scorecardresearch
 
डाउनलोड करें इंडिया टुडे हिंदी मैगजीन का लेटेस्ट इशू सिर्फ 25/- रुपये में

आवरण कथाः टीका सम्राट

एसआइआइ ने पूणे में दुनिया की बहुपयोगी उत्पादन इकाई की स्थापना में 4,000 करोड़ रुपए की रकम निवेश की

X
चेयरमैन तथा एमडी, साइरस पूनावाला समूह अदार पूनावाला चेयरमैन तथा एमडी, साइरस पूनावाला समूह अदार पूनावाला

10. साइरस पूनावाला, 80 वर्ष

चेयरमैन तथा एमडी, साइरस पूनावाला समूह
अदार पूनावाला,  40 वर्ष

साइरस पूनावाला, सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया

क्योंकि सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआइआइ) देश में कोविड टीकाकरण लक्ष्य हासिल करने में मददगारों की सूची में सबसे आगे हैं. अब तक 97.7 करोड़ टीके लगाए जा चुके हैं, उसमें 89 फीसद कोविशील्ड है, जो एसआइआइ में बना है

क्योंकि पूनावाला घराने ने टीके के समान वितरण में पहल की. एसआइआइ ने हाल में सीआइआइ (भारतीय उद्योग परिसंघ) के साथ करार किया, ताकि कोविड का टीका देश के दूर-दराज और पिछड़े इलाकों तक पहुंचाया जा सके

क्योंकि पूनावाला घराने ने सोचा-समझा जोखिम उठाया और कोविड टीका के उत्पादन में भारी निवेश किया. यह एक बड़ी वजह है कि देश में इतनी बड़ी संख्या में टीके का उत्पादन हो पाया है. एसआइआइ ने पूणे में दुनिया की बहुपयोगी उत्पादन इकाई की स्थापना में 4,000 करोड़ रुपए की रकम निवेश की

ऊंचा उठाया सीरम इंस्टीट्यूट के पास ऐसी मशीने हैं, जिनसे हर मिनट 500 शीशियां भरी जा सकती हैं और स्टील का बायोरिएक्टर लगभग दो मंजिला ऊंचा है, जिससे हर महीने करीब 1 करोड़ टीके का उत्पादन हो सकता है

ऊंची सोच पूनावाला घराने ने पुणे की सफाई के लिए 1.5 करोड़ डॉलर (112 करोड़ रु.) का दान दिया है. एसआइआइ ने कोविशील्ड की राज्यों के लिए बिक्री दर 100 रु. तक घटाकर टीकाकरण में मदद की है

अमिताभ बच्चन, 79 वर्ष
अभिनेता
सदाबहार महानायक

क्योंकि जितनी उम्र बढ़ रही है, उतने काम में व्यस्त होते जा रहे हैं. चाहे टीवी के छोटे परदे पर कौन बनेगा करोड़पति जैसा लोकप्रिय क्विज शो हो, या बड़े परदे पर अजय देवगन (मेडे), रणबीर कपूर (बह्मास्त्र), प्रभाष (अनाम परियोजना) और दीपिका पादुकोण (हॉलीवुड फिल्म द इंटर्न का रिमेक) जैसे कलाकारों के साथ बिग बी अभी करियर को अलविदा कहने से काफी दूर हैं

क्योंकि वे धर्मार्थ कामों में भी आगे रहते हैं. अस्पतालों के लिए ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर, वेंटिलेटर और अन्य मेडिकल उपकरण मुहैया कराने से लेकर मुंबई में कोविड इलाज केंद्र स्थापित करने जैसे कामों में वे पूरी महामारी के दौरान सक्रिय रहे हैं

क्योंकि अगर सेहत संबंधी कोई सलाह देने का विज्ञापन हो तो उन्हें सबसे पहले चुना जाता है. अमिताभ ने टेलिफोन पर कोविड सुरक्षा सावधानियों संबंधी सरकारी प्रयास को अपनी आवाज दी, फ्रंटलाइन कर्मियों में उत्साह भरा और दिमागी सेहत दुरुस्त रखने के प्रति जागरूकता फैलाने में मदद की

बोल बच्चन वे पहले भारतीय सेलेब्रेटी हैं, जिनकी आवाज अमेजन के एलेक्सा में लगाई गई. उस उपकरण में 'अमित जी’ कहानियां बताते हैं, अपने पिता की कविताएं और प्रेरक उद्धरण सुनाते हैं

लिखे बच्चन ट्वीटर पर वे अपने ट्विट की गिनती रखते हैं, टंबलर पर अपनी रोजाना इंट्रियों की कटगरी बताते हैं

आगे क्या सैराट के निर्देशक नागराज मंजुले के साथ झुंड, एकता कपूर की गुडबॉय.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें