scorecardresearch
 
डाउनलोड करें इंडिया टुडे हिंदी मैगजीन का लेटेस्ट इशू सिर्फ 25/- रुपये में

ऑटो रिपोर्टः सर्दियों में सड़क पर उतरें पर जरा संभल कर

जाड़े ने दस्तक दे दी है. हम यह पक्का कर लेना चाहते हैं कि आपकी कार सर्दी के महीनों के हिसाब से तैयार हो जाए. हम यहां कुछ खास टिप्स दे रहे हैं जिसके जरिए ठंड के मौसम में अपनी कार से सफर करते हुए आप खुद को सुरक्षित रख सकते हैं.

विंटर गाइड विंटर गाइड

ऑटो स्पेशल विंटर गाइड

सर्दियों में गाड़ी चलाना थोड़ा मुश्किल हो सकता है. कोहरे की वजह से विजिबिलिटी कम हो जाती है जिससे आप दूर तक देख नहीं पाते. ठंड के कारण आपकी कार के पुर्जों में गड़बड़ हो सकती है. ऐसे में ड्राइवर और सड़क के बीच एक अच्छी-खासी जद्दोजहद वाली स्थिति बन जाती है. गाड़ी के रखरखाव और उसकी सुरक्षा जांच से जुड़े कुछ काम हैं, जो खासतौर से सर्दियों में जरूर किए जाने चाहिए.

इसलिए अपनी गाड़ी के रखरखाव में जरा सी भी कोताही न करें, वर्ना सड़क किनारे कुल्फी की तरह जमने की नौबत भी आ सकती है. जब भी मौसम बदलता है, आपको गाड़ी का मेटेंनेंस चेक-अप करवा लेना चाहिए जिससे यह पक्का हो जाए कि गाड़ी में सब कुछ पूरी तरह दुरुस्त है. ऐसा करने से उन स्थितियों को कम करने या यहां तक कि बचने में मदद मिलेगी जिनके कारण कोल्ड-स्टार्टिंग जैसी परेशानियां झेलनी पड़ती हैं. सर्दियों के दौरान निम्नलिखित रखरखाव कार्य आपको और आपकी कार को परेशानियों से दूर रखेंगे.

मैनुअल देखें: गाड़ी के मालिक के लिए दिया गया मैनुअल यह बताएगा कि टायर, ब्रेक, फिल्टर और फ्लूइड कब बदलना है. गाड़ी की सर्विस कब करानी चाहिए, उससे जुड़े निर्देशों का पालन करें.

स्क्रीन पर से धुंध हटाना: ड्राइव शुरू करने से पहले कार के अंदर के हिस्से में स्क्रीन पर जमी नमी को हटाने के लिए पर्याप्त समय दें. पक्का करें कि कार का ब्लोअर भरपूर गर्म हवा फेंक रहा हो और एयर-कंडीशनर भी चालू हो ताकि स्क्रीन पर नमी फिर से न बनने पाए. हीटर गाड़ी के केबिन में प्रवेश करने वाली नमी को जल्दी से भाप बनाकर बाहर निकाल देता है. इंटीरियर्स पर नमी जमने की प्रक्रिया धीमी करने के लिए एयर-कंडीशनर को रिफ्रेश मोड में चलाएं.

अगर जरूरी हो तो इंजन ऑयल और फिल्टर बदल दें: उच्च गुणवत्ता वाला इंजन ऑयल मोटर को कोल्ड स्टार्ट वाली स्थिति (इंजन को जरूरी तापमान से कम पर चालू करने की कोशिश) से बचाता है. कभी भी इंजन स्टार्ट करने के साथ ही गाड़ी भगाना शुरू न करें. स्टार्ट करने के बाद थोड़ा रुकें ताकि लुब्रिकेंट्स पूरे इंजन में पहुंच जाएं.

पहिए फिट रखें:  टायरों में एअर प्रेशर सही स्तर पर रखें. यदि आप बर्फीले हालात में गाड़ी चला रहे हैं, तो गाड़ी के चिपककर चलने के लिए टायर प्रेशर निर्धारित पीएसआइ से थोड़ा कम कर दें. अगर रास्ता गीला है या बारिश का समय है तो भी टायरों में प्रेशर कम रखें.

फिट बैटरी: कार की बैटरी और चार्जिंग की जांच करा लें. सर्दियों में तापमान बैटरी के प्रदर्शन को 50 प्रतिशत तक कम कर सकता है. इसलिए बैटरी तीन साल से ज्यादा पुरानी हो तो इसकी जांच करा लें. बैटरी टर्मिनलों को नियमित रूप से साफ करते रहें ताकि चार्ज फ्लो बेहतर बना रहे. देख लें कि टर्मिनल पर जंग तो नहीं लगी है.

गाड़ी की लाइट्स चेक कर लें: सर्दियों में विजिबिलिटी एक अहम पहलू होता है. सो, जांच लें कि कार की सभी लाइट्स: टेललाइट, सिग्नल बल्ब, ब्रेक लाइट, हेडलाइट और यहां तक कि केबिन लाइट ठीक से काम कर रही हैं या नहीं.

बल्ब और फ्यूज का एक अतिरिक्त सेट साथ साथ रखें ताकि कोई लाइट अचानक खराब हो जाए तो आप उसे बदल सकें. यह पक्का करें कि गाड़ी की हेडलाइट्स के कारण विपरीत दिशा से आने वाली किसी अन्य गाड़ी के ड्राइवर को देखने में परेशानी न हो. कोहरे की स्थिति में हाइ बीम के प्रयोग से बचें.

गाड़ी के बेल्ट और पाइप जांच लें: आपकी गाड़ी के इंजन के बेल्ट और पाइप अच्छी स्थिति में होने चाहिए. सर्दियों में तापमान गिरने से ये कमजोर हो जाते हैं जिससे इनके चटकने-टूटने का अंदेशा रहता है. इंजन के कमजोर बेल्ट ज्यादा ठंड नहीं झेल पाएंगे.

एअर फिल्टर बदलें: एयर फिल्टर अगर जाम है तो बदल दें. एयर फिल्टर में जमने वाली धूल से यह जाम हो जाता है. कार हीटर चलाने पर फिल्टर में जमा गंदगी ब्लोअर से कार केबिन में पहुंच सकती है. 

आपातकालीन किट: एक आपात किट तैयार करके कार में रखें. आपका फोन तो साथ होना ही चाहिए. गाड़ी में खाने-पीने का कुछ सामान, पानी, फ्लैशलाइट, फ्लेयर्स और फर्स्ट एड किट भी तैयार रखना चाहिए.

जाड़े में जब आप निकलें ड्राइव पर: किन-किन बातों का रखें ख्याल
1. जरूरी लगे तो एअर और ऑयल फिल्टर साफ कर लें या फिर बदल लें

2. ठंड की वजह से आपकी बैटरी की कार्यक्षमता 50 फीसदी तक कम हो सकती है. तीन साल से ज्यादा पुरानी है तो अच्छा रहेगा कि आप एक बार इसे टेस्ट करवा लें

3. जाड़े में सड़कों पर दूर तक देख पाने में दिक्कत होती है. लाइट्स जांच लें, अतिरिक्त बल्ब और फ्यूज रख लें

4. इंजन के बेल्ट और पाइप अच्छी स्थिति में होने चाहिए
 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×