scorecardresearch
 
डाउनलोड करें इंडिया टुडे हिंदी मैगजीन का लेटेस्ट इशू सिर्फ 25/- रुपये में

सिनेमाः अनसुनी कहानियां सुनाएंगी निर्माता बनीं अभिनेत्रियां

ऋचा की इस फिल्म से कुछ और को-प्रोड्यूसर जुड़ गए हैं. स्पष्ट है कि तापसी और ऋचा ने प्रोड्यूसर बनने से पहले फिल्म निर्माण बाजार को अच्छे से खंगाल लिया है.

X
दीपिका पादुकोण दीपिका पादुकोण

तापसी पन्नू और ऋचा चड्ढा सरीखी एक्ट्रेस ने बतौर प्रोड्यूसर फिल्में बनाने की घोषणा की तो सिने जगत की इनसे उम्मीदें बढ़ गई हैं. उम्मीद है कि अब ये अपनी फिल्मों में नई कहानी कहेंगी. युवा लेखक-निर्देशक राजीव उपाध्याय के शब्दों में, ''इंडस्ट्री में तापसी और ऋचा जैसी महिला प्रोड्यूसर के आने से सबसे बड़ा बदलाव कहानी में होगा. कहानियां जो समाज ने पहले नहीं देखी हैं, वे इनकी फिल्मों में दिखाई जाएंगी. बॉलीवुड पुरूष प्रधान फिल्में बनाता है.

जब ये महिलाएं प्रोड्यूसर बनकर आ रही हैं तो इनकी कहानियों में औरत की एक अहम भूमिका होगी.’’ तापसी और ऋचा जैसी एक्ट्रेस का ताल्लुक फिल्मी घराने से नहीं है और वे अभिनय के दम पर अपना खास मुकाम बना चुकी हैं. निश्चित रूप से उनके सामने बाहरी होने और फाइनेंसर तलाशने की भी चुनौतियां रहेंगी. फिल्म व्यवसाय विशेषज्ञ नरेंद्र गुप्ता का नजरिया कुछ ऐसा है, ''इनको इंडस्ट्री में काम करते हुए 10-15 साल हो गए हैं. इसलिए फाइनेंस मिलने में दिन्न्कत नहीं है.’’

फिल्म व्यवसाय विशेषज्ञ अतुल मोहन कहते हैं, ''अब फाइनेंस कोई बड़ी समस्या नहीं है यहां. ऐक्टर या ऐक्ट्रेस जब बताते हैं कि वे खुद ही प्रोड्यूसर हैं तो फाइनेंसर आगे आता है. इस समय सबको स्टूडियो ही फाइनेंस करता है.’’ उपाध्याय की राय में, ‘‘तापसी और ऋचा के नाम पर फिल्में चलती हैं इसलिए इनके नाम पर पैसे लगाने वाले हैं.’’

लगभग डेढ़ साल के महामारी के दौर में ज्यादातर प्रोड्यूसर नई फिल्म शुरू करने से बच रहे हैं. लिहाजा, सवाल उठना लाजमी है कि ऐसे वक्त में तापसी और ऋचा का प्रोड्यूसर बनना क्या मौके का फायदा उठाने वाली बात है? इस पर अतुल दो टूक कहते हैं, ‘‘यह मौके की ही बात है. थिएटर भले ही बंद हो लेकिन डिजिटल बाजार तो खुला है.’’ गुप्ता कहते हैं, ‘‘बड़े स्टार के लिए समस्या नहीं है. छोटे और मझोले ऐक्टर को परेशानी हो सकती है. तापसी और ऋचा से इंडस्ट्री को ही फायदा होगा. लोगों को काम मिलेगा.’’ 

लेकिन उपाध्याय के विचार थोड़े अलग हैं, ''मौके पर प्रोड्यूसर बनने वाली बात नहीं है. मुझे लगता है कि तापसी अब स्टार हैं. हम अक्षय कुमार की तरह उनको नहीं देख सकते. मगर यह सच है कि वे कामयाब हैं, उनके लिए फिल्म प्रोड्यूस करना बड़ी बात नहीं है. उसी तरह ऋचा के बारे में भी कहा जा सकता है.’’

वैसे, इसी महामारी में भट्ट परिवार की बेटी आलिया भट्ट भी अपना प्रोडक्शन हाउस खोलकर डार्लिग्स फिल्म बनाने की घोषणा कर चुकी हैं. यह दीगर बात है कि उन्हें तापसी या ऋचा की तरह फिल्म बनाने के लिए संघर्ष नहीं करना पड़ेगा. उनका परिवार फिल्म निर्माण के में लंबे अर्से से है. भट्ट परिवार की पूजा भट्ट भी सफल प्रोड्यूसर रह चुकी हैं.

इंडस्ट्री में तापसी खुद आउटसाइडर हैं इसलिए उनके प्रोडक्शन हाउस के नाम आउटसाइडर्स फिल्म्स पर चर्चा भी हो रही है. लेकिन उन्होंने स्पष्ट कर दिया है कि उनकी फिल्म में प्रतिभाशाली ऐक्टरों को ही मौका मिलेगा. अपने प्रोडक्शन की पहली थ्रिलर फिल्म ब्लर में तापसी खुद काम कर रही हैं. उनकी फिल्म को ज़ी स्टूडियो प्रमोट कर रहा है, जिससे उन्हें फाइनेंस की समस्या नहीं होगी. ऋचा को एक पंजाबी शॉर्ट फिल्म खून आली चिट्ठी प्रोड्यूस करने का भी अनुभव है.

अब वह पुश बटन स्टूडियो नामक अपने बैनर तले हिंदी फिल्म गर्ल्स विल बी गर्ल्स बनाने में जुट गई हैं. अपनी सोच के मुताबिक उन्होंने फिल्म के लिए स्क्रिप्ट बॢलनले स्क्रिप्ट स्टेशन लैब से लिया है. लैब दुनियाभर से 10 चुनिंदा स्क्रिप्ट प्रोड्यूसर को देती है. ऋचा की इस फिल्म से कुछ और को-प्रोड्यूसर जुड़ गए हैं. स्पष्ट है कि तापसी और ऋचा ने प्रोड्यूसर बनने से पहले फिल्म निर्माण बाजार को अच्छे से खंगाल लिया है. उपाध्याय के शब्दों में, ‘‘ऋचा जिस तरह की फिल्म प्रोड्यूस कर रही हैं और उन्होंने अपनी फिल्म का जो नाम रखा है गर्ल्स विल बी गर्ल्स, यह किसी फीमेल प्रोड्यूसर के ही बस की बात है.

तापसी और ऋचा से पहले भी कथित बाहरी अभिनेत्रियों ने भी फिल्में बनाई हैं. मगर उनमें से कई एक या दो फिल्मों के बाद और फिल्में बनाने की हिम्मत नहीं जुटा पाईं. मसलन, प्रियंका चोपड़ा ने द स्काइ इज पिंक और बम बम बोल रहा है काशी (भोजपुरी), लारा दत्ता ने चलो दिल्ली, दिया मिर्जा ने लव ब्रेकअप्स जिंदगी, विद्या बालन ने नटखट, हिना खान ने लाइंस, नीतू चंद्रा ने वन्स अपॉन ए टाइम इन बिहार, ऐश्वर्या राय ने दिल का रिश्ता, प्रीति जिंटा ने इश्क इन पेरिस और अमीषा पटेल ने देसी मैजिक बनाई थी. लेकिन दीपिका पादुकोण और अनुष्का शर्मा अब भी प्रोडक्शन से जुड़ी हुई हैं. दीपिका फिल्म ’83 की को-प्रोड्यूसर हैं और अनुष्का वेब सिरीज बना रही हैं.

हाल के वर्षों में महिला प्रोड्यूसर के रूप में अलग पहचान बनाने वालों में गुनीत मोंगा, अनुष्का और दीपिका के नाम हैं. वे भी इंडस्ट्री की बेटियां नहीं हैं. लेकिन उन्होंने साबित किया है कि वे सफल प्रोड्यूसर हैं और उन्हें फिल्में बनाकर दर्शकों के दिलों में बसाना भी आता है. अतुल बताते हैं, ''महिला प्रोड्यूसर की फिल्में हीरोइन ओरिएंटेड होती हैं. पुरुष निर्माता मसाला फिल्मों में पैसे लगाते हैं.

ऐक्ट्रेस प्रोड्यूसर के दिमाग में यह जरूर रहता है कि करियर में एकाध फिल्म ऐसी करें जिसके लिए उन्हें याद किया जाए. दीपिका की बात होगी तो छपाक जरूर याद आएगी. अनुष्का एनएच 10 से याद आती हैं. जब ऐक्ट्रेस अपनी फिल्म में ऐक्टिंग करेंगी तो उन्हें अपनी अदाकारी दिखाने का भरपूर मौका मिलेगा.ÓÓ उपाध्याय की राय में, ''जब ये अभिनेत्रियां निर्माता बनती हैं तो इनकी कहानियों में औरत की अहम भूमिका होगी. अनुष्का ने जो फिल्में बनाईं उनमें अभिनय किया जैसे, एनएच 10 और परी. इसके अलावा बुलबुल जो डिजिटल पर आई. ये सब फीमेल सेंट्रिक कहानियां हैं.’’

आने वाले सालों में और भी बदलाव देखने को मिलेंगे क्योंकि यहां गुनीत मोंगा जैसी सफल प्रोड्यूसर भी हैं जो अभिनेत्री नहीं हैं. लेकिन उनका फोकस हीरोइन ओरिएंटेड फिल्मों के निर्माण पर ज्यादा रहता है. गैंग्स ऑफ वासेपुर, द लंचबॉक्स, मसान, जुबान, 1232 केएमएस जैसी फिल्में भी गुनीत ने प्रोड्यूस की हैं. गुनीत डॉक्यूमेंटरी फिल्म पीरियड. एंड ऑफ सेंटेंस की कार्यकारी निर्माता भी हैं. फिल्म को 2019 में बेस्ट डॉक्यूमेंटरी शॉर्ट सब्जेक्ट के लिए ऑस्कर अवार्ड भी मिला.

दूसरी ओर जो एक्ट्रेस  प्रोड्यूसर बनकर दोहरी भूमिका निभा रही हैं वे अक्षय कुमार, सलमान खान या शाहरुख खान की तरह महंगे बजट की फिल्में बनाने का जोखिम नहीं उठा पाती हैं क्योंकि उनका मकसद अच्छी कहानी वाली महिला प्रधान फिल्म बनाना है. बड़ी फिल्में कौन बनाएंगी, दीपिका पादुकोण जो स्टार हैं. अनुष्का बना सकती हैं. तापसी भी बना सकती हैं अगर वे चाह लें तो. ऐक्ट्रेस-प्रोड्यूसर की वकालत करते हुए उपाध्याय कहते हैं, ''वे पैसे कमाने के लिए प्रोड्यूसर नहीं बनी हैं. उनको वे कहानियां कहनी है जो नहीं कह पाई हैं.’’

अनुष्का शर्मा
कंपनी : न्न्लीन स्लेट फिल्क्वस
आने वाले प्रोजेक्ट: माई (वेब सिरीज), काला (डिजिटल फिल्म)


दीपिका पादुकोण
कंपनी: का प्रोडन्न्शंस
आने वाली फिल्म:
'83 (को प्रोड्यूसर)

गुनीत मोंगा
कंपनी : सिक्चया एंटरटेनमेंट
आने वाली फिल्म:
यू टर्न (बालाजी फिल्क्वस के साथ)
तापसी पन्नू
कंपनी:
आउटसाइडर्स फिल्क्वस
बैनर की पहली फिल्म : ब्लर
 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें