scorecardresearch
 
डाउनलोड करें इंडिया टुडे हिंदी मैगजीन का लेटेस्ट इशू सिर्फ 25/- रुपये में

विशेषांकः एक मुकुट मणि

कभी फ्रांसीसी उपनिवेश रह चुका यह राज्य अपने सर्वदेशीयवाद को बरकरार रखता है और शासन में सर्वश्रेष्ठ से कम की अपेक्षा नहीं करता

X
दूर क्षितिज पर पुदुच्चेरी नगर का एक विहंगम दृश्य दूर क्षितिज पर पुदुच्चेरी नगर का एक विहंगम दृश्य

पुदुच्चेरी: समग्र रूप से श्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाला छोटा राज्य

बेहतर सेवाओं की अपेक्षा करने वाली अधिक शिक्षित आबादी, कुशल सार्वजनिक वितरण प्रणाली वाली उत्तरदायी शासन प्रणाली और स्वास्थ्य पर ध्यान देने के साथ पुदुच्चेरी दूसरे छोटे राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से आगे निकल गया है.

खेती और पर्यटन इसकी अर्थव्यवस्था के दो मुख्य आधार हैं. हर पांच में से दो निवासी आजीविका के लिए कृषि पर निर्भर हैं. इसके समुद्र तट और फ्रांसीसी वास्तुकला स्वाभाविक तौर पर इसे पर्यटकों के लिए एक लुभावना ठिकाना बना देते हैं.

यहां पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए हवाईअड्डे का विस्तार जरूरी है. मुख्यमंत्री एम. रंगासामी इसकी खातिर तमिलनाडु के विल्लीपुरम जिले में 216 एकड़ और केंद्र शासित प्रदेश में 54 एकड़ जमीन अधिगृहीत करने के लिए केंद्र सरकार से 225 करोड़ रुपए की मदद की उम्मीद कर रहे हैं. सार्वजनिक-निजी भागीदारी वाले मॉडल पर मनापेट समुद्र तट पर 100 एकड़ क्षेत्र में एक फिल्म सिटी और एक थीम पार्क भी बनाया जाएगा.

पुदुच्चेरी मछली पकड़ने के दो छोटे बंदरगाह भी स्थापित करना चाहता है, एक पुदुच्चेरी क्षेत्र के पन्निथिट्टू में और दूसरा कराइकल क्षेत्र के टी.आर. पट्टिनम में. इस केंद्र शासित प्रदेश में 27 समुद्री मछली पकड़ने वाले गांव, 23 अंतर्देशीय मछली पकड़ने वाले गांव/बस्तियां हैं और मछुआरों की 95,467 की आबादी है.

निवेश के नजरिए से एक ठिकाने के रूप में विकसित हो रहा पुदुच्चेरी व्यापार को आकर्षित करने के लिए तेजी से बुनियादी ढांचे का विकास कर रहा है. इसमें राज्य को बिजली अधिशेष क्षेत्र में तब्दील करने की पहल शामिल है. अप्रैल 2021 तक पुदुच्चेरी की कुल स्थापित बिजली उत्पादन क्षमता 380.43 मेगावाट थी.

वर्ष 2021-22 के लिए पुदुच्चेरी का कर-मुक्त बजट 9,924.41 करोड़ रुपए था. इसकी जीएसडीपी वृद्धि लगभग 10 प्रतिशत है, जबकि राष्ट्रीय औसत 7-8 प्रतिशत है. और यह बात किसी से छिपी नहीं कि आर्थिक सेहत किसी भी राज्य के निवासियों की भलाई का रहस्य है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें