scorecardresearch
 
डाउनलोड करें इंडिया टुडे हिंदी मैगजीन का लेटेस्ट इशू सिर्फ 25/- रुपये में

विशेषांकः ग्रामीण क्षेत्र पर जोर

ग्रामीण महिलाओं और वहां की अर्थव्यवस्था पर ध्यान केंद्रित करने का राज्य को काफी लाभ मिला है

X
तेज हुई रफ्तार पटना में एम्स-दीघा एलिवेटेड रोड तेज हुई रफ्तार पटना में एम्स-दीघा एलिवेटेड रोड

अमिताभ श्रीवास्तव

बिहार: समग्र रूप से सबसे ज्यादा सुधार वाला बड़ा राज्य

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के लिए विकास मंजिल नहीं, एक यात्रा है. 16 साल पहले जब उन्होंने यात्रा शुरू की थी, तब उनकी प्राथमिकता कानून का शासन बहाल करना और बिहार को गरीबी से बाहर निकालना था.

इसके बाद उन्होंने शिक्षा और रोजगार के माध्यम से राज्य की लड़कियों और महिलाओं को सशक्त बनाने का काम किया. अब, महामारी के बाद नीतीश की कार्य-सूची में ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाना, युवाओं के कौशल को बढ़ाना और रोजगार सृजन करना है.

विशेषांकः ग्रामीण क्षेत्र पर जोर
विशेषांकः ग्रामीण क्षेत्र पर जोर

इस प्रयास का नतीजा दिखा है क्योंकि बिहार इस वर्ष समग्र रूप से सर्वाधिक सुधार वाले बड़े राज्य के रूप में उभरा है. इसका प्रदर्शन सभी 12 पैमानों पर औसत से ऊपर है, और यह समावेशी विकास, अर्थव्यवस्था और शिक्षा की रैंकिंग में सबसे ऊपर है.

बिहार के आर्थिक सर्वेक्षण 2020-21 के अनुसार, राज्य की अर्थव्यवस्था 10.5 प्रतिशत की दर से बढ़ी. इसके मूल में सरकार का जीविका मिशन रहा है, जिसका मकसद ग्रामीण परिवारों का सामाजिक और आर्थिक सशक्तिकरण है. स्वयं सहायता समूहों (स्वयं सहायता समूहों) के माध्यम से महिला सशक्तिकरण में तेजी जारी है.

इस वक्त दस लाख से ज्यादा स्वयं सहायता समूह हैं, जिन्हें 13,400 करोड़ रु. का कर्ज दिया गया है. दरअसल, पैसा कोई बाधा नहीं रहा है. इस साल 2.18 लाख करोड़ रु. का बजट राज्य का अब तक का सबसे बड़ा बजट था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें