scorecardresearch
 
डाउनलोड करें इंडिया टुडे हिंदी मैगजीन का लेटेस्ट इशू सिर्फ 25/- रुपये में

जय जवान से अग्निवीर तक

इतिहास और परंपरा के समृद्ध वाहक भारतीय सशस्त्र बलों ने लड़ाई की गहमागहमी में खुद को साबित किया है. आज यह दुनिया की सबसे आधुनिक सेनाओं में से एक है

X
पुराना बख्तरबंद : 1961 के गणतंत्र दिवस परेड में नई दिल्ली के राजपथ पर टैंकों का काफिला पुराना बख्तरबंद : 1961 के गणतंत्र दिवस परेड में नई दिल्ली के राजपथ पर टैंकों का काफिला

आजादी @ 75 सुरक्षा : सशस्त्र बल

तरकश का नया तीर 2022 की गणतंत्र दिवस परेड के दौरान गुजरता अर्जुन मेन बैटल टैंक

भारतीय सेना आजादी के बाद कई बदलावों से गुजरी. दूसरे विश्व युद्ध के खत्म होने पर पुरानी भारतीय सेना के 12.5 लाख युद्धकालीन सैनिकों में से दसियों हजारों को हटा दिया गया और कई यूनिटों को भंग कर दिया गया. बंटवारे के साथ भारतीय सैन्य बल भी भारत और पाकिस्तान के बीच दो-तिहाई और एक-तिहाई के अनुपात में बंट गए.

आज 14 लाख सैन्यकर्मियों और 9,60,000 आरक्षित बलों के साथ भारत के पास दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी सेना है, जो परंपरा और उतने ही ठाठ-बाट और अनुष्ठान से ओत-प्रोत है और कुछ रेजिमेंट के लिए तो ये 18वीं सदी जितने पुराने हैं. भारतीय सेना ने पाकिस्तान के खिलाफ चार युद्ध लड़े, जिनमें करगिल में 1999 का सरहदी टकराव भी है.

1962 में इसने लद्दाख और उस वक्त जिसे एनईएफए या नेफा (नॉर्थ ईस्ट फ्रंटियर एरियाज) कहा जाता था, उसकी ऊंचाइयों पर पीपल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना का सामना किया. भारतीय नौसेना और वायु सेना का इतिहास भी औपनिवेशिक काल तक जाता है.

भारतीय वायु सेना (आइएएफ) की स्थापना 1932 में हुई और आजादी के बाद इसने रॉयल इंडियन एयर फोर्स के सात स्क्वाड्रन, एक ट्रांसपोर्ट कम्युनिकेशन स्क्वाड्रन और अन्य विमानों को बनाए रखा.

इसके पास 1,70,000 जवानों के साथ लड़ाई में सक्षम करीब 900 विमान हैं, जिसमें तेजस एलसीए और राफेल लड़ाकू विमान भी हैं. हालांकि वह छीजते बेड़े से जूझ रही है, फिर भी विश्व वायु शक्ति सूचकांक में तीसरे स्थान पर है.

भारत का समृद्ध समुद्री इतिहास रहा है, जिसमें चोल वंश और मराठों की नौसेनाएं अपने साम्राज्यों के समुद्रों पर हुकूमत करती थीं. नौसेना के पास आज 150 जहाजों और 300 विमानों के साथ 80,000 कर्मियों की शक्ति है.

भारी-भरकम बजट
हालांकि भारत अपने सशस्त्र बलों पर बड़ी रकम खर्च करता है, विदेशी सप्लायरों पर निर्भरता घटाने के लिए बहुत कुछ करने की जरूरत है

प्रतिरक्षा बजट
(वित्त वर्ष 2022-23)
5,25,166 करोड़ रु. यह सभी मंत्रालयों में सबसे अधिक (13 प्रतिशत) है जो देश की जीडीपी का 
2.04 प्रतिशत है
55,587 करोड़ रु. वायु सेना
32,015 करोड़ रु 

थल सेना
47,511 करोड़ रु नौसेना
1,19,000 करोड़ रु 
पेंशन
2021 में भारत का 76.6 अरब डॉलर का सैन्य खर्च दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा सैन्य खर्च था  

14 लाख से ज्यादा सक्रिय जवानों के साथ यह दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा सैन्य बल है 

भारतीय सेना का इरादा अगले दो साल में अपनी शक्ति 12.8 लाख से घटाकर करीब 10.8 लाख तक लाने का है 

मील के पत्थर

1947-48 का कश्मीर युद्ध: पाकिस्तानी सेना के नियमित सैनिकों और कबायली छापामारों ने कश्मीर पर हमला बोल दिया. दोनों तरफ से 15,000 सैनिकों ने जंग लड़ी. संयुक्त राष्ट्र ने भारत और पाकिस्तान के बीच युद्धविराम रेखा खींची

1961ः ऑपरेशन विजय: पॉर्चुगीज इंडिया (गोवा, दमन और दियु) का भारत में विलय

जून 1961 ःपहले स्वदेशी लड़ाकू बमवर्षक विमान एचएएल एचएफ-24 मारुत ने उड़ान भरी

1962ः भारत-चीन युद्ध: मैकमोहन रेखा को लेकर विवाद. करीब 20,000 भारतीय सैनिकों ने लद्दाख और नेफा में 80,000 चीनी सैनिकों से लोहा लिया. 6,000 से ज्यादा मृत्यु

1965ः भारत-पाकिस्तान युद्ध: 33,000 से ज्यादा पाक सैनिक स्थानीय लोगों के भेष में कश्मीर में घुसे. दूसरा मोर्चा खोलकर भारत ने कड़ा जवाब दिया. यूएन ने युद्धविराम करवाया
 
1967ः भारत ने रूसी पनडुब्बी को कलवरी-क्लास  नाम दिया, भारतीय सैन्य बेड़े में शामिल यह पहली पनडुब्बी थी

1971ः भारत-पाक युद्ध: भारतीय सेना ने पाकिस्तान पर सैन्य फतह हासिल की, जिससे बांग्लादेश बना. 90,000 से ज्यादा युद्धबंदी बनाए गए
1986
भारत ने स्वीडन की कंपनी एबी बोफोर्स के साथ 400 होवित्जर तोपों की खरीद का सौदा किया. उन्होंने 1999 की करगिल लड़ाई में प्रमुख भूमिका निभाई

1987ः ऑपरेशन पवन: जाफना पर नियंत्रण करने और एलटीटीई को निरस्त्र करने के लिए भारत-श्रीलंका समझौते के हिस्से के तौर पर भारतीय शांति रक्षक बल तैनात किए गए

1989ः भारत की पहली अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल अग्नि-1 का परीक्षण किया गया. यह 700-1,200 किमी तक मार कर सकती है. आने वाले दशकों में और ज्यादा परिष्कृत संस्करणों के परीक्षण किए गए

1999ः करगिल की लड़ाई: पाकिस्तानी सैनिकों और आतंकियों ने करगिल की अहम चोटियों पर कब्जा कर लिया. उन्हें खदेड़ने के लिए भारतीय सेना ने ऑपरेशन विजय और आइएएफ ने ऑपरेशन सफेद सागर छेड़ा

2016
भारत ने फ्रेंच फर्म दसॉ के साथ 36 लड़ाकू विमान खरीदने का सौदा किया, 35 आ चुके हैं

2016ः स्वदेशी अरिहंत-परमाणु शक्तिक संपन्न बैलिस्टिक पनडुब्बी शामिल 

2020ः सेना और चीनी सेना के बीच लद्दाख में सरहदी टकराव. 16 दौर की बातचीत के बाद भी पूरी तरह पीछे हटने का अब भी इंतजार.

—प्रदीप आर. सागर

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें