scorecardresearch
 
डाउनलोड करें इंडिया टुडे हिंदी मैगजीन का लेटेस्ट इशू सिर्फ 25/- रुपये में

सिनेमाः अब और जद्दोजहद नहीं

स्कैम 1992 से तकदीर पलटने के साथ प्रतीक गांधी हिम्मत और आत्मविश्वास से अपना शिल्प तराश रहे.

X
प्रतीक गांधी प्रतीक गांधी

प्रतीक गांधी की जिंदगी दो हिस्सों में बंटी है—स्कैम से पहले और स्कैम के बाद. पहले हिस्से में उन्हें रंगमंच और गुजराती फिल्मों के ऐसे अभिनेता के तौर पर देखा गया, जिसने रांग साइड राजू (2016) और बे यार (2014) सरीखी फिल्मों में अपनी अदाकारी से प्रभावित भी किया और मोहित भी.

दूसरा गेमचेंजिंग हिस्सा पिछले साल उनकी पहली हिंदी वेबसीरीज स्कैम 1992: द हर्षद मेहता स्टोरी (सोनी लिव पर) की रिलीज के साथ शुरू हुआ. दागदार स्टॉकब्रोकर के किरदार में गांधी इतने दमदार थे कि सर्वश्रेष्ठ अभिनेताओं की तकरीबन हर ईयर-एंड लिस्ट में उनका नाम शीर्ष पर था.

वे कहते हैं, ''लोग मुझे दूसरे नजरिए से देखने लगे. पहले मैं काम के लिए जिन लोगों से मिला, वे अब मेरे साथ काम करने को उत्सुक हैं. वे मुझे मुख्य किरदार के तौर पर लेकर प्रोजेक्ट शुरू करने को तैयार हैं.’’

इन्हीं में एक प्रोजेक्ट भवाई है, जो इसी महीने रिलीज हो रही है. हालांकि इसकी शूटिंग गांधी ने स्कैम से अपनी किस्मत पलटने के पहले की थी. यह रोमांटिक ड्रामा है, जिसका नाम पहले रावण लीला था. कहानी दो महत्वाकांक्षी अदाकारों के इर्द-गिर्द घूमती है, जो रामलीला में रावण और सीता के किरदार निभाते हुए प्यार कर बैठते हैं.

बस फिर क्या था, अफरा-तफरी मच जाती है जब लोग मंच पर उनके किरदारों की वजह से उनके रोमांस पर ऐतराज जताते हैं. हाशिये के हिंदू धड़ों को नाराज करने के लिए दो मिनट का ट्रेलर काफी था. उन्होंने फिल्म और बनाने वालों पर ईशनिंदा का आरोप लगाया. गांधी ने जबरदस्त ऑनलाइन ट्रोलिंग झेली. उनके परिवार के सदस्यों को भी जहरीले बहस-मुबाहिसे में घसीट लिया गया.

गांधी को लगता है कि उनके निभाए किरदार की तरह फिल्म को भी गलत समझा जा रहा है. वे कहते हैं, ''आज धारणाएं हमें हांक रही हैं. सूचनाएं तमाम जगहों से आ रही हैं और बहुत ज्यादा सूचनाएं हमें उलझा देती हैं. हम चुन नहीं पाते कि क्या गलत क्या सही है. लोगों को बहकाना आसान है. दस लोग आपके बारे में कुछ कहेंगे और फिर उसे गलत साबित करने की जिम्मेदारी आपकी.’’ उन्हें उम्मीद है कि दर्शक फिल्म देखेंगे और सच्ची मंशा खुद ही पता कर लेंगे.

बॉक्स ऑफिस पर भवाई का जो अंजाम हो, गांधी का करियर साफ ऊपर बढ़ रहा है. स्कैम के बाद उन्होंने दो हिंदी फिल्मों और एक वेबसीरीज (डिज्नी+ हॉटस्टार पर सिक्स सस्पेक्ट्सर) की शूटिंग की. उन्होंने तापसी पन्नू और विद्या बालन के साथ दो और फिल्में साइन की हैं. गांधी अब दूसरे ज्यादा मशहूर गांधी—मोहनदास करमचंद गांधी—के बारे में एक नाटक को फिर जिंदा करने के लिए रंगमंच पर लौटने को कसमसा रहे हैं.

करियर के इस शायद सबसे संतोषजनक और काम से भरपूर दौर में 41 वर्षीय गांधी को ऐसे 'अनकहे सवाल’ से नहीं जूझना पड़ता कि—'हो पाएगा कि नहीं?’ स्कैम में उनका काम खुद बोलता है. वे कहते हैं, ''अपनी कला की खोज की हिम्मत और आत्मविश्वास मुझमें है. मुझे खुद को साबित नहीं करना पड़ता.’’

इस महीने रिलीज हो रही प्रतीक गांधी की नई फिल्म भवाई दो नवोदित कलाकारों के इर्दगिर्द घूमती है जो रावण और सीता का रोल करते हुए प्यार में पड़ जाते हैं
 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें