scorecardresearch
 

किताबें

नरेन्द्र कोहली के उपन्यास 'सुभद्रा' का लोकार्पण

डॉ. नरेन्द्र कोहली के उपन्यास ‘सुभद्रा’ का हुआ विमोचन 

10 जनवरी 2021

डॉ. नरेंद्र कोहली का 81वां जन्मदिन उनके पाठकों के लिए सौगात लेकर आया था. उस रोज इस डिजिटल गोष्ठी में नरेन्द्र कोहली के नवीनतम उपन्यास 'सुभद्रा' का लोकार्पण किया गया.

खाली तमंचा तथा अन्य कहानियां

पुस्तक समीक्षाः स्त्री मन के ऊहापोह की कहानियां

31 दिसंबर 2020

स्त्री मन की पीड़ा और उसके अंदर के असमंजस को पेश करने वाली कहानियों का संग्रह है, भूमिका द्विवेदी अश्क का कथा संग्रह, खाली तमंचा तथा अन्य कहानियां

कुलदीप कुमार की पुस्तक बिन जिया जीवन

बिन जिया जीवन: अपने दौर की काव्य-कथा

12 अगस्त 2020

कुलदीप कुमार के इस कविता संग्रह में जिंदगी के विशाल फलक की कविताएं हैं, जो हमें अपने दौर के कई तरह के यथार्थ से रू-ब-रू कराती हैं.

पेरियार की किताब सच्ची रामायण

पेरियार की किताब के बाद राजकमल लाएगा हर दस दिन पर दो नई किताबें

22 जुलाई 2020

लॉकडाउन के बाद के दौर में राजकमल प्रकाशन समूह पाठकों के साथ जुड़े रहने की हरसंभव कोशिश कर रहा है. इसने नई किताबों के प्रकाशन की शुरुआत कर दी है और सबसे पहले पेरियार की दो किताबों को पाठकों के बीच पेश किया है.

वैधानिक गल्प का कवर (राजकमल प्रकाशन)

पुस्तक समीक्षाः जन के खिलाफ लामबंद तंत्र का किस्सा है वैधानिक गल्प

20 जून 2020

यह वक्त, जिसे हम हड़बड़ियों में मुब्तिला लोगों का दौर कह सकते हैं, अधिकतर संजीदा लेखक या अप्रासंगिक होते जा रहे हैं या फिर समयबद्ध क्षरण का, विचारों को लंबे समय तक प्रासंगिक बनाए रखने के लिए उसका दस्तावेजीकरण जरूरी है. वैधानिक गल्प नामक उपन्यासिका इस कोशिश में खड़ी नजर आती है.

किताब

टेलीग्राम के सहारे एक युग का वर्णन

23 मई 2020

अनिल उन कवियों में से हैं जो बहुत ही विनम्र ढंग से काव्य कर्म को बहुत ही गंभीरता से लेते हैं. उन्हें पता है कि कवि को कहां से खड़ा होकर इस संसार और जीवन को देखना है. वह प्रचलितब अर्थों में प्रतिरोध के कवि नहीं है लेकिन गंभीर हाथों में उनकी पक्षधरता हर कविता में दिखाई पड़ती है.