scorecardresearch
 

आवरण कथाः उनके लिए, जिनमें सीखने की ललक है

यूं समझें, अभी तक तो हमने सतह पर से धूल हटाई है. अभी लंबा सफर तय करना है. हमारा विश्वास है कि हम कमाल के प्रोडक्ट तैयार कर सकते हैं और अच्छी मार्केटिंग के माध्यम से हम उन्हें एक बड़े तबके तक ले जा सकते हैं

हमने ली सीख अनएकेडमी के सह-संस्थापक गौरव मुंजाल (बाएं) और हेमेश सिंह हमने ली सीख अनएकेडमी के सह-संस्थापक गौरव मुंजाल (बाएं) और हेमेश सिंह

क्या
भारत में सबसे बड़े शिक्षण प्लेटफॉर्मों में से एक जिसके पास 50,000 से अधिक पंजीकृत शिक्षकों और 4.9 करोड़ से अधिक शिक्षार्थियों का बड़ा नेटवर्क है और यह लगातार बढ़ रहा है.

बेंगलूरू स्थित मुख्यालय से संचालित अनएकेडमी 5,000 शहरों में और 14 भारतीय भाषाओं में विद्यार्थियों को सेवाएं देता है.

कौन
इसकी शुरुआत 30 वर्षीय गौरव मुंजाल, 30 वर्षीय रोमन सैनी और 28 वर्षीय हेमेश सिंह ने की थी. सैनी आइएएस परीक्षा पास करने वाले सबसे कम उम्र के युवाओं में से एक थे और उन्होंने नई दिल्ली के एम्स से एमबीबीएस की पढ़ाई भी की है.

हेमेश ने इंजीनियरिंग की पढ़ाई की है. वेब और मोबाइल उत्पादों के निर्माण और उसे व्यापक रूप से प्रसारित करने में महारत रखते हैं.

कब 2015

बड़ा विचार
सस्ती कीमत पर सर्वश्रेष्ठ शिक्षकों से लाइव लर्निंग प्रदान करना.

सफलता की पहली सीढ़ी  
मुंजाल जब 11वीं में थे, जेईई के एक कोचिंग सेंटर ने उन्हें उम्दा शिक्षकों वाले बैच से पढ़ने नहीं दिया गया था. बाद में उन्होंने सैनी और हेमेश के साथ इसी विचार पर काम किया कि ऐसे शिक्षक सभी के लिए कैसे उपलब्ध हों.

2019 में उन्होंने 5,00,000 ग्राहकों के आधार के साथ एक प्रोडक्ट तैयार किया.

धन की व्यवस्था
ब्लूम वेंचर्स के नेतृत्व में अनएकेडमी को मई 2016 में सीड फंडिंग के रूप में 5,00,000 डॉलर (3.7 करोड़ रुपये) मिले.

शुरू में इसे सेकोइया, एसएआइएफ पार्टनर्स, नेक्सस वेंचर पार्टनर्स और ब्लूम वेंचर्स जैसे निवेशकों से पैसे मिले. इसने 11 दौर की फंडिंग से 40.0 करोड़ डॉलर (2,970.7 करोड़) से अधिक जुटाए.

निवेशक की राय
''गौरव, रोमन और हेमेश ऐसे संस्थापक हैं जिनका अपने मिशन को लेकर नजरिया एकदम साफ और लक्ष्य केंद्रित है. उनके नजरिए का उत्पादन नवाचार, टीम निर्माण और समग्र विकास की गति पर स्पष्ट प्रभाव पड़ा है.''
—शैलेंद्र सिंह,
एमडी, सेकोइया कैपिटल इंडिया बिजनेस मॉडल  

अनएकेडमी का लक्ष्य योग्य शिक्षकों को सशक्त बनाकर दुनिया का सबसे बड़ा शैक्षिक प्लेटफॉर्म तैयार करना है. यह एक सतत व्यवस्था बनी रहे, इसके लिए कंपनी एक 'फ्रीमियम बिजनेस मॉडल' का उपयोग करती है.

शिक्षार्थी अनएकेडमी के सभी पाठ्यक्रमों को निशुल्क एक्सेस कर सकते हैं. हां, छात्रों को लाइव क्लासेज और व्यक्तिगत शिक्षण के लिए बतौर सदस्यता शुल्क एक छोटी-सी रकम चुकानी पड़ती है.

भविष्य की योजनाएं
टेस्ट प्रेम, के-12, ग्राफी (क्रिएटर्स का प्लेटफॉर्म) और रीलेवल (हायरिंग टेस्ट प्लेटफॉर्म) जैसे पहले से शुरू प्रॉडक्ट्स की बिक्री जारी रखने के साथ कुछ नए प्रॉडक्ट भी लाकर उनकी मार्केटिंग भी करेगी.
 
क्या आप जानते हैं?
मुंजाल 2001 में 'कौन बनेगा करोड़पति' के सेट पर अभिनेता शाहरुख खान से मिले थे और एक पुर्जे पर लिखकर कहा था कि एक दिन वे इसे इतना बड़ा बनाएंगे कि खान खुद मिलना चाहें. खान इस पर मुस्करा दिए थे.
—एम.जी. अरुण

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें