scorecardresearch
 

विशेषांकः वाहन बाजार फिर गुलजार

बिक्री ने लगभग 2019 के स्तर को छू लिया है, 2021 ऑटो उद्योग के लिए उक्वमीदों से भरा हो सकता है.

ऑटो स्पेशल नया रुझान ऑटो स्पेशल नया रुझान

ऑटो स्पेशल नया रुझान

योगेंद्र प्रताप

वाहन उद्योग के लिए 2021 की पहली तिमाही उल्लेखनीय रही है. साल के कुछ महीने पूरे देश के लिए बहुत मुश्किल रहे थे, इसके बावजूद बिक्री न केवल पिछले साल के स्तर पर बल्कि लगभग 2019 के स्तर पर वापस आ गई है. लॉकडाउन के बाद जो रुझान पैदा हुआ है वह पहले वाली उसी स्थिति की झलक देता है.

जब प्रत्येक सेगमेंट में लोगों का झुकाव महंगी, अधिक शानदार, ढेर सारी खूबियों से लैस गाडिय़ों के प्रति होता था. जहां एक छोर पर मांग भले ही फिर से एंट्री लेवल की बेसिक कारों के लिए लौट रही थी, वहीं दूसरे छोर पर एक वर्ग में एसयूवी के लिए भी दीवानगी दिखती थी.

जिन गाडिय़ों की सबसे ज्यादा मांग है उनके लिए लंबी प्रतीक्षा अवधि है, कुछ मामलों में तो वेटिंग पीरियड नौ महीने तक का है. हालांकि, यह काफी हद तक अर्धचालकों या सेमीकंडक्टर की वैश्विक कमी के कारण है. कई देशों में, पुरानी गाडिय़ों की कीमतों में उछाल देखा गया है और लगभग नई जैसी सकंड हैंड गाडिय़ां ब्रांड नई कारों की लिस्ट प्राइस से ऊपर बिक रही हैं.

राहत की बात है कि ईंधन की रिकॉर्ड तोड़ कीमतों के कारण अभी मांग में गिरावट नहीं देखी गई है. ऐसा ज्यादा विकल्प उपलब्ध नहीं होने के कारण हो रहा है क्योंकि एक छोर पर इलेक्ट्रिक दोपहिया क्षेत्र में केवल छोटे खिलाड़ी हैं और दूसरे छोर पर प्रीमियम और लग्जरी ऑटो ब्रांडों की बहुत महंगी गाडिय़ां हैं.

हालांकि बहुत जल्द सब कुछ बदलने वाला है क्योंकि ओला इलेक्ट्रिक ने अपने पहले उत्पाद—एक इलेक्ट्रिक स्कूटर—के लिए बुकिंग शुरू करने की घोषणा कर दी है. इसे पहले ही दिन एक लाख से अधिक बुकिंग मिली. एक वर्ष में एक करोड़ गाडिय़ों की निर्माण क्षमता वाली ओला की क्रयूचरफैक्ट्री में तैयार होने वाले ओला के वाहन उस इलेक्ट्रिक वाहन क्रांति का आगाज कर सकते हैं जिसका हम सब बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं. ठ्ठ

इस तिमाही में सर्वाधिक बिकने वाली एसयूवी

भारतीयों में एसयूवी के लिए सच्ची दीवानगी है और इसी वजह से ये कई भारी-भरकम गाडिय़ां बेस्ट सेलर बन गई हैं. जून 2021 को खत्म हुई तिमाही में ह्यूंडई क्रेटा सबसे ज्यादा बिकने वाले एसयूवी के तौर पर सामने आई और इसकी 29,931 गाडिय़ां बिकीं.

इसके बाद मारुति सुजुकी की विटारा ब्रेजा थी जिसे 26,701 ग्राहक मिले. टाटा नेक्सन 22,410 वाहनों की बिक्री के साथ तीसरे स्थान पर और इसके बाद ह्यूंडई वेन्यू (20,950 वाहन), किया सेल्टोस (20,912 वाहन) और किया सॉनेट का नंबर रहा. किया सॉनेट की 20,314 गाडिय़ां बिकीं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें