scorecardresearch
 

बिहार: 'मीडिया के सामने चेहरा चमकाना बंद करें', बंद कमरे में बीजेपी नेताओं को शाह-नड्डा की नसीहत

कभी-कभी कुछ नेताओं की बयानबाजी बहुत भारी पड़ जाती है. फिर उनकी पार्टी के लिए उसे संभालना मुश्किल हो जाता है. ऐसे में खबर है कि बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बिहार में पार्टी नेताओं के बयानबाजी करने को लेकर कड़ी नाराजगी जताई है. हाल में यहां बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की संयुक्त मोर्चा की बैठक हुई है.

X
बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Photo : Twitter) बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Photo : Twitter)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बिहार बीजेपी के नेताओं से नाराजगी
  • बीजेपी-जदयू गठबंधन को ना पहुंचे नुकसान

बिहार में बीजेपी और जदयू की गठबंधन सरकार है. ऐसे में जब हाल में बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की संयुक्त मोर्चा की बैठक बिहार में हुई तो पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने स्थानीय नेताओं के बयानों को लेकर कड़ी नाराजगी जाहिर की. बंद कमरे में हो रही इस बैठक में उन्होंने नेताओं से बयानों में सावधानी बरतने के लिए कहा. साथ ही सख्त लहजे में पार्टी नेताओं से कहा कि वो मीडिया में चेहरा चमकाना बंद करें.

बीजेपी के टॉप नेताओं की इस नसीहत का असर नीतीश कुमार की जनता दल युनाइडेट (जदयू) पर भी दिख रहा है. बिहार में बीजेपी की ये बैठक 30 और 31 जुलाई को हुई थी. नेताओं को बैठक में हुई बातों की जानकारी मीडिया में बताने से मना किया गया था, लेकिन बैठक की कुछ छिट-पुट बातें बाहर आई हैं.

बैठक में शामिल रहे कुछ नेताओं ने बताया कि जेपी नड्डा और अमित शाह ने बिहार के नेताओं की जमकर क्लास ली है. शीर्ष नेतृत्व बिहार बीजेपी के कुछ नेताओं के बड़बोलेपन से काफी परेशान दिखा. दोनों नेताओं ने मंत्रियों के अलावा बिहार के जिम्मेदार चेहरों से अपनी नाराजगी जताई. उन्होंने बिहार बीजेपी के नेताओं को कोई भी बयान देने से पहले 100 बार सोचने की नसीहत दी है. साथ ही कहा कि उन्हें क्षेत्रीय यानी ग्रामीण इलाके के अलावा पार्टी के कार्यकर्ताओं की बातों को ध्यान से सुनना चाहिए. वहीं नेताओं को दो टूक कहा कि वो किसी भी चैनल या मीडिया को  बयान देकर अपना चेहरा चमकाना सबसे पहले बंद करें. साथ ही ध्यान रखें कि वो क्या बोल रहे हैं? शाह और नड्डा ने पार्टी नेताओं से इसे तत्काल लागू करने के लिए कहा है.

बताया जा रहा है कि बैठक में उन नेताओं को खासकर आगाह किया गया. जो बिहार में एनडीए के संबंधों पर बयान देते हैं. शाह और नड्डा ने ऐसे नेताओं ढंग से खिंचाई की है. वहीं बीजेपी से जुड़े सूत्रों की मानें तो शीर्ष नेतृत्व बिहार में जदयू और बीजेपी के बीच आई तल्खी से नाराज दिखा. उन्होंने साफ कर दिया कि ऐसा कुछ भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा जिससे गठबंधन में किसी तरह की खटपट आए. उन्होंने नेताओं को काम पर ध्यान देने और कार्यकर्ताओं की बातें सही से सुनने का टास्क दिया है. वहीं विनय बिहारी ने तो यहां तक बताया कि अमित शाह की ओर से सख्त निर्देश है कि बैठक की बातें बाहर नहीं जानी चाहिए.

दूसरी ओर खबर है कि बीजेपी के नेताओं की इन नसीहतों का असर जदयू पर भी दिख रहा है. जदयू को जब से इस बारे में पता चला है, तब से उसने पार्टी नेताओं की लगाम कसना शुरू कर दिया है. जदयू भी अपने प्रवक्ता और खासकर मंत्रियों के अलावा विधायकों को बयानबाजी और मीडिया से दूरी बनाने के लिए कह रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें