scorecardresearch
 

स्मार्ट एजुकेशनः ट्रांसपोर्टेशन डिजाइन

टिकाऊ और उन्नत यातायात के साधन मौजूदा दौर की मांग है

चंद्रदीप कुमार चंद्रदीप कुमार

शैली आनंद

वर्ल्ड यूनिवर्सिटी ऑफ डिजाइन, सोनीपत, हरियाणा

www.worlduniversityofdesign.ac.in

अभी टिकाऊ और तकनीकी तौर पर उन्नत स्मार्ट ट्रांसपोर्ट समाधान की जरूरत है. इसके स्टुडेंट्स को यातायात में उभर रहे मामलों के प्रति वैश्विक नजरिया विकसित करने और चुनौतियों के व्यावहारिक समाधान पर ध्यान देने की जरूरत है. इसके अलावा, स्टाइल, आराम, ब्रांडिंग, सुरक्षा और फंक्शन का ध्यान तो रखना ही पड़ेगा. सोनीपत की वर्ल्ड यूनिवर्सिटी ऑफ डिजाइन (डब्ल्यूयूडी) का ट्रांसपोर्टेशन डिजाइन का प्रोग्राम लोकप्रिय विकल्प है.

बेहद मांग

चार साल के अंडरग्रेजुएट और दो साल के पोस्ट ग्रेजुएट पाठ्यक्रमों में ऑटोमोटिव डिजाइन, सर्फेस मोल्डिंग, एर्गोनॉमिक्स, मैन्युफैक्चरिंग, यूजर एक्सपीरिएंस, सर्फेस और कलर एप्लिकेशंस, डिजाइन डिटेलिंग, डिजिटल स्कल्पटिंग, गाड़ी के इंटीरियर और सस्टेनेबल टेक्नोलॉजी के बारे में पढ़ाया जाता है. वाइस चांचसलर संजय गुप्ता बताते हैं, ''स्टुडेंट्स को यह भी बताया जाता है कि यातायात के विभिन्न साधन किस तरह पर्यावरण और समुदायों को प्रभावित करते हैं.'' स्टुडेंट्स को 12वीं में 50 अंक और एप्टीट्यूड टेस्ट तथा इंटरव्यू क्लियर करना होता है.

शुरुआती वेतन

5-8 लाख रु. प्रति वर्ष

***

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें