scorecardresearch
 

फैक्ट चेक: शाहरुख खान ने नहीं किया ओवैसी की पार्टी के लिए प्रचार, फर्जी है ये तस्वीर

सोशल मीडिया पर शाहरुख खान की एक तस्वीर वायरल कर दावा किया जा रहा है कि वो ओवैसी की पार्टी के लिए प्रचार कर रहे हैं. लेकिन सच तो ये है कि शाहरुख की तस्वीर के साथ छेड़छाड़ कर उसे गलत दावे का साथ वायरल किया जा रहा है.

शाहरुख की यही तस्वीर वायरल की जा रही है, जो फेक है. शाहरुख की यही तस्वीर वायरल की जा रही है, जो फेक है.

अपने बेटे आर्यन खान के ड्रग्स मामले में फंसने के चलते बॉलीवुड एक्टर शाहरुख खान पिछले दिनों काफी चर्चा में रहे. हालांकि अब ये मामला शांत होता दिखाई दे रहा है क्योंकि आर्यन खान जमानत पर जेल से बाहर आ गए हैं. लेकिन सोशल मीडिया पर शाहरुख की एक फोटो के जरिए लोग अब दावा कर रहे हैं कि उन्होंने असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम के लिए प्रचार किया. वायरल तस्वीर में शाहरुख खान को सफेद टी-शर्ट पहने देखा जा सकता है जिस पर लिखा है "Vote for MIM" यानी "एमआईएम को वोट करें". साथ में टी-शर्ट पर एआईएमआईएम का चुनाव चिन्ह पतंग भी बना हुआ है.

ट्विटर और फेसबुक पर यह पोस्ट जमकर वायरल हो रही है. तस्वीर के साथ यूजर्स लिख रहे हैं कि शाहरुख खान हिंदू विरोधी हैं और एक ऐसे नेता का प्रचार कर रहे हैं जिसने 15 मिनट में 100 करोड़ हिंदुओं को मारने की बात कही थी. दरअसल, असदुद्दीन ओवैसी के भाई अकबरुद्दीन ओवैसी ने सालों पहले एक भड़काऊ बयान देते हुए कहा था कि अगर 15 मिनट के लिए पुलिस हटा दी जाए तो पता चल जाएगा कि 25 करोड़ मुसलमान ताकतवर हैं या 100 करोड़ हिंदू.क्या है तस्वीर की सच्चाई?
इंडिया टुडे ने अपनी जांच में पाया कि वायरल तस्वीर फर्जी है. मूल तस्वीर में शाहरुख खान की टी-शर्ट पर एआईएमआईएम को वोट देने वाली बात नहीं लिखी हुई है. तस्वीर को रिवर्स सर्च करने पर हमें असली तस्वीर कई वेबसाइट्स और ब्लॉग्स  में मिली. असली तस्वीर से साफ हो जाता है कि किसी ने एडिटिंग सॉफ्टवेयर की मदद से शाहरुख की टी-शर्ट पर "Vote for MIM" जोड़ दिया है.

असली तस्वीर साल 2009 की है जब शाहरुख खान बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार की फिल्म 'ब्लू' के सेट पर अचानक पहुंच गए थे. इस दौरान शाहरुख और अक्षय ने साथ में कई तस्वीरें खिंचवाई थी जिन्हें "बॉलीवुड हंगामा" की फोटो गैलरी में देखा जा सकता है. दोनों की उस मुलाकात का यूट्यूब पर एक वीडियो भी मौजूद है. इस बारे में "द इंडियन एक्सप्रेस" ने भी सितंबर 2009 में एक खबर प्रकाशित की थी.  इससे पहले भी यह फर्जी तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो चुकी है. इसका खंडन करते हुए खबरें भी हुई हैं. यहां हमारी पड़ताल में स्पष्ट हो जाता है कि एक फोटोशॉप्ड तस्वीर के जरिए यह दावा किया गया है कि शाहरुख खान ओवैसी की पार्टी के लिए प्रचार कर रहे हैं.

फैक्ट चेक

सोशल मीडिया यूजर्स

दावा

फोटो में देखा जा सकता है कि कैसे शाहरुख खान असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम के लिए प्रचार कर रहे हैं.

निष्कर्ष

तस्वीर फर्जी है. मूल तस्वीर में शाहरुख खान की टी-शर्ट पर एआईएमआईएम को वोट देने वाली बात नहीं लिखी हुई है.

झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • कौआ: आधा सच
  • कौवे: ज्यादातर झूठ
  • कौवे: पूरी तरह गलत
सोशल मीडिया यूजर्स
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें