scorecardresearch
 

पूर्व राष्ट्रपति कोविंद ने नहीं की कांग्रेस की तारीफ, वायरल बयान फर्जी है

पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के नाम पर फर्जी पोस्ट वायरल हो रही है. इंडिया टुडे की फैक्ट चेक टीम ने पाया कि कोविंद ने कांग्रेस की तारीफ करते हुए ऐसा कोई बयान नहीं दिया है.

X
पूर्व राष्ट्रपति कोविंद को लेकर फर्जी पोस्ट वायरल
पूर्व राष्ट्रपति कोविंद को लेकर फर्जी पोस्ट वायरल

सोशल मीडिया पर कई लोग ऐसा कह रहे हैं कि राष्ट्रपति पद छोड़ते ही रामनाथ कोविंद कांग्रेस पार्टी की तारीफों के पुल बांधने लगे हैं.

 दरअसल पूर्व राष्ट्रपति कोविंद के नाम पर एक बयान सोशल मीडिया पर वायरल है जिसमें उनकी एक तस्वीर के साथ लिखा है, "गांधी के रास्ते पर चलकर ही भारत दुनिया में तरक्की कर सकता है कांग्रेस ने इस देश को काफी आगे बढाया है". इसके ठीक नीचे "रामनाथ कोविंद पूर्व राष्ट्रपति" लिखा है.

 कहा जा रहा है कि कोविंद ने ये बयान राष्ट्रपति पद से हटने के बाद दिया है.

मिसाल के तौर पर, एक फेसबुक यूजर ने इसे शेयर करते हुए लिखा, "राष्ट्रपति पद जाने के बाद सच बोल ही दिया आपने आप बिल्कुल सही बोले कांगेस ने भारत को बनाया है, कांग्रेस ही भारत को आगे बढ़ाएगी क्योकि कांग्रेस ही भारत है".

 ऐसे ही एक ट्वीट का आर्काइव्ड वर्जन यहां देखा जा सकता है.

इंडिया टुडे की फैक्ट चेक टीम ने पाया कि कोविंद ने कांग्रेस की तारीफ करते हुए ऐसा कोई बयान नहीं दिया है. उनके प्राइवेट सेक्रेटरी ने खुद 'आजतक' से इस बात की पुष्टि की है. हालांकि ये सच है कि कोविंद ने महात्मा गांधी के मार्ग पर चलने की बात कई बार कही है.

कैसे पता लगाई सच्चाई?

सबसे पहले हमने पूर्व राष्ट्रपति कोविंद के इस कथित बयान के बारे में सर्च किया. लेकिन हमें कांग्रेस की तारीफ से जुड़ा उनका कोई बयान नहीं मिला. हालांकि हमें 'पंजाब केसरी' की 23 जुलाई की न्यूज रिपोर्ट में उनका एक ऐसा बयान मिला जिसमें उन्होंने गांधी जी के रास्ते पर चलने की बात कही थी.

ये संसद के सेंट्रल हॉल में कोविंद के लिए आयोजित किए गए विदाई समारोह की न्यूज रिपोर्ट है. रिपोर्ट के मुताबिक, कोविंद ने देशवासियों से अपील की थी कि वे सरकार के सामने अपनी कोई भी मांग रखने के लिए या किसी बात का विरोध करते समय गांधीवादी तरीके अपनाएं.

कार्यकाल खत्म होने से पहले 24 जुलाई, 2022 को कोविंद ने राष्ट्रपति के रूप में देश को अंतिम बार सम्बोधित किया था. इस भाषण में उन्होंने कहा था कि महात्मा गांधी ने देश को नई दिशा दी है.

इसी दिन भारतीय राष्ट्रपति के वेरिफाइड ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया गया था कि कोविंद ने देशवासियों को महात्मा गांधी के जीवन से प्रेरणा लेने के लिए कहा है.

लेकिन हमें ऐसा कोई ट्वीट नहीं मिला जिसमें लिखा हो कि कोविंद ने कांग्रेस की तारीफ की.

किसने फैलाई ये फर्जी खबर?

फर्जी बयान वाली पूर्व राष्ट्रपति कोविंद की फोटो पर एक छोटा-सा लोगो दिख रहा है जिसके आगे 'वायरल इन इंडिया.net' लिखा है. इस नाम को सर्च करने पर हमें एक फेसबुक पेज मिला. रिपोर्ट लिखे जाने तक इसके पोस्ट देखे नहीं जा सके थे.

वेबैक मशीन पर इस पेज का आर्काइव्ड वर्जन मौजूद है. इसमें 'वायरल इन इंडिया' का वही लोगो देखा जा सकता है जो कोविंद के नाम पर वायरल हो रहे बयान वाली फोटो में नजर आ रहा है. यानी, इस बात की काफी संभावना है कि ये अफवाह इसी पेज को चलाने वालों ने फैलाई होगी.

इस पेज के बारे में थोड़ी और खोजबीन करने पर हमें 'नवभारत टाइम्स' की 2018 की एक न्यूज रिपोर्ट मिली. इसमें बताया गया है कि इस नाम का एक फेसबुक पेज और उसकी वेबसाइट अक्सर गलत जानकारियां फैलाते हैं.

इस न्यूज रिपोर्ट में कुछ फर्जी खबरों और सोशल मीडिया पोस्ट्स के बारे में बताया गया है जो ‘Viral in India’ ने शेयर की थीं. इनमें कोविंद का कांग्रेस की तारीफ करने वाला कथित बयान भी शामिल है. गौर करने वाली बात ये है कि अगस्त 2018 की इस न्यूज रिपोर्ट में बयान के साथ रामनाथ कोविंद को 'राष्ट्रपति' के रूप में सम्बोधित किया गया है. जबकि अभी जो बयान वायरल हो रहा है उसमें उनके नाम के साथ 'पूर्व राष्ट्रपति' लिखा हुआ है.

इस बारे में हमने पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के प्राइवेट सेक्रेटरी अमरीक सिंह से भी बातचीत की. उन्होंने 'आजतक' को बताया कि कोविंद ने कभी भी कांग्रेस की तारीफ करते हुए इस प्रकार का बयान नहीं दिया है.

साफ है, कोविंद के नाम पर वायरल ये फर्जी बयान कम से कम चार सालों से इंटरनेट पर घूम रहा है.

(रिपोर्ट: संजना सक्सेना)

फैक्ट चेक

सोशल मीडिया यूजर्स

दावा

रामनाथ कोविंद ने राष्ट्रपति पद से रिटायर होते ही बयान दिया है कि कांग्रेस पार्टी ने हमारे देश को काफी आगे बढ़ाया है.

निष्कर्ष

पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कांग्रेस की तारीफ करते हुए इस तरह का कोई बयान नहीं दिया है. उनके प्राइवेट सेक्रेटरी अमरीक सिंह ने खुद 'आजतक' से इस बात की पुष्टि की है.

झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • कौआ: आधा सच
  • कौवे: ज्यादातर झूठ
  • कौवे: पूरी तरह गलत
सोशल मीडिया यूजर्स
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें