scorecardresearch
 

आवरण कथाः निर्माण की नई सोच

कंस्ट्रक्शन के क्षेत्र में इस्तेमाल होने वाले कई उत्पादों पर क्षेत्रीय खिलाड़ियों का वर्चस्व है, जिनकी पूरी क्षमता का इस्तेमाल नहीं हुआ है.

इन्फ्रास्ट्रक्चर और कंस्ट्रक्शन के क्षेत्र इन्फ्रास्ट्रक्चर और कंस्ट्रक्शन के क्षेत्र

इन्फ्रा.मार्केट

इन्फ्रा.मार्केट (Infra.Market) इन्फ्रास्ट्रक्चर और कंस्ट्रक्शन के क्षेत्र में काम करने वाला बिजनेस-टु-बिजनेस कॉमर्स प्लेटफॉर्म है

कौन 
कंपनी की स्थापना 36 वर्षीय सौविक सेनगुप्ता और 35 वर्षीय आदित्य शारदा ने की थी, दोनों ने जब कंपनी शुरू की तब उन्हें इन्फ्रास्ट्रक्चर और कंस्टक्शन में एक दशक का अनुभव था. दोनों आइआइएम के पूर्व छात्र और क्वालीफाइड चार्टर्ड एकाउंटेंट हैं.

कब 15 जुलाई, 2016

बड़ा विचार 
डिस्ट्रीब्यूटेड मैन्युफैक्चरिंग के जरिए एक प्रोडक्ट हाउस तैयार करना और एंड-टु-एंड प्रोडक्ट के लिए समेकित प्लेटफॉर्म तैयार करना तथा कंस्ट्रक्शन के क्षेत्र में सभी भागीदारों को सेवाएं मुहैया कराना. इस कंपनी का वार्षिक कारोबार 50 करोड़ डॉलर है.

सफलता की पहली सीढ़ी
कंस्ट्रक्शन के क्षेत्र में इस्तेमाल होने वाले कई उत्पादों पर क्षेत्रीय खिलाड़ियों का वर्चस्व है, जिनकी पूरी क्षमता का इस्तेमाल नहीं हुआ है. कंपनी के प्रमोटरों ने महसूस किया कि एक ओर मांग को जुटाकर विभिन्न उत्पादों का ब्रांड तैयार करने और इस तरह की कंपनियों की उत्पाद की सुविधाएं बढ़ाए बगैर उनकी बेकार पड़ी क्षमता का इस्तेमाल करने की भरपूर संभावना है.

धन की व्यवस्था 
टाइगर ग्लोबल, सिस्टमा एशिया फंड, फाउंडामेंटल, इवॉल्वेंस, नेक्सस वेंचर पार्टनर्स और एक्सेल जैसे निवेशकों की ओर तीन दौर की 14.35 करोड़ डॉलर की फंडिंग के बाद 2021 में कंपनी की कीमत 1 अरब डॉलर हो गई. इन सबकी शुरुआत एक्सेल के 35 लाख डॉलर के निवेश से हुई.

 निवेशक की राय 
‘‘हमारा मानना है कि इन्फ्रा.मार्केट की विकास यात्रा भारत की निर्माण सामग्री चेन को नया रूप दे रही है. यह तेज वृद्धि, स्वस्थ अर्थनीति और मुनाफा कमाने की स्थिति में है.’’
—स्कॉट श्लीफर, पार्टन,
टाइगर ग्लोबल मैनेजमेंट

बिजनेस मॉडल 
कंपनी ने इन्फ्रास्ट्रक्चर के ठेकेदारों के लिए स्थानीय निर्माताओं के जरिए एक प्रोडक्ट हाउस तैयार कर दिया है, जिसमें सारे ब्यौरों से लेकर निर्माण, गुणवत्ता जांच और माल भेजने तक शुरू से अंत तक की जिम्मेदारी ली जाती है. यह काम को बड़े पैमाने पर करने की खातिर सामग्री का निर्माण करने के लिए डिजाइन, साइट से अलग निर्माण सुविधाएं तैयार करने और उन्हें समेकित करने का लक्ष्य रखती है.

भविष्य की योजना 
इन्फ्रा.मार्केट अपने नए वर्टिकल के जरिए लोगों के गृह निर्माण और उनके घर में सुधार के बाजार में अपनी हिस्सेदारी बढ़ाना चाहती है. उसके पास फिलहाल 200 से ज्यादा रिटेल फ्रेंचाइजी हैं. कंपनी का मानना है कि रिटेल के क्षेत्र में मौजूदगी से उसे अपनी पहुंच बढ़ाने और नए बाजारों तथा उपभोक्ताओं तक अपनी मौजूदगी बढ़ाने में काफी मदद मिलेगी.

क्या आप जानते हैं? 
सौविक और आदित्य एक-दूसरे को कॉलेज के जमाने से ही जानते हैं, और मुंबई के एक ही इलाके में रहते थे.

संस्थापक की बात
''निर्माण क्षेत्र में हमारा लक्ष्य एक नए सामान्य  को लाने का है और दुनिया के सबसे बड़े इकोसिस्टम को हम तकनीक से नया रूप देना चाहते हैं’’

—आदित्य शारदा
संस्थापक
इन्फ्रा.मार्केट

मौजूदा बाजार मूल्य
1 अरब डॉलर
7,430 करोड़ रुपए.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें