scorecardresearch
 

फैक्ट चेक: इन वायरल तस्वीरों में न्यूजीलैंड नहीं कर रहा किसान आंदोलन का समर्थन

सोशल मीडिया पर दो तस्वीरें वायरल हो रही हैं. एक तस्वीर में न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डर्न दिख रही हैं जिन्होंने काले रंग का स्कार्फ पहना है. दूसरी तस्वीर में न्यूजीलैंड का एक काला हवाई जहाज है. दोनों तस्वीरों को शेयर करते हुए सोशल मीडिया यूजर्स दावा कर रहे हैं कि भारतीय किसानों के समर्थन में न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री ने काली पोशाक पहनी है.

वायरल तस्वीर वायरल तस्वीर

कृषि कानूनों के खिलाफ किसान आंदोलन के छह महीने पूरे होने पर 26 मई 2021 को काला दिवस मनाया गया. दिल्ली से सटे गाजीपुर बॉर्डर पर किसान नेता राकेश टिकैत समेत बड़ी संख्या में किसान इकट्ठा हुए थे. किसानों ने हाथों में काले झंडे लेकर केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन भी किया था.

इसी बीच सोशल मीडिया पर दो तस्वीरें वायरल हो रही हैं. एक तस्वीर में न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डर्न दिख रही हैं जिन्होंने काले रंग का स्कार्फ पहना है. दूसरी तस्वीर में न्यूजीलैंड का एक काला हवाई जहाज है. दोनों तस्वीरों को शेयर करते हुए सोशल मीडिया यूजर्स दावा कर रहे हैं कि भारतीय किसानों के समर्थन में न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री ने काली पोशाक पहनी है और अपने जहाज को काला करवा दिया है.

इंडिया टुडे एंटी फेक न्यूज वॉर रूम (AFWA) ने पाया कि वायरल तस्वीरों के साथ किया जा रहा दावा गलत है. असल में पुरानी तस्वीरों के जरिये लोगों में भ्रम फैलाकर इसे किसान आंदोलन से जोड़ा जा रहा है.

एक ट्विटर यूजर ने कैप्शन में लिखा, "#BJP4India और @Gajjusay वाले ... तुम सिर्फ "वसुदैव कुटुंब" कम का खोखला नारा ही देते हो. ये है न्यूज़ीलैंड की PM, 26 मई को भारतीय किसानों को समर्थन दिया काली पोशाक और अपने जहाज को काला करवा कर."

फेसबुक और ट्विटर पर ये तस्वीर काफी वायरल है. इस पोस्ट का आर्काइव यहां और यहां देखा जा सकता है.

बिंग रिवर्स इमेज सर्च की मदद से हमें न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डर्न की तस्वीर 'Getty Images' की वेबसाइट पर मिली. तस्वीर के साथ दी गई जानकारी के मुताबिक, न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री की वायरल तस्वीर मार्च 2019 की है, जब अर्डर्न ने शूटिंग में मारे गए लोगों के परिवार के सदस्यों को समर्थन और संवेदना देने के लिए मुस्लिम समुदाय के सदस्यों से मुलाकात की थी.

दरअसल, एक बंदूकधारी शख्स ने 15 मार्च 2019 को न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च शहर की दो मस्जिदों में गोलियां चलाई थीं. उस हमले में  51 लोग मारे गए थे. आरोपी का नाम ब्रेंटन टैरंट (Brenton Tarrant) है. पूरी घटना को ब्रेंटन ने फेसबुक पर लाइव दिखाया था, जिसके बाद ब्रेंटन टैरेंट को बिना पैरोल के आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई थी.

काले जहाज की वायरल तस्वीर खोजने पर हमें ये तस्वीर एयर न्यूजीलैंड के यूट्यूब चैनल के एक वीडियो के थंबनेल में मिली. ये तस्वीर 8 दिसंबर 2010 को अपलोड हुई थी. वीडियो में एयर न्यूजीलैंड ने अपने नये जहाज के डिजाइन के बारे में बताया गया था.

वायरल तस्वीर में दिख रहा विमान एयर न्यूजीलैंड का बोइंग 777-300ER है. इस विमान को सबसे पहले 12 जनवरी 2012 में ऑकलैंड अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर लैंड कराया गया था.

हमें ऐसी कोई न्यूज़ रिपोर्ट नहीं मिली जिसमें न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डर्न ने भारत में हो रहे किसान अंदोलन के समर्थन में कुछ बयान दिया हो.

पड़ताल से यह साफ़ हो जाता है कि न्यूजीलैंड किसानों के समर्थन में नहीं खड़ा है. वायरल तस्वीरें पुरानी हैं और भारत में चल रहे किसान आंदोलन से इनका कोई लेना-देना नहीं है.

(सोनाली खट्टा के इनपुट के साथ)

फैक्ट चेक

सोशल मीडिया यूजर्स

दावा

भारतीय किसानों के समर्थन में न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डर्न ने काली पोशाक पहनी और अपने देश के जहाज को काला भी कराया.

निष्कर्ष

न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डर्न और न्यूजीलैंड जहाज की तस्वीरें पुरानी हैं. सोशल मीडिया के जरिये तस्वीर को किसान आंदोलन से जोड़कर लोगों में भ्रम फैलाने की कोशिश की जा रही है.

झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • कौआ: आधा सच
  • कौवे: ज्यादातर झूठ
  • कौवे: पूरी तरह गलत
सोशल मीडिया यूजर्स
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें