scorecardresearch
 

फैक्ट चेक- मेजर विभूति शंकर की शहादत की दो साल पुरानी घटना अभी की बताकर हुई शेयर

सोशल मीडिया पर कुछ तस्वीरें जमकर शेयर की जा रही हैं, जिसमें एक महिला को एक ताबूत पकड़े रोते हुए देखा जा सकता है. तस्वीरों के साथ दावा किया जा रहा है कि ये महिला विभूति शंकर नाम के एक मेजर की पत्नी हैं जो अब विधवा हो गई हैं.

X
वायरल तस्वीर वायरल तस्वीर

सोशल मीडिया पर कुछ तस्वीरें जमकर शेयर की जा रही हैं, जिसमें एक महिला को एक ताबूत पकड़े रोते हुए देखा जा सकता है. तस्वीरों के साथ दावा किया जा रहा है कि ये महिला विभूति शंकर नाम के एक मेजर की पत्नी हैं जो अब विधवा हो गई हैं. वायरल पोस्ट में दो तस्वीरें किसी शोक सभा की लग रही हैं जहां लोग रोते हुए नजर आ रहे हैं. तीसरी तस्वीर में एक आदमी को भारतीय सेना की वर्दी में देखा जा सकता है. दावे में ये भी कहा गया है कि मेजर विभूति शंकर की शादी आठ महीने पहले हुई थी और वे अपने मां बाप के इकलौते बेटे थे.   

इंडिया टुडे एंटी फेक न्यूज़ वॉर रूम (AFWA) ने पाया कि ये तकरीबन दो साल पुरानी खबर है जिसे अभी का बताकर शेयर किया जा रहा है. मेजर विभूति शंकर ढौंडियाल फरवरी 2019 में पुलवामा में आतंकवादियों से हुई एक मुठभेड़ में शहीद हुए थे. 

इन तस्वीरों को शेयर करते हुए सोशल मीडिया यूज़र्स कैप्शन में लिख रहे हैं- "8 महीने पहले हुई थी, शादी मां बाप के इकलौते पुत्र थे मेजर विभूति शंकर जी और आज इनकी पत्नी विधवा हो गई." फेसबुक पर ये पोस्ट काफी वायरल है. ट्विटर पर भी कुछ लोगों ने इसे साझा किया है. वायरल पोस्ट का आर्काइव यहां देखा जा सकता है 

खोजने पर हमें इन तस्वीरों से जुड़ी कई न्यूज़ रिपोर्ट्स मिली. ये रिपोर्ट्स पिछले साल फरवरी में शहीद हुए मेजर विभूति शंकर को लेकर हैं, इन रिपोर्ट्स में अब वायरल हो रही तस्वीरों जैसी कई तस्वीरों को देखा जा सकता है. तस्वीरें उस समय खींची गई थी जब मेजर विभूति का पार्थिव शरीर उनके देहरादून स्थित घर पर रखा गया था. इस दौरान मेजर विभूति की पत्नी निकिता कौल बेसुध होकर रोने लगी थीं.   

55 राष्ट्रीय राइफल्स के मेजर विभूति शंकर 18 फरवरी 2019 को कश्मीर के पुलवामा में शहीद हुए थे. मेजर विभूति शंकर की आतंकवादियों के साथ ये मुठभेड़ पुलवामा आतंकी हमले के कुछ दिन बाद ही हुई थी. ‘द टेलीग्राफ’ की एक खबर के मुताबिक शहीद होने के आठ महीने पहले ही मेजर विभूति की निकिता से शादी हुई थी. मेजर विभूति की वीरता के लिए उन्हें मरणोपरांत शौर्य चक्र दिया गया था. 

बता दें कि ठीक एक साल बाद यानी फरवरी 2020 में खबर आई थी कि मेजर विभूति की पत्नी निकिता ने शॉ‍र्ट सेलेक्शन कमीशन की परीक्षा और इंटरव्यू पास कर लिया है और वो भारतीय सेना में भर्ती होने वाली हैं. यहां पर ये साबित हो जाता है कि वायरल पोस्ट में जिस घटना का जिक्र है वो सच है लेकिन लगभग दो साल पुरानी है.

फैक्ट चेक

सोशल मीडिया यूजर्स

दावा

तस्वीर में दिख रही महिला विभूति शंकर नाम के एक मेजर की पत्नी हैं जो अब विधवा हो गई है.

निष्कर्ष

ये तकरीबन दो साल पुरानी खबर है जिसे अभी का बताकर शेयर किया जा रहा है. मेजर विभूति शंकर ढौंडियाल फरवरी 2019 में पुलवामा में आतंकवादियों से हुई मुठभेड़ में शहीद हुए थे.

झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • कौआ: आधा सच
  • कौवे: ज्यादातर झूठ
  • कौवे: पूरी तरह गलत
सोशल मीडिया यूजर्स
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें