scorecardresearch
 

'कर्फ्यू जैसे हालात हैं'

ऑटो सेक्टर की बिक्री में 14 फीसद की गिरावट (सभी वाहनों) दिख रही थी, अब उस पर कोविड-19 के संकट के नए बादल मंडरा रहे हैं. शोरूमों में लोगों का आना आधा हो गया है.

निकुंज सांघी निकुंज सांघी

निकुंज सांघी 62 वर्ष

प्रबंध निदेशक

जे.एस. फोरव्हील मोटर्स (एमऐंडएम डीलर), अलवर

आर्थिक मंदी के चलते पहले से ही परेशान ऑटो सेक्टर की बिक्री में 14 फीसद की गिरावट (सभी वाहनों) दिख रही थी, अब उस पर कोविड-19 के संकट के नए बादल मंडरा रहे हैं. शोरूमों में लोगों का आना आधा हो गया है. 1985 से ऑटो रिटेल कारोबार में हैं और सात वाहन शोरूम के मालिक सांघी कहते हैं, ''यह कर्फ्यू जैसी स्थिति है. बीएस-4 मानदंडों पर सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के कारण हम पर पुराने स्टॉक जल्द से जल्द निकालने का दबाव है.'' (कोर्ट के आदेश के अनुसार, 1 अप्रैल 2020, से भारत में बीएस-4 वाहन बेचे/पंजीकृत नहीं किए जा सकते)

ऑटो क्षेत्र कई प्रकार से प्रभावित हुआ है

-चीन से आने वाले महत्वपूर्ण इलेक्ट्रॉनिक पुर्जों की किल्लत

-महाराष्ट्र और केरल जैसे राज्यों में पूर्ण बंदी ने बिक्री को प्रभावित किया है

- कार निर्माताओं ने कोविड-19 मामलों के प्रसार को रोकने के लिए डीलरशिप और सर्विस सेंटर में सख्त प्रोटोकॉल तय किए हैं.

***

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें