scorecardresearch
 

गुजरातः अर्सेलर मित्तल ने 72 घंटे में बना दिया कोविड अस्पताल

अर्सेलर मित्तल ने 72 घंटे में बना दिया कोविड अस्पताल, गुजरात के हजीरा प्लांट में बनाया 250 बेड का अस्पताल, मरीजों को सीधे प्लांट से होगी ऑक्सीजन की सप्लाई

अर्सेलर मित्तल ने 72 घंटे में बना दिया कोविड अस्पताल अर्सेलर मित्तल ने 72 घंटे में बना दिया कोविड अस्पताल
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अर्सेलर मित्तल ने 72 घंटे में बना दिया कोविड अस्पताल
  • -गुजरात के हजीरा प्लांट में बनाया 250 बेड का अस्पताल
  • मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग से किया उद्घाटन
  • मरीजों को सीधे प्लांट से होगी ऑक्सीजन की सप्लाई

केंद्र सरकार और गुजरात सरकार की अपील पर त्वरित प्रतिक्रिया देते हुए ग्लोबल स्टील मैन्युफैक्चरर अर्सेलर मित्तल ने दक्षिण गुजरात स्थित हजीरा प्लांट में 72 घंटे के भीतर 250 बिस्तरों का अस्थायी कोविड अस्पताल बनाकर तैयार कर दिया. कंपनी इसे विस्तार देते हुए निकट भविष्य में 1,000 बिस्तरों वाले अस्पताल में तब्दील कर देगी. अस्पताल का उद्घाटन गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने किया.

इसे कोरोनावायरस संकट के दौरान ऑक्सीजन की बढ़ती मांग की वजह से तैयार किया गया है. कंपनी के हजीरा स्टील प्लांट में ऑक्सीजन का उत्पादन गैस के रूप में होता है लेकिन इसे दूर के अस्पतालों तक पहुंचाने के लिए लिक्विड ऑक्सीजन में बदलने की जरूरत होती है. इसमें काफी वक्त लगता है. लिहाजा कंपनी ने हजीरा स्टील प्लांट के परिसर में ही कोविड अस्पताल बना दिया ताकि मरीजों को ऑक्सीजन की सप्लाई सीधे प्लांट से हो सके. इस अस्पताल का उद्घाटन मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग से किया. इस मौके पर रूपाणी ने अर्सेलर मित्तल और इसके मालिक लक्ष्मी मित्तल के परिवार का सामाजिक दायित्व निभाने में तत्परता दिखाने के लिए शुक्रिया अदा किया.  

मालूम हो कि देश इन दिनों कोरोनावायरस की दूसरी लहर की चपेट में है और अस्पतालों में बेड फुल चल रहे हैं. ऑक्सीजन सिलेंडरों की दिक्कत हो रही है. ऐसे में कॉरपोरेट्स का आगे आकर कोविड मरीजों के इलाज का प्रबंध करना और ऑक्सीजन सप्लाई करना बहुत महत्वपूर्ण हो जाता है. अर्सेलर मित्तल अपने सार्वजनिक दायित्वों को निभाने में हमेशा अग्रणी रहा है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें