scorecardresearch
 

बातचीत

केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद

बातचीतः निजता के हनन की हमारी कोई मंशा नहीं

17 जून 2021

केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद बता रहे हैं कि सूचना प्रौद्योगिकी (मध्यस्थ दिशानिर्देश और डिजिटल मीडिया एथिक्स कोड) नियम, 2021 आभासी दुनिया में एक भारतीय नागरिक की निजता और उसके लोकतांत्रिक अधिकारों पर किस तरह से असर डालने वाला है. उन्होंने सोशल मीडिया की मध्यस्थ इकाइयों की चिंताओं को भी दूर करने की कोशिश की और दावा किया कि इन नियमों का एकमात्र मकसद सामान्य उपभोक्ताओं को अधिकार देना और डिजिटल प्लेटफॉर्मों पर उन्हें लूटखसोट से बचाना है.

 उत्तर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह

बातचीतः जिन्हें भाजपा की कार्यप्रणाली का ज्ञान नहीं...

16 जून 2021

उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार और भाजपा संगठन में बदलाव की चर्चाओं के बीच उत्तर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने 6 जून की सुबह लखनऊ में गौतमपल्ली स्थित अपने आवास पर इंडिया टुडे के असिस्टेंट एडिटर आशीष मिश्र से बातचीत की. कुछ अंश:

केंद्रीय वित्त मंत्री  निर्मला सीतारमण

बातचीतः अर्थव्यवस्था एक बड़ी चुनौती से दो-चार है...

10 जून 2021

कोविड की दूसरी लहर के बाद भारतीय अर्थव्यवस्था भले फिर से गहरे संकट में नजर आ रही हो लेकिन केंद्रीय वित्त मंत्री  निर्मला सीतारमण के आत्मविश्वास को देखकर लगता है कि स्थिति पूरी तरह से सरकार के नियंत्रण में है. ग्रुप एडिटोरियल डायरेक्टर राज चेंगप्पा बिजनेस टुडे के संपादक राजीव दुबे के साथ एक एक्सक्लूसिव बातचीत में वे अर्थव्यवस्था में नई जान डालने की योजना का खुलासा करती हैं. उसी बातचीत के अंश:

डॉ. सौम्या स्वामीनाथन

भारत में दूसरी लहर लंबी खिंचने को लेकर मैं चिंतित हूं

20 मई 2021

जेनेवा स्थित विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लूएचओ) की मुख्य वैज्ञानिक डॉ. सौम्या स्वामीनाथन ने इंडिया टुडे के ग्रुप एडिटोरियल डायरेक्टर राज चेंगप्पा से कोविड की दूसरी लहर से निबटने और दूसरे देशों से सबक सीखने के बारे में बात की. बातचीत के प्रमुख अंश:

जॉन केरी

बातचीतः हमें अपनी गलतियों को सुधारने की जरूरत है

22 अप्रैल 2021

बाइडन 22 अप्रैल को एक जलवायु शिखर सम्मेलन आयोजित कर रहे हैं. उम्मीद है कि इसमें वे भारत सहित प्रमुख उत्सर्जक देशों के प्रमुखों को 2050 तक शुद्ध कार्बन उत्सर्जन शून्य करने की प्रतिबद्धता जताने को राजी करेंगे.

डॉ. गगनदीप कंग

बातचीतः ‘सबको टीकाकरण की जरूरत’

15 अप्रैल 2021

सीएमसी वेल्लूर में माइक्रोबॉयोलॉजी की प्रोफेसर तथा कोविड की दवा और वैक्सीन पर आइसीएमआर की समिति की पूर्व अध्यक्ष डॉ. गगनदीप कंग ने ग्रुप एडिटोरियल डायरेक्टर (पब्लिशिंग) राज चेंगप्पा से वैक्सीन कूटनीति और कोविड की दूसरी लहर पर बात की. अंश:

नड्डा का साफ नजरिया ‘‘अगर हम भारत को प्रगतिशील देखना चाहते हैं और हमारे पास मोदीजी जैसे स्फूर्तिवान नेता है तो हम क्यों यह मौका गंवाएं? हम हर चुनाव आक्रामक ढंग से और जीतने के लिए लड़ें’’

आवरण कथाः राष्ट्रवादी शक्तियों को एकजुट करेगी भाजपा

06 अप्रैल 2021

भारत के सशक्त सियासी दल के शीर्ष पर विराजमान भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष  जगत प्रकाश नड्डा से दिल्ली में उनके आवास पर ग्रुप एडिटोरियल डायरेक्टर (पब्लिशिंग) राज चेंगप्पा और सीनियर एडिटर अनिलेश एस. महाजन ने एक लंबी बातचीत की. इसमें नड्डा ने खुलासा किया कि उनकी पार्टी आज इतनी बड़ी संगठनात्मक शक्ति आखिर कैसे है और भविष्य के लिए वह खुद को किस तरह से तैयार कर रही है. पेश हैं उसके प्रमुख अंश:

28 फरवरी को स्थानीय निकाय चुनावों में शानदार जीत के बाद उनकी स्थिति पहले से बेहतर हुई है.

''हम जो वादा करते हैं, उसे समय पर पूरा करते हैं’’

31 मार्च 2021

उद्यमी से राजनीतिज्ञ बने विजय रूपाणी ने अगस्त 2016 में गुजरात के 16वें मुख्यमंत्री के रूप में पदभार संभाला था. बीते पांच सालों में 64-वर्षीय रूपानी ने खुद को सक्षम प्रशासक साबित किया है. गत 28 फरवरी को स्थानीय निकाय चुनावों में शानदार जीत के बाद उनकी स्थिति पहले से बेहतर हुई है.

केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत

बातचीतः जल अभियानों को जनांदोलनों की तरह हमें लेना होगा

23 मार्च 2021

पूरी दुनिया जल संकट की चुनौती का सामना कर रही है. भारत में यह संकट और बड़ा है क्योंकि हमारी आबादी और इसकी बढ़ोतरी की रफ्तार अधिक है

तीरथ सिंह रावत

बातचीतः मैंने तो नए निर्णय लोगों के पक्ष में लिए

23 मार्च 2021

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत से बातचीत करके अखिलेश पांडे ने भविष्य की उनकी योजनाओं के बारे में जानने की कोशिश की. बातचीत के मुख्य अंश:

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर

बातचीतः जातिगत राजनीति के दिन लद गए

10 मार्च 2021

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर एक बार फिर जाटों के निशाने पर हैं. इस दफा गुस्सा केंद्र के नए किसान कानूनों को लेकर है. अनिलेश एस. महाजन के साथ बातचीत में वे चुनावी मजबूरियों की बजाए शासन के प्रति प्रतिबद्ध नजर आए.