scorecardresearch
 

कल फिर मिलेंगे छोटे चौधरी और अखिलेश यादव, चौथी सीट होगी पक्की!

उत्तर प्रदेश में गठबंधन पर सीटों का बंटवारा करीबन तय, पांच सीटों पर अड़े रालोद को चार सीटों पर करना होगा संतोष, कैराना या हाथरस में से एक सीट मिल सकती है रालोद को

जयंत चौधरी, रालोद जयंत चौधरी, रालोद

राष्ट्रीय लोकदल (रालोद) अध्यक्ष जयंत चौधरी और समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव के बीच हुई कल मुलाकात सकारात्मक रही, यह संकेत दोनों नेताओं ने साफ दे दिया था. तीन सीटें पक्की हो गईं हैं. चौथी सीट पक्की होनी तय है. इस बीच एक खबर यह भी आई कि कांग्रेस, रालोद, अपना दल और ओमप्रकाश राजभर की पार्टी के साथ गठबंधन की खिचड़ी पका रही है. लेकिन रालोद नेता जयंत चौधरी के बेहद करीबी सूत्र की मानें तो जयंत चौधरी और अखिलेश यादव के बीच बात हो चुकी है. यह गठबंधन पक्का है. कांग्रेस के साथ गठबंधन की कोई बात नहीं चल रही है.

शुक्रवार को कोलकाता में अखिलेश यादव और जयंत चौधरी की मुलाकात होनी है. सूत्रों ने बताया कि कांग्रेस के साथ गठबंधन की बात महज अफवाह है. मथुरा, बागपत और मुजफ्फरनगर की सीट रालोद के लिए पक्की हो गई है. सूत्र के मुताबिक, चौथी सीट को लेकर सकारात्मक दिशा में बात चल रही है. 

उम्मीद जताई जा रही है कि कैराना या हाथरस में से कोई एक सीट रालोद के लिए चौथी सीट बन सकती है. दरअसल, रालोद के लिए सपा-बसपा के गठबंधन में दो सीटें तय की गईं थीं. लेकिन पांच सीटों की मांग पर अड़ी रालोद को अखिलेश यादव ने अपनी एक सीट देकर मामला रफा-दफा करने की कोशिश की. लेकिन रालोद का कहना है कि चार सीटों से कम पर वह नहीं मानेगी. ऐसे में कयास यह भी लग रहे थे कि बसपा अपनी एक सीट छोड़ सकती है. लेकिन बसपा ऐसा करेगी इसकी उम्मीद कम ही है. ऐसे में सपा अपनी एक और सीट रालोद के खाते में डाल सकती है.

***

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें