scorecardresearch
 
डाउनलोड करें इंडिया टुडे हिंदी मैगजीन का लेटेस्ट इशू सिर्फ 25/- रुपये में

विशेषांकः जिक्र हुआ और हंस पड़े

2021 में अमेजन प्राइम पर रिलीज हुआ तो पूरे देश में उनके होर्डिंग लगे. उनके निभाए किरदार रॉनी भैया की फैन फॉलोइंग लगातार बढ़ रही थी.

X
ज़ाकिर खान ज़ाकिर खान

नई नस्ल 100 नुमाइंदे/ सिनेमा

ज़ाकिर खान, 30 वर्ष, अभिनेता

वह सख्त दोपहर थी. इंदौर की गर्मियों के छुट्टी वाले कोष्ठक में पगी दोपहर. और इस दोपहर छठवीं क्लास पास  एक सख्त लौंडे के हाथ चुटकुलों की कुछ किताबें लग गईं. उसने पढ़ा, मजा आया तो और पढ़ा और फिर बांचने भी लगा. पिता के सख्त अनुशासन के तले सितार के रियाज के बीच के गैप में, रिश्तेदारियों के हमउम्र लड़कों से मिलने पर और फिर स्कूल में भी. और यहीं जादू हुआ.  

यह जाकिर खान और कॉमेडी के रिश्ते की शुरुआत थी. स्कूल टीचर पिता चाहते थे कि बेटा परिवार की संगीत परंपरा को आगे बढ़ाए. दादा चाहते थे कि नाम करे, मगर जाकिर ने ट्रैक बदल लिया. और फिर शहर भी. नौकरी मिलने का झूठ बोल दिल्ली आ गए.

पिता ने खर्चा भेजना बंद किया, तब भी सनक नहीं छोड़ी. रेडियो का कोर्स किया और फिर एफएम में काम शुरू कर दिया. मगर वहां वैसे महफिलबाज लोग नहीं थे, जिन्हें जाकिर इंदौर छोड़कर आए थे.

जाकिर जमघटों में जाने लगे. कहीं कविता सुनाई जा रही होती तो कहीं मजाकिया तकरीरें. जाकिर को वह मंच फिर मिलने लगा था, जो वे अपने शहर में छोड़कर आए थे, जहां उन्होंने गणेश उत्सव से लेकर शादियों तक, हर मौके पर ऐंकरिंग की थी. 

मगर यह शहर दिल्ली था. यहीं एक रोज कुल जमा 100 रुपए के घाटे ने उनका मुकद्दर तय कर दिया. कॉमेडियन नीति पालटा ने साकेत के एक क्लब के लिए उन्हें स्टैंडअप कॉमेडियन चुन लिया. पहली दफा जाकिर को स्टेज पर परफॉर्म करने के लिए पैसे मिले. कुल 3,500 रुपए. और कुल 3,600 रुपए वे खर्च कर चुके थे इस परफॉर्मेंस के लिए माकूल ब्रांडेड शर्ट खरीदने पर. पर किक थी कि पोस्टर में नाम छपा, तस्वीर छपी.

और अब आज का दिन है. जब जाकिर का बनाया शो चचा विधायक हैं हमारे सीजन 2 के साथ 2021 में अमेजन प्राइम पर रिलीज हुआ तो पूरे देश में उनके होर्डिंग लगे. उनके निभाए किरदार रॉनी भैया की फैन फॉलोइंग लगातार बढ़ रही थी. और खुद जाकिर के शब्दों में, ''फनी तो यह था कि ऐक्टिंग के और भी ऑफर आने लगे. तीन हीरोइन और एक सिंगल हीरो टाइप भी.’ 

वैसे फनी ऐक्टिंग की शुरुआत की वजह भी थी. जाकिर ने एक मझोले शहर के तीन लड़कों की दोस्ती और उसमें भी एक लड़के की हर काम के लिए हां कहने और फिर फाइट मारने की कहानी को मिडल क्लास वैल्यूज, कॉमेडी और ड्रामा के साथ पेश करने के वास्ते शो लिखा. मगर अमेजन से हुए करार में लिखे उस क्लॉज पर उनका ध्यान देर से गया कि ये मशहूर स्टैंडअप कॉमेडियन इस सीरीज में फीचर भी होंगे.  

और कॉमेडी. वह तो दौड़ ही रही है. हाल में जाकिर पेरिस, एम्सटर्डम और लंदन का सफल दौरा कर लौटे हैं. वे अपनी सिग्नेचर स्टाइल में कहते हैं, ''पेरिस में मजा

आया. लगा वहीं का रहने वाला हूं.’’ फिर पॉज लेकर बोले, ''न उन्हें इंग्लिश आती है, न हमें.’’ 
मगर जाकिर को अपने फैंस को जोड़ना आता है. इसीलिए सोशल मीडिया पर उनके ऑफिशियल हैंडल से करोड़ों लोग जुड़े हैं. दो स्टैंड अलोन शो हक से सिंगल और कक्षा 11वीं सुपरहिट करार दिए जा चुके हैं.

ऐसे तीन शो और आने वाले हैं, जिसमें नेक्सट रिलीज का टाइटिल है तथास्तु. यह जाकिर और उनके दिवंगत बाबा के रिश्ते की कहानी है. और हां, इसमें सितार भी है. स्टोरीटेलिंग पर कोर्स, ब्रांड के लिए इश्तेहारी कंटेंट, यूट्यूब के लिए एक नई सीरीज जैसी कई चीजें भी कतार में हैं.

जाकिर की कॉमेडी और लिखाई का केंद्र बिंदु लोग और उन्हें जोड़ने वाले रिश्ते हैं. इसी वजह से भारत उनकी कॉमेडी के साथ कनेक्ट फील करता है.

अनफिट क्रिकेट जाकिर मुंबई में एक क्रिकेट टीम भी चलाते हैं अनफिट इलेवन के नाम से. इसमें कुमुद मिश्र, गोपाल दत्त सरीखे कई नामी ऐक्टर हैं. इसमें सबसे कमजोर बॉलर को लास्ट ओवर मिलता है और पहली गेंद पर आउट होने पर भी दोबारा बैटिंग. सिक्स मारने पर भी दौड़कर रन लेना पड़ता है, ताकि अनफिट कुछ फिट हों.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें