scorecardresearch
 

विशेषांकः मदद लेकर आए मित्र

कोविड से उबरकर आइसोलेशन में रह रहे लोगों के दरवाजे तक खाना पहुंचाने की सेवा वरदान साबित हो रही है.

भोजन चाहिए: फ्यूचर इंडिया फाउंडेशन की टीम भोजन चाहिए: फ्यूचर इंडिया फाउंडेशन की टीम

अड़तीस वर्षीय सतीश सावित्री सरेला, आंध्र प्रदेश के पशुपालन विभाग में अधीक्षक (सतर्कता), पिछले साल जब कोविड-19 से ग्रस्त हो गए तो उन्होंने पत्नी और बेटी को ससुराल भेजने का फैसला किया. अब उनके सामने खाने की समस्या आ गई. बीमारी से कमजोरी और खाना बनाने का अभ्यास न होने के कारण उनके लिए बड़ी मुश्किल हो गई थी. सरेला ने महसूस किया कि कोविड मरीजों के लिए पौष्टिक भोजन की व्यवस्था कितनी जरूरी है.

वे बताते हैं, ‘‘मैंने महसूस किया कि आइसोलेशन में कोविड के मरीज ज्यादातर बुजुर्ग होते हैं. बाकी लोग भी बीमारी के कारण इतने कमजोर हो जाते हैं कि खाना नहीं बना सकते. मैंने उनके लिए कुछ करने का फैसला किया.’’ बीमारी से उबरने के बाद सरेला ने फ्यूचर इंडिया फाउंडेशन की शुरुआत की और विजयवाड़ा तथा आसपास के कस्बों में कोविड मरीजों के लिए पौष्टिक भोजन उपलब्ध कराने की सेवा शुरू कर दी.

सरेला की टीम के लोग मरीज का टेस्ट नेगेटिव आने तक उसके घर भोजन पहुंचाते हैं. नाश्ते के रूप में ब्रेड और जैम के अलावा लंच में चावल, दाल और गाय के दूध से बना देशी घी, सांभर और एक अतिरिक्त करी तथा दही दी जाती है. डिनर में करी और रोटियां होती हैं. 

विजयवाड़ा के साथ ही पास के एलुरू और आंध्र प्रदेश के पश्चिम गोदावरी जिले में जांगरेड्डीगुडेम में मुफ्त में भोजन उपलब्ध कराया जाता है. सरेला शुरू में अकेला ही खाना तैयार करके मरीजों को पहुंचाते थे. जल्दी ही कुछ और मित्र जुड़ गए और अपने वेतन से आर्थिक मदद भी करने लगे. उनकी टीम चंदा नहीं लेती. सरेला कहते हैं, ''रोज जब लोग भोजन के लिए हमसे अनुरोध करते हैं तो हमें बहुत खुशी होती है. हम इतने ज्यादा लोगों की जो सेवा कर पा रहे हैं, उससे हमें अंदरूनी रूप से बहुत अच्छा महसूस होता है.’’ 

फ्यूचर इंडिया फाउंडेशन, विजयवाड़ा

उन्होंने क्या किया विजयवाड़ा और उसके आसपास की जगहों पर कुछ मित्रों की टीम अपने वेतन से 6,000 खुराक भोजन के लिए पैसा जमा किया

‘‘जिनकी मदद करता हूं, उनको मैं अजनबी मानकर नहीं चलता. मैं रोज यह काम करना चाहता हूं जिससे कि मानवता इस बड़ी मुश्किल से निकल सके’’
सतीश सावित्री सरेला, संस्थापक,
फ्यूचर इंडिया फाउंडेशन

—सोनाली आचार्जी

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें