scorecardresearch
 

यूपी: जरूरतमंदों को मिलेंगी कालाबा‍जारियों से बरामद दवाएं और ऑक्सीजन सिलिंडर

कोरोना से संबंधी दवाओं और ऑक्सीजन की कालाबाजारी के खिलाफ यूपी पुलिस द्वारा चलाए जा रहे अभियान में जब्त की गई दवाएं संबंधित जिलों के सीएमओ के सुपुर्द की जाएंगी. हाइकोर्ट के आदेश के बाद अपर पुलिस महानिदेशक (एडीजी) कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने इस संबंध में निर्देश जारी कर दिए हैं.

पुलिस द्वारा बरामद रेमडिसिविर इंजेक्शन पुलिस द्वारा बरामद रेमडिसिविर इंजेक्शन
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पिछले दो हफ्ते के भीतर जीवन रक्षक दवाओं और ऑक्सीजन की कालाबाजारी करने के आरोप में अब तक करीब 100 लोगों को गिरफ्तार किया गया है
  • सबसे बड़ी कार्रवाई कानपुर नगर में हुई, जहां मिलेट्री इंटेलीजेंस से मिले इनपुट के बाद रेमडेसिवर के 265 इंजेक्शन बरामद किए गए
  • लखनऊ में कालाबाजारी करने वालों से पुलिस ने 350 से ज्यादा आक्सीजन सिलेंडर बरामद किए हैं

कालाबाजारी करने वालों से पुलिस को बरामद ऑक्सीजन सिलेंडर और रेमडेसिविर इंजेक्शन जरूरतमंदों को दिए जाएंगे. कोरोना से संबंधी दवाओं और ऑक्सीजन की कालाबाजारी के खिलाफ पुलिस द्वारा चलाए जा रहे अभियान में जब्त की गई दवाएं संबंधित जिलों के सीएमओ के सुपुर्द की जाएंगी. हाइकोर्ट के आदेश के बाद अपर पुलिस महानिदेशक (एडीजी) कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने इस संबंध में निर्देश जारी कर दिए हैं. कोरोना काल में ऑक्सीजन सिलेंडर और रेमडेसिविर इंजेक्शन की मांग बढ़ने के साथ इनकी कालाबाजारी भी शुरू हो गई है. प्रदेश में कई जगहों पर इनकी कालाबाजारी की शि‍कायतें आ रही थीं. इसके बाद एडीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने सभी जिलों को कालाबाजारियों की धड़पकड़ करने का अभि‍यान शुरू करने का आदेश दिया था. लगातार कार्रवाई होने के कारण पिछले दो हफ्ते के भीतर जीवन रक्षक दवाओं और ऑक्सीजन की कालाबाजारी करने के आरोप में अब तक करीब 100 लोगों को गिरफ्तार किया गया है, इसमें सबसे अधिक 36 गिरफ्तारी लखनऊ से हुई हैं. अपर पुलिस महानिदेशक कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने बताया कि प्रदेश में चलाए गए अभियान के दौरान दो हफ्ते में दिनों में तीन दर्जन से अधि‍क मामले सामने आए. इसमें कोरोना से इलाज में कारगर इंजेक्शन, ऑक्सीजन और दवाइयों की कालाबाजारी में 100 से अधि‍क लोगों को गिरफ्तार किया गया. इनके पास से 50 लाख रुपये से अधिक बरामद किए गए हैं. सबसे बड़ी कार्रवाई कानपुर नगर में हुई, जहां मिलेट्री इंटेलीजेंस से मिले इनपुट के बाद रेमडेसिवर के 265 इंजेक्शन बरामद किए गए. लखनऊ में पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर के नेतृत्व में बंथरा, गोमतीनगर, गुडंबा और ठाकुर गंज में कार्रवाई की. कालाबाजारी में कई डॉक्टरों को जेल भेजा गया. नोएडा, कानपुर नगर और गाजियाबाद में भी कार्रवाई की गई. लखनऊ में कालाबाजारी करने वालों पर शिकंजा कस पुलिस ने 350 से ज्यादा ऑक्सीजन सिलेंडर बरामद किए हैं. सबसे बड़ी बरामदगी जानकीपुरम थाने में 115 और गुडंबा थाने में 87 सिलेंडर की हुई थी. कृष्णानगर में 54 ऑक्सीजन सिलेंडर मिले थे.

प्रदेश में कालाबाजारियों के खि‍लाफ हो रही कार्रवाई में बड़ी संख्या में बरामद हो रही दवाओं, इंजेक्शन और ऑक्सीजन सिलिंडर को मरीजों को उपलब्ध कराने के लिए पुलिस पर लगातार दबाव बन रहा था. इस मामले को लेकर उच्चाधिकारियों तक गुहार लगाई गई थी. मंगलवार, 4 मई की देर रात एडीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने हाइकोर्ट की पीआइएल पर हुए आदेश का हवाला देते हुए आदेश जारी किया. इस आदेश के तहत इंजेक्शन जरूरतमंदों और अस्पतालों को उपलब्ध कराने का जिक्र किया गया था. प्रशांत कुमार की ओर से कहा गया है कि हाइकोर्ट इलाहाबाद द्वारा 27 अप्रैल को पारित आदेश के क्रम में जब्त की गई कोविड 19 की दवा रेमेडेसिविर व अन्य दवाइयों और ऑक्सीजन सिलेंडर थाने के मालखाने में रखने के स्थान पर कानूनी तरीके से अस्पतालों को इस्तेमाल के लिए रिलीज किया जाएगा. प्रशांत कुमार ने बताया कि यह दवाएं विधिक तरीके से संबंधित जिले के सीएमओ के सुपुर्द करने के निर्देश दिए हैं. सीएमओ जिस अस्पताल में जरुरत समझेंगे वहां दे देंगे. इसी तरह ऑक्सीजन सिलेंडर भी संबंधित अधिकारी की सुपुर्दगी में दिए जाएंगे. सभी जिलों के पुलिस कप्तानों और पुलिस कमिश्नरेट के पुलिस कमिश्नर को भेजे निर्देश में कहा है कि हाइकोर्ट के आदेश का पालन तत्काल सुनिश्चित कराया जाए. लखनऊ में एडीजी के आदेश की प्रति मिलने के बाद पुलिस कमिश्नर ध्रुव ठाकुर ने 5 मई को इस संबंध में कार्रवाई का निर्देश जेसीपी अपराध नीलाब्जा चौधरी को दिया. उन्होंने विशेष समिति बनाने की कवायद शुरू कर दी है. जेसीपी के मुताबिक हाइकोर्ट के आदेश के दायरे में रहते हुए ऑक्सीजन सिलेंडर, इंजेक्शन व दवा जरूरतमंदों और अस्पतालों को दी जाएगी. 

***

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें