scorecardresearch
 

समाचार सारः चार महारथी

झारखंड में हाल के चुनाव में भाजपा ने आंतरिक गुटबाजी का अंजाम देखा है और उससे सबक लिया है

इलस्ट्रेशनः सिद्धांत जुमडे इलस्ट्रेशनः सिद्धांत जुमडे

दिल्ली में भाजपा की लड़ाई मजबूती से जमी मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी (आप) से है.

झारखंड में हाल के चुनाव में भाजपा ने आंतरिक गुटबाजी का अंजाम देखा है और उससे सबक लिया है. विभिन्न गुटों के बीच आपसी खींचतान की आशंका के डर से पार्टी विधानसभा चुनाव से पहले मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित नहीं करना चाहेगी.

70 सीटों वाली विधानसभा के लिए भाजपा अपने चार जाने-माने सांसदों—विजय गोयल, हर्षवर्धन, प्रवेश वर्मा और मनोज तिवारी को 8 फरवरी के चुनावों में उतारेगी जबकि 40 से अधिक सीटों पर नए उम्मीदवारों को उतारने की योजना है.

***

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें