scorecardresearch
 

जाकर भी नहीं जाती

कोविड के संक्रमण के बाद शरीर के कई अंग प्रभावित हो जाते हैं

ग्राफिकः तन्मय चक्रबर्ती ग्राफिकः तन्मय चक्रबर्ती

दिल

संक्रमण मांसपेशियों को कमजोर कर सकता है, खून के थक्के धमनियों में प्रवाहित हो सकते हैं

यूनिवर्सिटी ऑफ एडिनबरा के अध्ययन में 55 फीसद कोविड मरीजों के हृदय में गड़बडिय़ां पाई गईं

दिमाग

ऑक्सीजन की कम सप्लाइ, दिमाग के लिए खून के थक्के खतरनाक होते हैं

चीनी कोविड मरीजों पर जामा न्यूरोलॉजी के अध्ययन से जाहिर हुआ कि करीब 36.4 फीसद मरीजों के मस्तिष्क को क्षति पहुंची

फेफड़े

फेफड़ों में संक्रमण से फाइब्रोसिस हो रहा

लांसेट ने 15 साल तक सार्स के असर का अध्ययन किया. इसमें जाहिर हुआ कि एक-तिहाई मरीजों के फेफड़ों की क्षमता कम हो गई

किडनी (गुर्दे)

साइटोकाइन स्टॉर्म, सेप्टीसीमिया और कुछ दर्दनिवारक दवाइयां क्षति पहुंचा सकती हैं

इंटरनेशनल सोसाइटी ऑॅफ नेफ्रोलॉजी (आएसएन) की एक हालिया रिपोर्ट में पाया गया कि 25 से 50 फीसद कोविड मरीजों की किडनी खराब हो गई

सामान्य स्वास्थ्य

थकान, अल्पकालिक भ्रम या स्मृतिलोप, अवसाद और शरीर में दर्द, कोविड के बाद रहने वाले सामान्य लक्षण हैं

जामा में प्रकाशित एक अध्ययन में पाया गया कि पहली बार कोरोना वायरस के लक्षण मिलने के बाद औसत 60 दिनों बाद भी 87.4 फीसद मरीजों ने कम से कम एक लक्षण की शिकायत की

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें