scorecardresearch
 
डाउनलोड करें इंडिया टुडे हिंदी मैगजीन का लेटेस्ट इशू सिर्फ 25/- रुपये में

अस्तित्व की लड़ाई

अपनी वर्षों पुरानी पार्टी और अपना सियासी अस्तित्व बचाने के लिए पार्टी प्रमुख सुखबीर बादल ने कई सुधारों का ऐलान किया है

X
राह की तलाश: एसएडी के लिए सुखबीर बादल ने 13-पॉइंट का रिफॉर्म प्लान तैयार किया राह की तलाश: एसएडी के लिए सुखबीर बादल ने 13-पॉइंट का रिफॉर्म प्लान तैयार किया

देश की सबसे पुरानी क्षेत्रीय पार्टी—शिरोमणि अकाली दल (एसएडी)—जहां अपने अस्तित्व के लिए संघर्ष कर रही है तो पार्टी के 'पहले परिवार' की हालत भी अलग नहीं. इस साल मार्च में पंजाब विधानसभा चुनाव के नतीजे घोषित होने के बाद से 102 साल पुरानी पार्टी में बादल परिवार के नेतृत्व के प्रति असंतोष की सुगबुगाहट तेज हो रही है.

एसएडी 2012 में 56 सीटों से 2022 में 117 सदस्यीय राज्य विधानसभा में सिर्फ तीन सीटों पर सिमट गई है. पंजाब में आम आदमी पार्टी (आप) की लहर चली (उसने 92 सीटें जीतीं) और एसएडी प्रमुख सुखबीर सिंह बादल और उनके पिता तथा पांच बार के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल दोनों के गढ़ डूब गए. बादल के अलावा, सुखबीर के बहनोई आदेश प्रताप सिंह कैरों और साले बिक्रम सिंह मजीठिया भी अपनी सीटों से हार गए.

पार्टी को मात्र 18 फीसद से थोड़े ही अधिक वोट मिले जो 1966 के बाद से इसका सबसे खराब प्रदर्शन है. बाद में जून में संगरूर लोकसभा सीट के उपचुनाव में अकाली दल से टूटकर अलग हुए गुट के मुखिया सिमरनजीत सिंह मान विजयी हुए और एसएडी उम्मीदवार पांचवें स्थान पर खिसक गईं तो बादल परिवार के लिए पार्टी में उलझन और बढ़ गई है.

अगस्त के मध्य में, सुखबीर ने खुद को छोड़कर, पार्टी की इकाइयों और कार्यालयों को भंग कर दिया. अंदरूनी सूत्रों के अनुसार, उन्हें तख्तापलट की बू आ रही थी. 2024 के आम चुनाव से पहले पार्टी की धुंधली किस्मत फिर से चमकाने और भीतरी बगावत को शांत करने के अंतिम प्रयास के रूप में अब एसएडी प्रमुख ने बड़े संगठनात्मक सुधार का फैसला लिया है. वैसे, उन्होंने एक संभावित पूर्ण बदलाव को टाल दिया, लेकिन 2 सितंबर को पार्टी के भीतर व्यापक सुधारों की घोषणा की, और कम से कम अगले 10 वर्षों के लिए शीर्ष पद को अपने पास बरकरार रखा.

सुखबीर का दावा है कि इस बदलाव में मुख्य जोर—जो काफी हद तक विधानसभा चुनावों में पार्टी की हार की समीक्षा करने वाले 12-सदस्यीय पैनल की सिफारिशों पर आधारित है—नेताओं की अगली पीढ़ी

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें