scorecardresearch
 

फैक्ट चेक: तालिबान शासन की बर्बरता दिखाने के लिए शेयर हुआ ISIS का पुराना वीडियो

तालिबानी क्रूरता की ऐसी चर्चाओं के बीच सोशल मीडिया पर एक व्यक्ति को पत्थर मारकर मौत की सजा देने का वीडियो वायरल हो रहा है. दावा किया जा रहा है कि तालिबान इस तरह की क्रूरता को बढ़ावा दे रहा है.

तालिबान शासन की बर्बरता दिखाने के लिए शेयर हुआ ISIS का पुराना वीडियो तालिबान शासन की बर्बरता दिखाने के लिए शेयर हुआ ISIS का पुराना वीडियो

अफगानिस्तान की तालिबानी हुकूमत ने ऐलान किया है कि जुर्म करने वालों को शरिया कानून के मुताबिक सजा दी जाएगी. इसके लिए तालिबान सरकार ने एक खास मंत्रालय का गठन किया है जो “चोरी करने पर हाथ काटने और अवैध सबंध बनाने पर पत्थरबाजी की सजा मुकर्रर करेगा."

तालिबानी क्रूरता की ऐसी चर्चाओं के बीच सोशल मीडिया पर एक व्यक्ति को पत्थर मारकर मौत की सजा देने का वीडियो वायरल हो रहा है. दावा किया जा रहा है कि तालिबान इस तरह की क्रूरता को बढ़ावा दे रहा है.  

 

एक फेसबुक यूजर ने वीडियो को शेयर करते हुए लिखा है, “चेतावनी -बेहद खौफनाक. जो कहते हैं कि तालिबान बदल गया है, अफगानिस्तान का यह डरावना वीडियो देखिए जिसमें एक आदमी को पत्थर मारकर मौत की सजा दी जा रही है. ये वही हैं, बाइडेन प्रशासन जिनका तुष्टिकरण कर रहा है.”

 

 

पोस्ट का आर्काइव वर्जन यहां देखा जा सकता है.

इंडिया टुडे एंटी फेक न्यूज वॉर रूम (AFWA) ने पाया कि ये वायरल वीडियो 2018 का है जब इस्लामिक स्टेट के आतंकियों ने 60 साल के एक व्यक्ति  को पत्थर मार-मारकर उसकी हत्या कर दी थी.

AFWA की पड़ताल

हमने वायरल वीडियो के कीफ्रेम काटकर रिवर्स सर्च किया तो पाया कि यही वीडियो 2018 में कई यूजर्स ने ​शेयर किया था. एक यूजर ने वीडियो के साथ फारसी में कैप्शन लिखा था, जिसका हिंदी अनुवाद कुछ इस तरह है, “अफगानिस्तान में ISIS के उग्रवादियों ने एक 60 वर्षीय रेप के आरोपी की पत्थर मारकर हत्या कर दी.”

इस पोस्ट के आधार पर हमने फारसी के कुछ की​वर्ड्स की मदद से गूगल सर्च किया तो हमें कई फारसी वेबसाइट पर छपी खबरें मिलीं. इन खबरों में अफगानिस्तान के दरजाब जिले में हुई 'पत्थरबाजी' के बारे में बताया गया है, जिसमें एक 60 वर्षीय रेप के आरोपी को मार दिया गया था.  

इस घटना के बारे में एक चश्मदीद ने बीबीसी को बताया कि ये आदमी दरजाब जिले के मोंगल गांव का रहने वाला था. उसके शव को बिना किसी रीति रिवाज के दफना दिया गया. बीबीसी के मुताबिक, ये वाकया फरवरी 2018 के आसपास का है.

जाहिर है कि ये वीडियो न तो हाल-फिलहाल का है और न ही ये तालिबान से जुड़ा है. ये 2018 का वीडियो है जब ISIS के आतंकियों ने एक व्यक्ति को पत्थर मार-मारकर उसकी हत्या कर दी थी. हालांकि, तालिबान भी इस तरह की क्रूरताओं के लिए कुख्यात है.

फैक्ट चेक

 सोशल मीडिया यूजर्स

दावा

हाल ही में अफगानिस्तान में तालिबानियों ने एक व्यक्ति को पत्थर मारकर मौत की सजा दी.

निष्कर्ष

ये वीडियो फरवरी, 2018 के आसपास का है जब अफगानिस्तान में ISIS के आतंकियों ने एक 60 वर्षीय रेप के आरोपी को पत्थर मारकर मौत की सजा दी थी. हालांकि, तालिबान शासन में भी बर्बरतापूर्ण सजा देने की खबरें सामने आ रही हैं.

झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • कौआ: आधा सच
  • कौवे: ज्यादातर झूठ
  • कौवे: पूरी तरह गलत
 सोशल मीडिया यूजर्स
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें