scorecardresearch
 

वन रक्षक

वे धमकियों से जरा भी नहीं डरतीं. वे कहती हैं, ''मेरे ऊपर इनका अब कोई असर नहीं होता.'' हाल ही में उन्होंने पन्ना राष्ट्रीय अभयारण्य में टाइगर सफारी शुरू करने की सरकार की योजना का विरोध किया था.

बासु कन्नौजिया बासु कन्नौजिया

बासु कन्नौजिया, 33 वर्ष

क्या कियाः पन्ना बाघ अभयारण्य की उप-निदेशक के तौर पर वे अतिक्रमण करने वालों के कब्जे से 6,000 एकड़ से ज्यादा जमीन खाली करा चुकी हैं

बासु कन्नौजिया को अपने उस अदृश्य तमगे पर बड़ा गर्व है जो निडर होकर पूरे जोश के साथ काम करने वाले ज्यादातर अधिकारियों को हासिल होता है—पांच साल की नौकरी में पांच बार तबादला.

2013 बैच की इस भारतीय वन सेवा अधिकारी ने मध्य प्रदेश के जंगलों में पेड़ों की अवैध कटाई तथा खनन करने वालों और जंगली जानवरों का शिकार करने वालों के दिलों में खौफ पैदा कर रखा है. वे अवैध कब्जे से जंगल की 6,463 एकड जमीन अब तक खाली करा चुकी हैं.

इसके अलावा राज्य की पूर्व भाजपा सरकार के एक मंत्री की अवैध आरा मशीन को भी जब्त करा चुकी हैं. उनके साहस का पता इसी बात से चलता है कि वे जंगल की जमीन पर जिला मजिस्ट्रेट और पुलिस अधीक्षक के बंगलों का निर्माण रुकवा चुकी हैं. उमरिया की डीएफओ के तौर पर वे जंगल माफिया के खिलाफ अभियान चला रही हैं.

वे धमकियों से जरा भी नहीं डरतीं. वे कहती हैं, ''मेरे ऊपर इनका अब कोई असर नहीं होता.'' हाल ही में उन्होंने पन्ना राष्ट्रीय अभयारण्य में टाइगर सफारी शुरू करने की सरकार की योजना का विरोध किया था. इसके लिए उन्हें शायद एक और तबादले के लिए तैयार रहना चाहिए.

क्या कियाः पन्ना बाघ अभयारण्य की उप निदेशक के तौर पर  वे अतिक्रमण करने वालों के कब्जे से 6,000 एकड़ से ज्यादा जमीन खाली करा चुकी हैं.

***

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें