scorecardresearch
 

विजय तेंडुलकर के नाटक पढ़ना अच्छा लगता है

शादी पर्सनल च्वाइस होती है. यह एक समझौता है, एक प्रॉमिस है जो आपको निभाना है. आज के लड़के-लड़कियों को यह समझना चाहिए.

सोनम कपूर सोनम कपूर

वीरे दी वेडिंग में रोल को लेकर सोनम कपूर से बातचीत, पेश हैं खास अंश-

सिनेमा घरों में लगने जा रही वीरे दी वेडिंग, शादी, कॉमेडी, पापा के साथ काम, डायरी लेखन और हिंदी लेखकों पर वीरे दी वेडिंग की खासियत क्या है?

इसमें चार सहेलियों की कहानी है. ये किसी लड़के से कम नहीं हैं. मुख्य किरदार में चार लड़कियों की वजह से दर्शकों को काफी नयापन दिखेगा. इसमें कॉमेडी है और कुछ मुद्दे की बातें भी कही गई हैं.

आपके लिए शादी के मायने?

शादी पर्सनल च्वाइस होती है. यह एक समझौता है, एक प्रॉमिस है जो आपको निभाना है. आज के लड़के-लड़कियों को यह समझना चाहिए.

कॉमेडी में आप कितना सहज महसूस करती हैं?

मुझे कॉमेडी करने में मजा आता है. मैं नेचुरल कॉमेडी करती हूं. चार्ली चैप्लिन, राज कपूर, जुही चावला और श्रीदेवी की कॉमेडी मुझे पसंद है.

एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा’ फिल्म में आप पापा अनिल कपूर के साथ हैं. कैसा अनुभव रहा?

हम दोनों डिफरेंट ऐक्टर हैं. पापा के पास एक्सपीरिएंस ज्यादा है. फिल्म देखने पर आप खुद महसूस करेंगे कि मैंने किस तरह से काम किया है.

मासूमों पर अत्याचार की घटनाएं बढ़ रही हैं. इस पर क्या कहेंगी?

यह पहले से चला आ रहा है. आज मीडिया की वजह से इस बारे में ज्यादा जानकारी मिल रही है. लोग लड़कियों और औरतों की रेस्पेक्ट नहीं करते. मैं एक लड़की हूं तो यही कह सकती हूं कि यह गलत है. इस बारे में मीडिया ज्यादा लिखे और दिखाए. हमें अपने घरों में भी लड़के-लड़कियों को शिक्षित करने की जरूरत है.

आप डायरी लिखती हैं?

थोड़ी-बहुत राइटिंतग करती हूं. डायरी में थॉट्स लिखती हूं. अच्छी राइटर तो नहीं हूं लेकिन मुझे पढऩे का शौक है इसलिए लिखती हूं.

हिंदी लेखकों को पढ़ती हैं?

मैंने ज्यादातर अंग्रेजी में अनूदित रचनाएं पढ़ी हैं, जिनमें टैगोर भी हैं. गिरीश करनाड और झुंपा लाहिड़ी को भी पढ़ा है. मुझे नाटक बहुत पसंद हैं, इसलिए विजय तेंडुलकर के नाटकों को पढ़ती रही हूं.

***

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें