scorecardresearch
 

फैक्ट चेक: अयोध्या का नहीं है लेजर शो का ये अद्भुत वीडियो

इंडिया टुडे एंटी फेक न्यूज वॉर रूम (AFWA) ने पाया कि वीडियो के साथ किया जा रहा दावा गलत है. वीडियो एक साल से ज्यादा पुराना है और महाराष्ट्र के नंदूरबार जिले के शहादा का है.

वायरल हो रही तस्वीर वायरल हो रही तस्वीर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अयोध्या में राम मंदिर की नींव रखते ही मंदिर निर्माण का शुभारंभ हो गया है. इसके साथ ही सालों से इस घड़ी का इंतजार कर रहे राम भक्तों का सपना भी साकार होने जा रहा है. इस भूमि पूजन के लिए अयोध्या में कई दिनों से तैयारियां चल रही थीं और पूरे नगर को खूब सजाया गया था. इसी के मद्देनजर सोशल मीडिया पर एक लेजर शो का वीडियो भी वायरल होने लगा. इस वीडियो के साथ लोगों ने दावा किया कि लेजर शो का ये आयोजन अयोध्या में राम मंदिर भूमि पूजन के लिए किया गया है.

अयोध्या में भूमि पूजन की तैयारी अपने अंतिम रूप में है अवश्य देखिएगा, और आनंदित हो जाइए 💐💐🙏😊

Posted by Manoj Kumar on Sunday, August 2, 2020

वीडियो में एक भरे बाजार में रोड पर लेजर लाइट शो होते हुए देखा जा सकता है. लेजर लाइट के जरिये एक बड़े परदे पर श्री राम, हनुमान और राम मंदिर के रूप को प्रस्तुत किया जा रहा है. साथ ही परदे पर श्रीराम और हनुमान से जुड़े धार्मिक शब्द भी चल रहे हैं.

इंडिया टुडे एंटी फेक न्यूज वॉर रूम (AFWA) ने पाया कि वीडियो के साथ किया जा रहा दावा गलत है. वीडियो एक साल से ज्यादा पुराना है और महाराष्ट्र के नंदूरबार जिले के शहादा का है.

इस वीडियो को अयोध्या में भूमि पूजन से जोड़ते हुए जमकर शेयर किया जा रहा है. वीडियो के साथ कैप्शन में लिखा है, "अयोध्या में भूमि पूजन की तैयारी अपने अंतिम रूप में है अवश्य देखिएगा, और आनंदित हो जाइए". यही वीडियो कई और कैप्शन के साथ सोशल मीडिया पर वायरल है. वायरल पोस्ट का आर्काइव यहां देखा जा सकता है.

कैसे की पड़ताल?

वीडियो को इंटरनेट पर इन-विड टूल की मदद से खोजने पर पता चला कि इस वीडियो को अप्रैल, 2019 में कई लोगों ने शेयर किया था. इससे इतनी बात तो साफ हो गई कि वीडियो एक साल से ज्यादा पुराना है और इसका भूमि पूजन से कोई लेना-देना नहीं है.

अब पता लगाना था कि वायरल वीडियो किस जगह का है. वीडियो को पिछले साल कई लोगों ने अलग-अलग जगह का बताकर पोस्ट किया था. कुछ का कहना था कि वीडियो गुजरात के जामनगर का बताया था.

वीडियो में हमें एक जगह "Dwarka Emporium" का एक बोर्ड दिखा. इंटरनेट पर खोजने पर हमें महाराष्ट्र के शहादा स्थित "Dwarka Emporium" नाम की एक दुकान का फोन नंबर मिला. फ़ोन लगाने पर हमारी बात दुकान के मालिक पंकज टिकेकर से हुई. सच्चाई जानने के लिए हमने वायरल वीडियो पंकज को भेजा. पंकज ने हमें बताया कि ये वीडियो उन्हीं की दुकान के बाहर का है. उनका कहना था कि ये वीडियो एक या दो साल पुराना है और रामनवमी के वक्त का है. पंकज के मुताबिक, इस लेजर शो का आयोजन बजरंग दल ने करवाया था.

1_080520073219.png

यूट्यूब पर हमें इसी लेजर शो का एक दूसरा वीडियो भी मिला, जिसे 14 अप्रैल, 2019 यानी पिछले साल की राम नवमी पर अपलोड किया गया था. इस यूट्यूब वीडियो को भी शहादा का बताया गया है. यहां पर इस बात की पुष्टि होती है कि वीडियो शहादा का ही है.

हमारी पड़ताल में ये साबित होता है कि वीडियो के साथ किया जा रहा दावा गलत है. ये वीडियो पुराना है और अयोध्या का नहीं, बल्कि महाराष्ट्र का है.

फैक्ट चेक

सोशल मीडिया यूजर्स

दावा

लेजर शो का ये वीडियो अयोध्या का है जिसका आयोजन राम मंदिर भूमि पूजन के लिए किया गया.

निष्कर्ष

ये वीडियो एक साल से ज्यादा पुराना है और महाराष्ट्र के नंदूरबार जिले के शहादा का है. शहादा में रामनवमी के अवसर पर ये आयोजन किया गया था.

झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • कौआ: आधा सच
  • कौवे: ज्यादातर झूठ
  • कौवे: पूरी तरह गलत
सोशल मीडिया यूजर्स
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें