scorecardresearch
 

नेहरू परिवार को गुजराती नेता पसंद नहीं: मोदी

एक और धमाकेदार चुनावी रैली निबटाकर लौट रहे गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मैनेजिंग एडिटर एस. प्रसन्नराजन ने हेलिकॉप्टर में बातचीत की. पेश हैं उस बातचीत के अंशः

नरेंद्र मोदी नरेंद्र मोदी

एक और धमाकेदार चुनावी रैली निबटाकर लौट रहे गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मैनेजिंग एडिटर एस. प्रसन्नराजन ने हेलिकॉप्टर में बातचीत की. पेश हैं उस बातचीत के अंशः

तो दिल्ली आने के लिए आपने कमर कस ली है?
नहीं,  मैं किसी काल्पनिक सवाल का जवाब नहीं दूंगा. 

गुजरात में क्या करना है, इस पर तो आपके खयाल बिल्कुल साफ  हैं. आपको क्या लगता है कि भारत में ऐसी सबसे अहम चीज क्या है जिसे दुरुस्त किया जाना है?
भारत में फिलहाल नेता, नीति और नीयत का अभाव है. 

तो क्या आप वह ‘नेता’ नहीं होंगे? अधिकतर जनमत सर्वेक्षण आपको प्रधानमंत्री पद का सबसे योग्य उम्मीदवार बता रहे हैं?
मेरा ध्यान गुजरात पर है. मेरी वचनबद्धता फिलहाल छह करोड़ गुजरातियों के प्रति है. मेरा असली सपना गुजरात के विकास सूचकांक को दुनिया के सर्वाधिक विकसित देशों के भी पार ले जाना है और मैं यह कर सकता हूं. ढेरों संभावनाएं हैं. मसलन, गुजरात के समुद्री किनारे पर 52 द्वीप हैं. मैं उन्हें अंतरराष्ट्रीय स्तर के पर्यटन स्थल बनाना चाहता हूं. मैं हमेशा हटकर सोचता हूं और एक बात याद रखिएः नेहरू परिवार ऐतिहासिक रूप से गुजराती नेताओं को पसंद नहीं करता. उन्होंने पटेल के साथ बुरा व्यवहार किया. मोरारजी देसाई को उन्होंने नहीं छोड़ा. अब निशाना बनने की बारी मेरी है. 

आपकी छवि एक आधुनिक नेता की है, कॉर्पोरेट जगत का आपको समर्थन है. इसके बावजूद आप रीटेल में विदेशी निवेश के विरोधी हैं?
यह राज्य का विषय है और इसे थोपा जाना देश के संघीय ढांचे के साथ खिलवाड़ है. इससे भी बड़ी बात यह है कि कृषि के बाद इस देश में रोजगारों का सबसे बड़ा माध्यम छोटी दुकानें हैं. एफडीआइ इसे खत्म कर देगा. यह हमारी मैन्युफैक्चरिंग की क्षमता पर भी असर डालेगा. एफडीआइ हिंदुस्तान की अर्थव्यवस्था की मदद नहीं करेगा. यहां तक कि राष्ट्रपति ओबामा भी नहीं चाहते कि अमेरिकी रोजगार वहां से बाहर जाएं. मैंने इस पर उनकी ट्वीट देखी थी. 

मैंने तो सोचा कि आपके आदर्श मिसेज थैचर या रीगन होंगे?
ओबामा इस मामले में सही हैं. वैसे भी, खुदरा क्षेत्र में एफडीआइ हिंदुस्तान की अर्थव्यवस्था के लिए अच्छा नहीं है. 

ऐसा लगता नहीं कि आप मुसलमानों का भरोसा वापस जीत पाए हैं?
मैं वोट बैंक की राजनीति में विश्वास नहीं करता. मेरे लिए हिंदू वोट बैंक, मुस्लिम वोट बैंक या अल्पसंख्यक वोट बैंक जैसी कोई चीज नहीं है. मेरा परिवार छह करोड़ गुजरातियों का है. बीजेपी को पड़े वोट तो जाहिर है मेरे ही होंगे, लेकिन मेरे खिलाफ वोट देने वाले भी मेरे ही परिवार का हिस्सा हैं. 

आप ऐसे नेता जान पड़ते हैं जिसे वोटरों के बीच स्नेह से ज्यादा प्रशंसा हासिल है. कुछ लोगों ने तो मुझे यह भी बताया कि आप अपनी भावनाओं को छुपाते हैं.
लोगों से मुझे ऐसी राय नहीं मिलती. भावनाओं के कई स्तर होते हैं. आपको रैली देखकर नहीं लगा कि वे मुझे स्नेह देते हैं? वे मुझे इतना चाहते हैं कि उनकी भावनाओं का खयाल रखना मेरी जिम्मेदारी बनती है. मैं इसे अपने लिए एक चुनौती की तरह देखता हूं. 

आपकी आक्रामक छवि भी है?
धारणा और सच्चाई में फर्क होता है. मोदी की आक्रामक छवि गढऩे वाले कुछ अतिआक्रामक किस्म के लोग हैं.

क्या आप अकेले रहना पसंद करते हैं?
मैं हमेशा जनता के साथ रहता हूं. अकेले रहने के लिए मेरे पास वक्त नहीं है. सोलह साल की अवस्था में ही मैंने खुद को राष्ट्र के प्रति समर्पित कर दिया था.
हो सकता है, आप अपनी पार्टी के भीतर अकेले हों?
मैं आज जो कुछ भी हूं, बीजेपी और उसके केंद्रीय नेतृत्व की वजह से हूं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें