scorecardresearch
 
डाउनलोड करें इंडिया टुडे हिंदी मैगजीन का लेटेस्ट इशू सिर्फ 25/- रुपये में

विधानसभा चुनाव 2022ः सा रे गा मा बा!

भोजपुरी के सबसे बड़े सितारों में से एक—ने पहले तो हिप-हॉप स्टाइल की वीडियो डाला, जिसमें योगी सरकार की उपलब्धियां बताई गई थीं.

X
यूपी में का बा? यूपी में का बा?

उत्तर प्रदेश

उस भारतीय भावना के बारे में एक बात—वह कोई कर्फ्यू या क्वारंटीन नहीं जानता. पिछले हफ्ते, हम चिंतित थे कि पारंपरिक रैलियों पर चुनाव आयोग का प्रतिबंध—अब जिसे 22 जनवरी तक बढ़ा दिया गया है—इस चुनाव अभियान को बेनूर और बेरंग बना देगा.

लगता है हमने जल्दबाजी कर दी थी! वह उत्सवी आबोहवा जो भारतीय चुनावों की जान होती है, शायद चौराहों से उसको दूर कर दिया गया है, लेकिन यह 2022 है... और यहां तक कि यूपी के कस्बे और मोहल्ले भी अब बखूबी जानते हैं कि ऑनलाइन गपोड़बाजी कैसे की जाए.

सभी पार्टियों ने अपने चारों ओर माहौल अच्छा बनाने के लिए संगीत की ओर रुख किया है. बड़े सितारों से लेकर स्थानीय कलाकारों और लोक गायकों तक, वे सभी मजाकिया और आकर्षक गानों के वीडियो डाल रहे हैं.

पर एक खास वीडियो इतना ज्यादा चर्चित हुआ कि इसने राष्ट्रीय स्तर पर सुर्खियां बटोरीं. भाजपा के गोरखपुर सांसद रवि किशन—भोजपुरी के सबसे बड़े सितारों में से एक—ने पहले तो हिप-हॉप स्टाइल की वीडियो डाला, जिसमें योगी सरकार की उपलब्धियां बताई गई थीं.

शंख ध्वनि, विकास के दृश्यों और हिंदू प्रतीकों का जमकर इस्तेमाल किया गया था और उन्होंने अपनी भारी आवाज में गाया: यूपी में सब बा.

कुछ ही घंटों के बाद, बिहार की लोकगायिका नेहा राठौर ने एक चुभता हुआ पोस्ट किया, रवि किशन के शब्दों की पैरोडी करते हुए उन्होंने हाथरस, लखीमपुर खीरी और पिछले साल की कोविड मौतों का जिक्र करते हुए पूछा, 'यूपी में का बा.’ अभिनेता-गायक दिनेश लाल यादव निरहुआ ने पिछले साल सितंबर में ही तराना छेड़ दिया था, आएंगे फिर योगी ही.

पिछले हफ्ते, भोजपुरी के गायक भाजपा सांसद मनोज तिवारी ने 'भगवा चढ़ने लगा है’ वीडियो डाला. समाजवादी धड़ा भी व्यस्त है. पूर्व विधायक आशु मलिक और उनकी टीम ने पांच गाने तैयार किए हैं और पार्टी कार्यकर्ता और गायिका चाहत मल्होत्रा भी इस खेल में कूद पड़ी हैं. वजह कुछ भी हो, पर लय-ताल तो है ही.

रवि किशन: जो कहते हैं

जे कबो न रहल ऊ अब बा, जे कबो न रहल ऊ अब बा, योगी के सरकार बा, विकास के बहार बा, सड़कन के जाल बा, काम बेमिसाल बा, अपराधी के जेल बा, बिजली रेलम रेल बा, कोरोना गइल हार बा, यूपी में सब बा.

नेहा राठौर का तंज

यूपी में का बा?, खतम रोजगार बा, मंत्री के बेटवा बड़ी रंगदार बा, किसानन के छाती पे रौंदत मोटरकार बा, कोरोना से लाखन मर गइले, लाशन से गंगा भर गइले, कफन नोचत कुकुर-बिलार बा, ए बाबा, यूपी में का बा?

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें