scorecardresearch
 

स्मृति

जसवंत सिंह 1938-2020

स्मृतिः होशियार कूटनीतिज्ञ

08 अक्टूबर 2020

रणनीतिक मामलों और विदेश नीति में जसवंत सिंह की विशेषज्ञता का इस्तेमाल भारत के एटमी सिद्धांत को गढ़े जाने के दौरान किया गया

प्रणब मुखर्जी 1935-2020

सर्वसम्मति का निर्माता

10 सितंबर 2020

आरएसएस के मुख्यालय जाने के प्रणब मुखर्जी के फैसले को बहुत-से लोगों ने गलत समझा. यह धर्मनिरपेक्षता में भरोसा जताने का एक उपक्रम था. उनका मानना था कि आप अपने ही एकांत में बने रहकर इसका निर्वाह कैसे कर सकते हैं

बंदीप सिंह

शायरी का एंग्री यंगमैन

18 अगस्त 2020

राहत इंदौरी अपने श्रोताओं से प्रेम के ही चलते, बुरी सेहत के बावजूद राहत अपनी जान पर खेलकर मुशायरे करते आए. बहुत हिम्मती इनसान. ऐसा नहीं कि मुशायरों में जाना उनकी कोई जरूरत था, बस उनका कमिटमेंट था कि अवाम के बीच जाना है

बंदीप सिंह

एक कलंदर का जाना

18 अगस्त 2020

दुनिया के किसी भी डायस पर जब हिंदुस्तानियत की हनक वाला शेर पढ़ते तो मेरी तरफ देखकर कहते, ''डॉक्टर, इसमें वो साइलेंट है''

बंदीप सिंह

स्मृति: रंगमंच के सुल्तान का प्रस्थान

11 अगस्त 2020

भारतीय रंगमंच के बादशाह अल्काजी के बारे में मैंने कई किंवदंतियां सुन रखी थीं: वे बहुत सख्त हैं, करिश्माई हैं, बहुत ऊंचे दर्जे की शख्सियत हैं

बंदीप सिंह

स्मृति: एक युगपुरुष का महाप्रयाण

11 अगस्त 2020

इब्राहिम अल्काजी ही थे जिन्होंने रंगमंच में कई पीढिय़ों को नाटक देखने की समझ और तमीज और समीक्षकों को उसे परखने की कला दी

इरफान खान

स्मृतिः रातभर का जागा सुबह से जा मिला

03 मई 2020

इरफान का पूरा फलसफा ही ढर्रे से अलग था. शीशे-सी इसी साफगोई का नतीजा था कि उनका अभिनय किसी शैली में न ढला बल्कि वह ऐसा मुहावरा बना, जिसकी नकल मुमकिन न थी. किसी भी स्क्रिप्ट में नायकत्व की स्थापना से इतर किस्से का एंगेजिंग होना उनकी शर्त थी.



स्मृतिः ऋषि कपूर 1952-2020

स्मृतिः उम्र से बड़ी जिंदगी

08 मई 2020

वे ऐसे शख्स थे जिन्होंने हमेशा वक्त के साथ खुद को बदला. जब आप ऐसा करते हैं और कामयाबी के किसी निश्चित विचार के साथ अटककर नहीं रह जाते, तब आप खुद को नए सिरे से ढाल पाते हैं.

सतीश गुजराल 1925-2020

सतीश गुजराल 1925-2020-शांत और ओजस्वी

06 अप्रैल 2020

बीती 26 मार्च को 94 वर्ष की उम्र में दिवंगत चित्रकार सतीश गुजराल को याद कर रहे हैं उनके दोस्त कृष्ण खन्ना

गेट्टी इमेजेज

स्मृतिः प्रतिबद्धताओं से बना समाजपुरुष

24 दिसंबर 2019

नाटक को ऊंचाई की हदों तक ले जाने वाले चुनिंदा अभिनेताओं में से एक थे डॉ. श्रीराम लागू. वे न केवल अभिनेता बल्कि अपने-आप में अत्यंत सुलझा हुआ विचार थे