scorecardresearch
 

भाजपा को नोटबंदी सा सियासी लाभ दिलाएगा चालान !

सूत्रों का कहना है कि प्रदेश के कुछ पदाधिकारियों ने बढ़े हुए चालान का जिक्र करते हुए इसके नकारात्मक असर की आशंका जताई. लेकिन उन्हें भाजपा पार्टी के नेताओं की तरफ से जवाब दिया गया कि इसी तरह की धारणा नोटबंदी के बाद भी बनी थी. लेकिन चुनावी नतीजा धारणा के विपरीत आया.

ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने पर चालान ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने पर चालान

 नई दिल्ली। इस साल होने वाले तीन राज्यों के विधानसभा चुनाव में जीत हासिल करने के लिए भाजपा ने तीन आधारभूत मुद्दों को अंतिम रूप दे दिया है. तीनों मुद्दे ऐसे जो मतदाताओं के जोश, उनके गुस्से और पूर्वनिर्धारित विचार के माकूल हो सकते हैं जिसका प्रतिनिधित्व मोदी सरकार करती हुई दिखे. ये मुद्दे हैं कश्मीर, बड़े नेताओं पर कानूनी कार्यवाई और बढ़ा हुआ चालान. भाजपा का आंकलन है कि इन तीनों मुद्दों पर वोटरों का एक तबका, भाजपा के खिलाफ हो सकता है लेकिन वोटरों का उससे लगभग तीनगुना बड़े हिस्से का समर्थन भाजपा को मिलेगा.

हरियाणा, महाराष्ट्र और झारखंड में इस साल विधानसभा चुनाव होने हैं. पिछले एक सप्ताह से इस मुद्दे को लेकर भाजपा के केंद्रीय कार्यालय में बैठक हो रही है. पार्टी की प्रदेश इकाई को कहा गया है कि इन तीनों मुद्दों पर आक्रामक तरीके से पार्टी का पक्ष रखें. सूत्रों का कहना है कि प्रदेश के कुछ पदाधिकारियों ने बढ़े हुए चालान का जिक्र करते हुए इसके नकारात्मक असर की आशंका जताई. इसके जबाव में कहा गया कि इसी तरह की धारणा नोटबंदी के बाद भी बनी थी. लेकिन देखा गया कि समाज के एक बड़े तबके खासकर गरीबों ने नोटबंदी को हाथों हाथ लिया. क्योंकि उन्हे इस बात की खुशी थी कि जो लोग पैसे वाले हैं सरकार ने उन पर नकेल कसी. चालान को लेकर भी आलम कुछ इसी तरह का है. जितने लोगों के पास वाहन हैं उससे कहीं बड़ी संख्या ऐसे लोगों की संख्या है जिनके पास कोई वाहन नहीं है. इसलिए वाहन चालकों पर बड़ी कार्यवाई भाजपा के लिए नोटबंदी जैसा सकारात्मक चुनावी प्रभाव डाल सकता है.

इसी तरह कश्मीर से अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी करने से लोगों में जबरदस्त जोश है. बड़े और प्रभावी लोगों (चिदंबरम, डी.के. शिवकुमार) पर सीबीआई और ईडी के नकेल से भी गरीब लोगों में भाजपा को लेकर समर्थन है. पार्टी के बड़े नेता इन मुद्दों को चुनावी सभाओं में प्रमुखता से उठाएंगे. इन तीन कोर मुद्दों के अलावा भाजपा की प्रदेश सरकार द्वारा की किए गए विकास कार्यों का भी जिक्र होगा. भाजपा के एक महासचिव का कहना है कि इन मुद्दों के अलावा पार्टी की सबसे बड़ी ताकत पीएम नरेंद्र मोदी का करिश्मा है. केंद्र सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल के सौ दिनों के अंदर ही ऐसे कई काम किए हैं जो अपने आप में रिकार्ड है. लोग इसे देख रहे हैं और निश्चित रूप से भाजपा को इसका फायदा चुनाव में मिलेगा.

***

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें