलाक पर कानून बनने के बाद भी तीन तलाक के मामले रुकने का नाम नहीं ले रहे हैं. ताजा मामला बिहार के पटना का है. एक महिला को उसके पति ने इसलिए तीन तलाक दे दिया क्योंकि उसने मॉडर्न बनने और शराब पीने से मना कर दिया था. इस मामले में पीड़िता ने राज्य महिला आयोग से शिकायत की है, जिसके बाद उसके पति को नोटिस भेजा गया है.  

नूरी फातमा नाम की एक महिला ने दावा किया कि उसके पति ने उसे तीन तलाक दे दिया क्योंकि उसने मॉडर्न बनने, छोटे कपड़े पहनने और शराब के सेवन से मना कर दिया था. नूरी ने बताया कि उसकी शादी 2015 में इमरान मुस्तफा से हुई थी. कुछ समय बाद वे दिल्ली शिफ्ट हो गए.

पीड़िता ने कहा कि कुछ महीने बाद इमरान मुझसे शहर की अन्य मॉडर्न लड़कियों की तरह बनने को कहने लगा. वो चाहता था कि मैं छोटे कपड़े पहनूं, नाइट पार्टी में जाऊं और शराब का सेवन करूं. फातमा ने बताया कि ऐसा करने से मना करने पर पति मारपीट करता था.  

फातमा ने आरोप लगाया कि कई सालों तक मुझे प्रताड़ित करने के बाद कुछ दिन पहले उसने मुझे घर छोड़ने के लिए कहा और जब मैंने मना किया तो उसने मुझे तीन तलाक दे दिया.' इस मामले में पीड़िता ने राज्य महिला से शिकायत की है , जिसके बाद उसके पति को नोटिस भेजा गया है.  

राज्य महिला आयोग की चेयरमैन दिलमणि मिश्रा ने कहा कि हमने मामले का संज्ञान लिया है. एक सितंबर को उसके पति ने तीन तलाक दिया था. हमने उसके पति को नोटिस जारी किया है. उन्होंने कहा कि महिला का पति उसे प्रताड़ित करता था और दो बार उसने उसका गर्भपात भी कराया था.  

 एक अगस्त को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने तीन तलाक बिल को मंजूरी दे दी थी. इस मंजूरी के साथ ही देश में तीन तलाक कानून 19 सितबंर, 2018 से लागू हो गया. इसके लिए तीन साल की सजा का प्रावधान है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें