scorecardresearch
 

India Today League Valorant Cup: यहां जानें चैंपियंस की कहानी

Impact Feature

गेमिंग की दुनिया में Valorant आजकल काफी चर्चा में है और India Today League Valorant Cup में कल टीम Villanious को हराकर Velocity Gaming इसके नए चैंपियन बन गए हैं.

India Today League Valorant Cup India Today League Valorant Cup
स्टोरी हाइलाइट्स
  • गेमिंग की दुनिया में Valorant आजकल काफी चर्चा में है
  • India Today गेमिंग ने Valorant Cup का आयोजन किया था
  • Villanious को हराकर Velocity Gaming इसके नए चैंपियन बन गए हैं

गेमिंग की दुनिया में Valorant आजकल काफी चर्चा में है और India Today League Valorant Cup में कल टीम Villanious को हराकर Velocity Gaming इसके नए चैंपियन बन गए हैं. अपनी विरोधी टीम को 3-0 से हराकर चैंपियन बनी इस टीम के लिए ये जीत आसान रही.

Velocity टीम में 5 एक्स-CS प्रोफेशनल्स: EXCALI, RITE2ACE, VIBHOR, ANTIDOTE और AMATERASU हैं. इनमें से AMATERASU टीम के IGL हैं. इस टीम ने 1,00,000 रुपये का कैश प्राइज जीता है.

हालांकि, ये पहला टूर्नामेंट नहीं है, जो इन्होंने जीता हो. ये टीम फॉर्म होने के बाद से ही कभी हारी नहीं है और अब ये पहली टीम बन गई है जो देश को सिंगापुर में PVP टूर्नामेंट में रिप्रेजेंट करेगी और साउथ एशिया के टीम टीमों के साथ खेलेगी. हमने हर टीम मेंबर से उनके खेल के फॉर्मुले के बारे में बात की है. हमने जानने की कोशिश की कि किन चीजों की वजह से वो प्रो गेमिंग में आए और उनके आगे के प्लान्स क्या हैं.

एक्स CS1.6 pro, हार्डवर्ड ग्रेजुएट और माही ग्रेनाइट्स प्रा. लि. के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर Manoj यानी Sentinel को अपने कंसोल गेम CONTRA से ही गेमिंग का पैशन था. ऑनलाइन गेमिंग से जुड़ी नकारात्मक सामाजिक मानसिकता की वजह से सारा टैलेंट खराब होता देख परेशान मनोज ने प्रो गेमिंग खेलने के बारे में सोचा.

इसलिए उन्होंने अधिग्रहण करने के लिए CSGO टीम की तलाश शुरू की. Velocity Gaming के ICL AMATERASU यानी अनुज शर्मा ऐसे ही मौके की तलाश कर रहे थे. ऐसे में Velocity की शुरुआत ऑनलाइन गेमिंग को मेनस्ट्रीम बनाने और इसे पहचान दिलाने के जज्बे के साथ हुई.

विभोर के बारे में बात करें तो वो 2010 से एक प्रोफेशनल गेमर रहे हैं. उन्होंने CS 1.6 और CSGO में खेला. इसके बाद उन्होंने मार्च में ViPeRRR यानी विभोर वैद के साथ टीम Velocity के हिस्से के रूप में Valorant में स्विच किया. ये Velocity Gaming द्वारा सेलेक्ट की गई टीम थी. विभोर एक्स-प्रो CSGO रहे हैं. इनके पास 6000 से भी ज्यादा घंटे के खेल का अनुभव है. उन्होंने लोकल कैफे में छोटे टूर्नामेंट खेलने से शुरू किया था और अब वे भारत को गेमिंग में इंटरनेशनल लेवल पर रिप्रेजेंट करेंगे.

27 साल के RITE2ACE यानी Tejas Sawant के बारे में बात करें तो वे पिछले 10-15 साल से Counter-Strike 1.6 और CSGO खेल रहे थे. खास बात ये भी है कि उन्हें अपनी पहली सैलरी वीडियो गेम्स खेलते हुए मिली थी. टीम Velocity पहले Vertigo के तौर पर जानी जाती थी. इसे अर्ली EU बीटा डेज में फॉर्म किया गया था. वो Entity CSGO के लिए Excali और Amaterasu के साथ खेलते रहे. लेकिन ये टीम 2020 की शुरुआत में बंद हो गई.

बाद में उन्होंने Amaterasu के साथ Global Esports CSGO डिवीजन जॉइन कर लिया और Excali फ्री एजेंट था. जब वे Valorant में स्विच किए तब ViPeRRR यानी Vibhor और Antidote टीम Vertigo से उनके साथ जुड़े. उनका कहना है कि बाकी सब इतिहास है.

इसके बाद हम पहुंचे कोलकाता के 24 साल के ANTIDOTE यानी सब्यसाची बोस और EXCALI यानी करण के पास. सब्यसाची पहले क्रिकेट खेला करते थे. उन्होंने क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ बंगाल और ईस्ट जोन्स टीमों के लिए खेला है. इसके बाद वे Counterstrike से इंट्रोड्यूस हुए और ई-स्पोर्ट्स प्रोफेशनल बनने के लिए निकल पड़े.

करण म्हसवडकर एक्स-प्रोफेशनल CSGO प्लेयर रहे हैं, जिन्होंने दिमाग में केवल बेस्ट बनने और इंटरनेशल मैच खेलने के ख्याल से Valorant खेलना शुरू किया था. अब ये सिंगापुर में बड़ी प्राइज मनी के लिए साउथ एशियन टीमों के साथ भिड़ेंगे.

अगर आप उनके गेम को फॉलो कर रहे हैं तो टीम के पास आपके लिए एक टिप है, जो आपकी स्किल को परफेक्ट करने के काम आएंगे. ई-स्पोर्ट्स बाकी दूसरे स्पोर्ट्स की तरह ही है. आपको प्रैक्टिस करनी होगी और मसल मेमोरी बनाना होगा. यहां कोई शॉर्टकट या चीट कोड नहीं होते. डेमो देखें और प्रोफेशनल्स से सीखने की कोशिश करें. डेडिकेशन ना जाने दें और मेहनत जारी रखें.

यहां से देख सकते हैं India Today League Valorant Cup की ग्रैंड फिनाले:

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें