scorecardresearch
 

विशेषांकः इलेक्ट्रिक वाहन कैसे चार्ज होते हैं

लेवल 1 चार्जर्स 15 एंपियर के वॉल सॉकेट पर काम करते हैं तो लेवल 2 चार्जिंग एसी चार्जिंग बॉक्स से होती है जो आमतौर पर इलेक्ट्रिक कार के साथ आते हैं.

ऑटो स्पेशल तकनीकी  मंत्र ऑटो स्पेशल तकनीकी  मंत्र

ऑटो स्पेशल तकनीकी  मंत्र

दीपायन दत्ता बता रहे हैं बिजली चालित वाहनों की चार्जिंग की बारीकियां

एक इलेक्ट्रिक वेहिकल (ईवी) या बिजली चालित वाहन कितना व्यावहारिक साबित होगा, यह बहुत कुछ उसकी चार्जिंग क्षमता और चार्ज होने में लगने वाले समय पर निर्भर करेगा. इलेक्ट्रिक वाहन जनता के लिए गाड़ियों के रूप में पहली पसंद बनने की कोशिशों में तेजी से विकसित हो रहे हैं.

हमारे लिए यह महत्वपूर्ण हो जाता है कि हम चार्जिंग की विभिन्न तकनीकों को समझें ताकि बेहतर जानकारियों के साथ उन गाड़ियों के संबंध में सही निर्णय ले सकें जिनमें हमें रुचि है. मोटे तौर पर ध्यान में रखने वाली बात यह है कि डीसी (डायरेक्ट करंट) चार्जिंग ज्यादा तेजी से चार्ज करने वाली तकनीक है जबकि एसी (अल्टरनेटिव करंट) चार्जिंग अपेक्षाकृत धीमी है.

एसी चार्जिंग जो पहले से ही धीमी है उसे भी लेवल 1 और लेवल 2 श्रेणियों में विभाजित किया गया है. लेवल 1 चार्जर्स 15 एंपियर के वॉल सॉकेट पर काम करते हैं तो लेवल 2 चार्जिंग एसी चार्जिंग बॉक्स से होती है जो आमतौर पर इलेक्ट्रिक कार के साथ आते हैं. डीसी फास्ट चार्जिंग को मोटे तौर पर लेवल 3 चार्जर के रूप में वर्गीकृत किया जाता है, हालांकि उनकी गति उनकी ओर से पैदा किए गए वोल्टेज से तय होती है. 

जानने वाली अगली सबसे महत्वपूर्ण बात आपकी कार की लीथियम-आयन बैटरी की kWh रेटिंग है. संख्या जितनी अधिक होगी, कार उतना ही अधिक चार्ज स्टोर करके रख सकती है, उतनी ही अधिक रेंज दे सकती है. अगर चार्ज कम स्टोर करेगी तो रेंज कम मिलेगी. एक आइसीई इंजन की तरह पावर, मोटर का टॉर्क और गाड़ी का वजन जैसे कारक भी यह निर्धारित करते हैं कि कोई वाहन उपलब्ध ऊर्जा का कितना कुशलता के साथ उपयोग करता है.

इलेक्ट्रिक गाड़ियां कैसे चार्ज होती हैं
इलेक्ट्रिक गाड़ियां कैसे चार्ज होती हैं

अब तक हम जान चुके हैं कि एक ईवी खरीदने से पहले क्या देखना है, तो आइए अब हम कुछ उपलब्ध चार्जिंग तकनीकों पर करीब से नजर डालें

एसी चार्जिंग 
इस तकनीक में कार एसी करंट प्राप्त करती है और बैटरी चार्ज करने के लिए लगे ऑनबोर्ड इनवर्टर के माध्यम से उसे डीसी में परिवर्तित करती है. लेवल 1 के चार्जर 15 वॉल सॉकेट का उपयोग करते हैं और आम तौर पर बैटरी को पूरी तरह चार्ज करने में 12 घंटे या उससे अधिक समय लग जाता है.

लेवल 2 चार्जर जो कार के साथ आते हैं और उन्हें आपके घर में लगाया जा सकता हैं. वे अपेक्षाकृत तेज होते हैं और w®kWh  तक की पेशकश करते हैं. बैटरी के आकार के आधार पर, उपलब्ध सीमा का 100 प्रतिशत चार्ज फिर प्राप्त करने में 2 से 4 घंटे तक लग सकते है.

डीसी चार्जिंग 
लेवल 3 या डीसीएफसी इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग, ऑनबोर्ड इन्वर्टर को दरकिनार करते हुए डीसी चार्ज का उपयोग करके सीधे बैटरी चार्ज करता है. इससे न केवल बहुत तेज गति से चार्ज करना संभव होता है, बल्कि चार्जिंग समय भी बहुत कम हो जाता है.

सबसे आम डीसी चार्जिंग पोर्ट सीसीएस 2 पोर्ट है जिसे किसी भी इलेक्ट्रिक वाहन में 7-पिन स्टैंडर्ड लेवल 2 पोर्ट के साथ फिट किया जा सकता है. चाडेमो (CHAdeMO ) पोर्ट और टेस्ला का लेवल 2 पोर्ट सुपरचार्जर, इस प्रकार के चार्जर के एकमात्र अपवाद हैं. 
वायरलेस चार्जिंग  

चार्जिंग का यह सबसे असामान्य प्रकार है और इसकी स्पष्ट वजहें भी हैं. ऐसे चार्जर में कार की बैटरी को वायरलेस तरीके से चार्ज करने के लिए सिस्टम, विद्युत चुंबकीय तरंगों का उपयोग करता है.

यह आमतौर पर एक एसी वॉल सॉकेट में लगे चार्जिंग पैड का उपयोग करके किया जाता है. इस तकनीक पर अभी शोध चल रहा है, लेकिन कुछ कारों में स्पोर्ट लेवल 2 वायरलेस चार्जिंग क्षमताएं होती हैं जो vv kWh  तक चार्ज प्रदान कर सकती हैं. हालांकि इस तकनीक के मुख्यधारा में आने में अभी कुछ समय लग सकता है. ठ्ठ

जानने वाली सबसे महत्वपूर्ण बात आपकी कार की लीथियम-आयन बैटरी की KWH 
 रेटिंग है. संख्या जितनी अधिक होगी, कार उतना ही अधिक चार्ज स्टोर करके रख सकती है उतनी ही अधिक रेंज दे सकती है

एसी चार्ज सॉकेट

यजाकी सॉकेट-
जेएसएई 1772
■7.4 किलोवाट-31 एंपीयर सिंगल फेज 
■जापान और अमेरिका

मेनीकेस सॉकेट

■44 किलोवाट-63 एंपियर थ्री फेज 
■यूरोप/जर्मनी

ली-ग्रांड सॉकेट
■22 किलोवाट-32 एंपीयर थ्री फेज
■फ्रांस और इटली

डीसी चार्ज सॉकेट चाडेमो
■ 400 किलोवाट- 1000 वोल्ट-400 एंपियर
■ कैन प्रोटोकॉल
■ जापान/ कोरिया
■ निसान लीफ, किया, मित्सुबिशी

जीबी/टी
■237.5 किलोवाट-950वोल्ट-250एंपियर
■कैन प्रोटोकॉल
■चीन/ भारत
महिंद्रा, चीनी इलेक्ट्रिक वाहन

टेस्ला सुपरचार्जर 

■135 किलोवाट-410वोल्ट-330एंपियर
■ कैन प्रोटोकॉल
■ टेस्ला चार्जिंग स्टेशन
टेस्ला एस, टेस्ला 3

सीसीएस2 फास्ट चार्जर 

■ 250 किलोवाट तक 
■ 5 पॉइंट, लेवल 2 पोर्ट
■ वैश्विक स्तर पर स्वीकृत

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें