scorecardresearch
 

समाचार सार: हैकिंग से बचाव

व्हाट्सऐप खातों में सेंध की खबरों से नेहरू-गांधी खानदान के उत्तराधिकारी को चिंता महसूस हो रही थी. यही वजह है कि राहुल के नए नंबर पर कोई मेसैजिंग ऐप नहीं है

इलस्ट्रेशनः सिद्धांत जुमडे इलस्ट्रेशनः सिद्धांत जुमडे

जब राहुल गांधी मोबाइल फोन नंबर बदलें और व्हाट्सऐप बंद कर लें तो कयास लगना लाजिमी है.

कुछ लोगों का कहना था कि उन्होंने पार्टी के लोगों से सीधा संपर्क खत्म करने के लिए ऐसा किया तो कुछ इसकी वजह उनका पीछा कर रही किसी महिला को बताते हैं.

हालांकि कुछ हैकिंग जैसे गले न उतरने वाली वजह भी बताते हैं. अमेजन के मुखिया जेफ बेजोस की डेटा सुरक्षा में सेंध लगने और पिछले नवंबर में सरकारी एजेंसियों की तरफ से जासूसी सॉफ्टवेयर पेगासस से भारतीय पत्रकारों के व्हाट्सऐप खातों में सेंध की खबरों से नेहरू-गांधी खानदान के उत्तराधिकारी को चिंता महसूस हो रही थी.

यही वजह है कि राहुल के नए नंबर पर कोई मेसैजिंग ऐप नहीं है. उनकी बहन प्रियंका ने भी नजदीकियों से बात करने के लिए एक अतिरिक्त नंबर लिया है.

अलबत्ता, यह बात इन भाई-बहन की लोगों से अलग-थलग रहने वाली छवि को तोडऩे में मददगार नहीं होगी.

***

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें