scorecardresearch
 

सुषमा और खट्टर होंगे तमिलनाडु में भाजपा के स्टार प्रचारक

भाजपा तमिलनाडु में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए अपने दो तमिल जानने वाले नेताओं को वहां का स्टार प्रचारक बना रही है. विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर तमिल के अलावा अन्य दक्षिण भारतीय भाषाओं में धाराप्रवाह भाषण दे सकते हैं. मतलब, भाजपा कोई पत्ता अछूता नहीं छोड़ना चाहती. 

फोटो सौजन्यः इंडिया टुडे फोटो सौजन्यः इंडिया टुडे

आने वाले लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) तमिलनाडु में बेहतर प्रदर्शन करना चाहती है. इसकी तैयारियों के मद्देनजर भाजपा ने कई अहम कदम उठाने शुरू कर दिए हैं. इनमें से एक है, पार्टी के प्रचार को प्रभावी बनाने के लिए नेतृत्व ने वरिष्ठ नेता और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को जिम्मेदारी देना. ये दोनों नेता दक्षिण भारत के इस राज्य में पार्टी के स्टार प्रचारक तो होंगे ही साथ ही यहां के बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं से भी सीधे संवाद करेंगे.

पार्टी यह प्रयोग इन दोनों नेताओं की तमिल भाषा की जानकारी के आधार पर करने जा रही है. 

सुषमा स्वराज न सिर्फ धाराप्रवाह तमिल बोल सकती है बल्कि वह तमिल पढ़ और लिख भी लेती हैं. तमिल के अलावा सुषमा कन्नड़ भी बखूबी बोलती हैं. वह तेलूगू समझती हैं और काफी हद तक तेलूगू भी बोल लेती हैं. 1999 के लोकसभा चुनाव में जब सुषमा बेल्लारी (कर्नाटक) से तत्कालीन कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के खिलाफ चुनाव लड़ी थीं तो उन्होंने प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के साथ वहां जनसभा की थी और धाराप्रवाह तथा प्रभावी रूप से कन्नड़ में भाषण देकर खूब सुर्खियां बटोरी थी.

सूत्रों का कहना है कि उसी दौरान सुषमा को वाजपेयी ने दक्षिण भारत के अन्य भाषाओं को पढ़ने, लिखने और बोलने का अभ्यास करने की सलाह दी थी. वाजपेयी की सलाह को मानते हुए उन्होंने जब इन भाषाओं को पढ़ने की कोशिश शुरू की तो उन्हे लगा कि संस्कृत पर पकड़ बनाने के बाद इन भाषाओं को समझना और आसान हो सकता है. इस तरह उन्होंने संस्कृत भी सीख ली. 

सुषमा के अलावा हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर भी तमिल बोल सकते हैं. पिछले दिनों उन्होंने हरियाणा में तमिल लोगों की ओर से आयोजित एक कार्यक्रम में तमिल भाषा में भाषण दिया. भाजपा नेताओं का कहना है कि इन दोनों नेताओं की ओर से जब तमिलनाडु में पार्टी कार्यकर्ताओं से उनकी मातृभाषा में संवाद किया जाएगा तो माहौल और उत्साह बनने में अच्छी मदद मिलेगी.

***

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें