scorecardresearch
 

फैक्ट चेक: बाढ़ पर नीतीश को घेरने के लिए कांग्रेस ने इस्तेमाल की कोलकाता की तस्वीर

इंडिया टुडे एंटी फेक न्यूज वॉर रूम (AFWA) ने पाया कि ये पोस्ट भ्रामक है. हालांकि, बिहार में बाढ़ का कहर जारी है, लेकिन बिहार कांग्रेस की ओर से जो तस्वीर पोस्ट की गई है, वह मई, 2020 में पश्चिम बंगाल में आए चक्रवाती तूफान अम्फान की है.

बिहार में बाढ़ का कहर (प्रतीकात्मक तस्वीर) बिहार में बाढ़ का कहर (प्रतीकात्मक तस्वीर)

बिहार कोरोना और बाढ़ की दोहरी समस्या से जूझ रहा है. राज्य में बाढ़ की वजह से 14 जिलों के करीब 50 लाख लोग प्रभावित हुए हैं. बिहार में इस साल के अंत में चुनाव होने वाले हैं, इसलिए विपक्ष संकट से निपटने में कथित नाकामी को लेकर नीतीश कुमार सरकार पर निशाना साधने का कोई मौका नहीं छोड़ रहा है.

बिहार कांग्रेस के वेरीफाइड फेसबुक पेज पर एक महिला की तस्वीर पोस्ट की गई, जो पानी से भरी एक गली से गुजर रही है. इस तस्वीर के साथ हिंदी में लिखा गया है, 'नीतीश कुमार का सुशासन पानी में तैर रहा है. मुजफ्फरपुर, भागलपुर, बिहार शरीफ और पटना को स्मार्ट सिटी बनाने की लिए चुना गया था जो आज भी बरसात के पानी जलभराव से परेशान है. बिहार का संकल्प, बदलाव ही विकल्प.'

image-1_080520092523.jpg

इंडिया टुडे एंटी फेक न्यूज वॉर रूम (AFWA) ने पाया कि ये पोस्ट भ्रामक है. हालांकि, बिहार में बाढ़ का कहर जारी है, लेकिन बिहार कांग्रेस की ओर से जो तस्वीर पोस्ट की गई है, वह मई, 2020 में पश्चिम बंगाल में आए चक्रवाती तूफान अम्फान की है.

बिहार कांग्रेस के वेरीफाइड ट्विटर हैंडल से भी यही तस्वीर इन्हीं पंक्तियों के साथ पोस्ट की गई है. इसके अलावा कई सोशल मीडिया यूजर्स भी ये पोस्ट शेयर कर रहे हैं.

इन पोस्ट के आर्काइव यहां , यहां और यहां देखे जा सकते हैं.

AFWA की पड़ताल

तस्वीर को रिवर्स सर्च करने पर हमने पाया कि ये तस्वीर “GISuser ” पर एक आर्टिकल में इस्तेमाल की गई है, जो 18 जून, 2020 को छपा है. यहां तस्वीर के साथ कैप्शन में लिखा है, “पिछले महीने कोलकाता में सुपर-साइक्लोन अम्फान की वजह से आई बाढ़.”

यही तस्वीर हमें फोटोग्राफी एजेंसी “Alamy” के फोटो स्टॉक में भी मिली. यह तस्वीर 21 मई को कोलकाता के फोटोग्राफर रूप डे ने खींची थी. यहां तस्वीर के कैप्शन में लिखा है, “भारत के पश्चिम बंगाल में चक्रवाती तूफान "अम्फान" के आने के बाद वाहनों, पैदल यात्रियों और उखड़े हुए पेड़ों के साथ बाढ़ के पानी से भरी सड़कें.” हमने यह भी पाया कि सड़क पर दाईं ओर खड़ी सफेद कार का रजिस्ट्रेशन नंबर पश्चिम बंगाल का है.

image-2_080520092744.jpg

अम्फान एक भयानक चक्रवाती तूफान था, जो मई, 2020 में आया था. इसने पूर्वी भारत में, खासकर पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश में भारी नुकसान पहुंचाया था. इस तूफान के चलते पश्चिम बंगाल में करीब 100 लोगों की मौत हो गई थी.

पड़ताल से साफ है कि बिहार भले ही बाढ़ की समस्या से जूझ रहा है, लेकिन पानी से भरी गली में चल रही महिला की वायरल तस्वीर बिहार की नहीं है. ये तस्वीर चक्रवाती तूफान अम्फान के आने के दौरान कोलकाता में खींची गई थी.

फैक्ट चेक

सोशल मीडिया यूजर्स

दावा

बारिश के बाद पानी से भरी सड़क से गुजरती महिला की ये तस्वीर बिहार की दुर्दशा के बारे में बताती है.

निष्कर्ष

यह सही है कि बिहार में बाढ़ के चलते हालात खराब हैं, लेकिन ये वायरल तस्वीर कोलकाता में खींची गई थी, जब मई में अम्फान नाम का तूफान आया था.

झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • कौआ: आधा सच
  • कौवे: ज्यादातर झूठ
  • कौवे: पूरी तरह गलत
सोशल मीडिया यूजर्स
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें