scorecardresearch
 

दो किताबों से भाजपा-आरएसएस पर ‘काउंटर अटैक’ करेगी कांग्रेस

उत्तर प्रदेश में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और भारतीय जनता पार्टी से वैचारिक स्तर पर लड़ने के लिए कांग्रेस कुछ किताबों के साथ आगे आई है

फोटोः आशीष मिश्र फोटोः आशीष मिश्र

रायबरेली के भुएमऊ गेस्ट हाउस में कांग्रेस पदाधिकारियों और जिला अध्यक्षों के प्रशिक्षण सत्र में शिरकत करने वाले हर नेता को पार्टी की तरफ से एक फोल्डर थमाया गया. इसमें एक डायरी थी, जिसके कवर पर लाल रंग में पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की फोटो के साथ ऊपर केवल ‘इंदिरा’ लिखा है. डायरी पर इंदिरा गांधी की फोटो के नीचे जो लाइनें लिखी हैं उससे यूपी में कांग्रेस की भविष्य की रणनीति का इशारा होता है. यह लाइन है ‘जिंदगी में मौके आपके पास चलकर नहीं आते, बल्कि आपको उनका निर्माण करना होता है और आगे बढक़र उन मौकों को अपने हाथ में लेना पड़ता है.’ 

इस डायरी के साथ दो महत्वपूर्ण किताबें हर नेता के फोल्डर में डाली गई थी. ये किताबें हैं - ‘गंगो जमन के खिलाफ आरएसएस और भाजपा के लोग’ और ‘हम कांग्रेस के लोग : दुष्प्रचार और सच’. इन दोनों किताबों के ‘बैक कवर’ पर कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी की फोटो के साथ इनके एक तरफ प्रियंका गांधी और राहुल गांधी की फोटो है तो दूसरी तरफ छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू की फोटो है. फोटो के नीचे ‘छत्तीसगढ़ एवं उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी’ लिखा हुआ है.

पहली किताब ‘गंगो जमन के खिलाफ आरएसएस और भाजपा के लोग’ में विस्तार से बताया गया है कि किस तरह भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) गंगा-जमुनी तहजीब के विरोध में कार्य कर रहे हैं. किताब के पहले अध्याय में ही बताया गया है कि राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ ने कभी भी स्वतंत्रता संग्राम में हिस्सा नहीं लिया और आरएसएस तिरंगा के विरोध में था. 

किताब में स्वतंत्रता संग्राम और आरएसएस की भूमिका, आजादी के प्रतीकों का विरोध, संविधान विरोधी आरएसएस-भाजपा, आरएसएस के प्रति नेताओं के विचार, भाजपा-आरएसएस के स्वतंत्रता आंदोलन के प्रति विचार, भाजपा गरीब विरोधी है, भाजपा सामाजिक न्याय को पसंद नहीं करती, भाजपा के भ्रष्टाचार के किस्से, महिलाओं के प्रति आरएसएस-भाजपा के विचार, भाजपा की आर्थिक नीति और वर्तमान आर्थिक हालात, भाजपा की विदेश नीति दब्बू है, अध्यायों के जरिए भाजपा और आरएसएस के ऊपर सवाल खड़े किए गए हैं. 

इसी किताब में ‘ए टू जेड ऑफ बीजेपी स्कैम’ नाम से बनाए गए ग्राफिक्स में ‘ए फॉर अडानी पॉवर स्कैम, बी फॉर बॉल्को डिसइनवेस्टमेंट, सी फॉर चिक्की स्कैम से लेकर जेड फॉर जुबिन इरानी लैंड स्कैम’ का जिक्र किया गया है. ग्राफिन्न्स के नीचे ‘भ्रष्टाचारी जनता पार्टी’ भी लिखा हुआ है.

दूसरी किताब ‘हम कांग्रेस के लोग : दुष्प्रचार और सच’ में उन सभी आरोपों का जवाब दिया गया है जिसे भाजपा के नेता समय-समय उठाते रहे हैं. इस किताब में कुल  12 आरोपों पर बिंदुवार जवाब दिए गए हैं. ये आरोप इस प्रकार हैं-

आरोप-1- गांधी जी ने पाकिस्तान को भारता का रुपया देकर पाकिस्तान की मदद की थी.

आरोप-2- पाकिस्तान पर कांग्रेस का रुख नरम है.

आरोप-3- कांग्रेस ने आतंकवादियों को बिरयानी खिलाई है.

आरोप-4- भाजपा राष्ट्रवादी पार्टी है और कांग्रेस देश द्रोहियों का समर्थन करती है.

आरोप-5-कांग्रेस सेना के बारे में कुछ नहीं सोचती.

आरोप-6- नेहरू ने पटेल को प्रधानमंत्री नहीं बनने दिया. अगर नेहरू की जगह पटेल देश के प्रधानमंत्री होते तो देश में कोई समस्या नहीं होती.

आरोप-7- कांग्रेस ने सुभाष चंद्र बोस, सरदार पटेल और स्वतंत्रता आंदोलन के अन्य नेताओं को तरजीह नहीं दी.

आरोप-8-कांग्रेस केवल नेहरू-गांधी परिवार के इर्द गिर्द घूमती है.

आरोप-9-कांग्रेस ने वंशवाद की राजनीति को आगे बढ़ाया है.

आरोप-10-कांग्रेस ने देश में 70 वर्षों में कुछ नहीं किया. 

आरोप-11- कांग्रेस ने देश में फ्री वाली आदत  लगाई है.

आरोप-12- कांग्रेस मुस्लिम परस्त है. तुष्टिïकरण की राजनीति करती है और हिंदू आस्था का सम्मान नहीं करती है.

इन किताबों के जरिए कांग्रस ने यूपी में भाजपा और आरएसएस पर काउंटर अटैक करने की रणनीति बनाई है. भुएमऊ गेस्ट हाउस में प्रशिक्षण शिविर में मौजूद कांग्रेस के सभी नेताओं को इन किताबों को पूरी तरह अध्ययन करने के बाद स्थानीय स्तर पर प्रशिक्षण शिविर का आयोजन कर कांग्रेस के जमीनी कार्यकर्ताओं को भी भाजपा और आरएसएस के बारे में जानकारी देने का निर्देश दिया गया है. 

पार्टी के एक वरिष्ठ नेता बताते हैं ‘भाजपा और अन्य विपक्षी पार्टियों द्वारा उठाए जाने वाले कई सारे मुद्दे ऐसे है जिनपर कांग्रेस के नेता आक्रामक ढंग से जवाब नहीं दे पाते थे. ऐसे सभी बिंदुओं का संकलन कर उनपर तथ्यात्मक जवाब तैयार किया गया है. इससे भाजपा के आरोपों का कांग्रेस के नेता बेहद आक्रामक ढंग से अपना जवाब दे पाएंगे और कांग्रेस पार्टी यूपी में जनता के बीच आक्रामक छवि बना पाएगी.’ हालांकि किताब में कुछ तथ्यात्मक गड़बडिय़ां भी रह गई हैं. मसलन, हम कांग्रेस के लोग : दुष्प्रचार और सच में आरोप -9- के जवाब के बिंदुओं में एक में लिखा है –लालजी टंडन के बेटे आशुतोष (गोपालजी) टंडन देवरिया से भाजपा विधायक और योगी सरकार में मंत्री हैं. जबकि आशुतोष टंडन लखनऊ पूर्व से भाजपा विधायक हैं.

***

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें