scorecardresearch
 

परदे के पार

शॉर्ट में गंभीर बातें

शॉर्ट फिल्मेंः देखन में छोटन लगे

13 जून 2020

डिजिटल जमाने में शॉर्ट फिल्मों को मिला सहारा और सराहना, बड़ी शख्सियतों के जुड़ने से दर्शक भी बढ़े


वेब सीरीज पाताललोक का पोस्टर

ओटीटी प्लेटफार्म पर क्राइम थ्रिलर की धूम

28 मई 2020

ओटीटी प्लेटफॉर्म पर क्राइम थ्रिलर ने अपनी अलग जगह बना ली है. पाताललोक इस कड़ी में नया हिट है, पर ऐसे कई सीरीज और उनके सीजन आने वाले.

फोटो साभार-इंडिया टुडे

लंगड़ा त्यागी, इरफ़ान और विशाल भारद्धाज

11 मई 2020

2013 में यानि हैदर बनने से पहले लंगड़ा त्यागी एपिसोड और विशाल से तनातनी के बारे में पूछने पर इरफ़ान के शब्द थे, ''शिकवा तो मेरा तब भी नहीं था. शुरू-शुरू में ऐसी मेरी इच्छा थी कि मैं वो किरदार करूँ. लेकिन (बाद में) जब मैंने फिल्म देखी तो लगा की सैफ वाज़ अ राइट चॉइस. उसने अच्छा किया, बहुत अच्छा किया. अगर रोल अच्छा नहीं किया होता तो शायद ग्रज (शिकवा) रहता.''

फोटो साभार-इंडिया टुडे

लॉकडाउन डायरीः संकट की घड़ी में नियत परिधि से बाहर आकर सेवा में जुटा राज्‍य कर विभाग

03 मई 2020

राज्‍य की कुल राजस्‍व प्राप्तियों में साठ प्रतिशत से अधिक का योगदान करने के बावजूद उत्तर प्रदेश वाणिज्य कर विभाग राष्‍ट्रीय आपदा के समय आवश्यक सेवाओं के अंतर्गत नहीं आता. इस कारण संकट के दिनों में विभाग की भूमिका नगण्‍य ही रहती थी परन्‍तु कोरोना महामारी के कारण लागू लॉकडाउन में विभाग ने अपनी दिशा बदली और अपनी नियत परिधि से बाहर आकर 22 करोड प्रदेशवासियों की सेवा में जुटा है.

दीपक डोबरियाल

इरफान खान को सेट पर खुश करके रखते थे-दीपक डोबरियाल

12 मार्च 2020

दीपक डोबरियाल हिंदी पट्टी उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल के रहने वाले हैं. थिएटर करने वाले दीपक ने मकबूल से सिनेमा में कदम रखा. उन्होंने ओमकारा, मकबूल और तनु वेड्स मनु जैसी कई फिल्मों में ऐसे किरदार किए जिसके लिए वो जाने जाते हैं. हिंदी मीडियम के बाद अंग्रेजी मीडियम में भी वो इरफान खान के साथ दिखेंगे. मुंबई में नवीन कुमार के साथ बातचीत में दीपक डोबरियाल ने इरफान खान के अलावा कुछ जज्बाती बातें भी की हैं, पेश हैं-

राधिका मदान

मेरे लिए तो इरफान खान पापा हैं-राधिका मदान

09 मार्च 2020

दिल्ली की राधिका मदान खूब प्यारी-प्यारी बातें करती हैं. सकारात्मक सोच रखती हैं और उन्हें अपनी मंजिल पता है. वो उसी दिशा में बढ़ने के लिए ईमानदारी से काम कर रही हैं. पटाखा और मर्द को दर्द नहीं होता जैसी फिल्मों में वो अपनी अभिनय की छाप छोड़ चुकी हैं. अब वो अंग्रेजी मीडियम में इरफान खान की बेटी के रूप में नजर आएंगी. मुंबई में नवीन कुमार के साथ बातचीत में राधिका मदान के अंग्रेजी मीडियम, इरफान खान और अन्य मुद्दों पर बेबाकी से जवाब पेश हैं-

फोटोः नवीन कुमार

दहेज प्रथा पर चोट करती है मोस्ट कॉमन बुड़बक

02 मार्च 2020

शशांक कुमार की फिल्म मोस्ट कॉमन बुड़बक दहेज प्रथा पर आधारित है, पर जरा अलग अंदाज में. दहेज का दानव आज भी यूपी, बिहार, झारखंड और एमपी जैसे राज्यों में मौजूद है. शशांक की फिल्म इस समस्या पर जोरदार प्रहार करती है

हवा को बांधने वाले उत्साही लड़के की कहानी द बॉय हू हार्नेस्ड द विंड

हवा को बांधने वाले उत्साही लड़के की कहानी द बॉय हू हार्नेस्ड द विंड

27 फरवरी 2020

द बॉय हू हार्नेस्ड द विंड मलावी के एक ऐसे गांव को बचाने वाले लड़के की कहानी है जहां भुखमरी है और भयानक सूखा है. उम्दा अभिनय, शानदार पटकथा और बेहतरीन सिनेमैटोग्राफी इस फिल्म में दर्शक को अंत तक बांधे रखती है. यह फिल्म एक राजनीतिक टिप्पणी भी है

भूत फिल्म में विकी कौशल

नेटफ्लिक्स और अमेजोन से मिलेगा भूत को नया बाजार

20 फरवरी 2020

नेटफ्लिक्स के हॉरर जोनर के नए बाजार में बॉलीवुड के बादशाह शाहरुख खान भी आ रहे हैं. उनकी प्रोडक्शन कंपनी रेड चीलीज एक हॉरर सीरीज बेताल में बतौर को-प्रोड्यूसर पैसे लगा रही है. पैट्रिक ग्राहम की लिखी और डायरेक्ट की गई इस सीरीज में अंग्रेजों के जमाने की कहानी है. अमेजोन ने भी हॉलीवुड की कई भूतिया फिल्मों को दिखाने की घोषणा की है.

फोटोः नवीन कुमार

समलैंगिकता को लेकर समाज की सोच बदलने में समय लगेगाः नीना गुप्ता

19 फरवरी 2020

फिल्म बधाई हो ने नीना गुप्ता का फिल्मी करियर बदल दिया है. इस साल वह आधा दर्जन फिल्मों में दिखेंगी. वो नए जमाने के हिसाब से खुद को आधुनिक और युवा बनाने की कवायद में भी रहती हैं. समलैंगिकता पर आधारित फिल्म शुभ मंगल ज्यादा सावधान में एक बार फिर वो मां की भूमिका में हैं. इस फिल्म के अलावा कई मुद्दों पर मुंबई में नवीन कुमार के साथ उनसे हुई बातचीत पेश है

भूमि पेडणेकर और तापसी पन्नू

सिनेमाः हिंदी सिनेमा में ऐक्ट्रेस को उम्र सीमा में बांधना जायज है!

18 फरवरी 2020

एजिज्म के विवाद में सबसे ज्यादा चर्चा में नीना गुप्ता रहीं जो कभी चोली के पीछे क्या है गाने से चर्चित हुई थीं. अभी हाल में उनकी दो बेहतरीन फिल्में भी आई जिसमें उनके अभिनय की जमकर तारीफ हुई. उन्होंने अपनी ही उम्र का किरदार फिल्म बधाई हो में किया जो प्रेग्नेंट हो जाती है तो द लास्ट कलर के लिए उन्हें बोस्टन फिल्म फेस्टिवल में बेस्ट ऐक्ट्रेस का अवार्ड भी मिला है.