scorecardresearch
 

फैक्ट चेक: राजनाथ सिंह के नौ साल पुराने ‘कांग्रेस-सपा विरोधी बयान’ को एडिट करके बना दिया गया ‘बीजेपी विरोधी बयान’

बीजेपी के बड़े नेता और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है. इसमें वो अपनी ही सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलते नजर आ रहे हैं. वीडियो को पोस्ट करते हुए कई लोग दावा कर रहे हैं कि उन्होंने बीजेपी सरकार से बगावत कर दी है. हमारी टीम ने इसका फैक्ट चेक किया है.

X
सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह का एक बेहद चौंकाने वाला वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है. इस वीडियो में वो अपनी ही सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलते नजर आ रहे हैं. वीडियो को पोस्ट करते हुए कई लोग दावा कर रहे हैं कि उन्होंने बीजेपी सरकार से बगावत कर दी है.

वीडियो में राजनाथ किसी सभा में माइक पर बोल रहे हैं. वो कहते हैं, “मैं यही प्रधानमंत्री जी आपसे कहना चाहता हूं, जहां पाकिस्तान आज हमको आंख दिखा रहा है. आज वहां चाइना की सेना भी लद्दाख के क्षेत्र में घुसकर जिस तरीके से भारतवासियों को ललकारने की कोशिश कर रही है, प्रधानमंत्री जी, हमारे सेना के जवानों के हाथ मत बांधो.''

सीबीआई का जिस तरीके से सरकार दुरुपयोग कर रही है. सड़क, बिजली, पानी का संकट निरंतर गहरा होता जा रहा है. बेरोजगार नौजवानों के हाथों को जो रोजगार मिलना चाहिए, वह रोजगार इन्हें नहीं मिल पा रहा है. एक बरस के अंदर नरेन्द्र भाई सौ से अधिक सांप्रदायिक तनाव और सांप्रदायिक दंगे की घटनाएं इस हमारे उत्तर प्रदेश में हुई हैं.”  

इस बयान के बाद वॉइसओवर सुनाई देता है, “रक्षामंत्री राजनाथ सिंह उतरे मोदी की बगावत पर. पूरी भाजपा में पसर गया सन्नाटा”.

वीडियो को पोस्ट करते हुए एक फेसबुक यूजर ने लिखा, “राजनाथ ने भाजपा को मारी लात, संभाल जाओ देशवासियों ये सब कुछ बेच डालेगा.”

 
इंडिया टुडे की फैक्ट चेक टीम ने पाया कि ये वीडियो न सिर्फ पुराना है बल्कि एडिटेड भी है. असली वीडियो साल 2013 का है, जिसमें काट-छांट करके ये दिखाने की कोशिश की गई है कि राजनाथ ने बीजेपी सरकार के खिलाफ बयान दिया.

कैसे पता लगाई सच्चाई?  

हमने वायरल वीडियो के कीफ्रेम्स को यांडेक्स सर्च इंजन पर सर्च किया. ऐसा करने पर हमें ये वीडियो बीजेपी के आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर मिल गया. यहां इसे 19 अक्टूबर, 2013 को पोस्ट किया गया था.

ये वीडियो कानपुर में 19 अक्टूबर, 2013 को आयोजित बीजेपी की ‘विजय शंखनाद रैली’ का है, जिसमें राजनाथ सिंह के अलावा नरेंद्र मोदी भी मौजूद थे. उस वक्त मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे और कुछ ही समय पहले उन्हें बीजेपी ने प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित किया था.

इस रैली को लेकर मीडिया में भी काफी चर्चा हुई थी.

असली वीडियो में वायरल वीडियो वाली बातें आठ मिनट 30 सेकंड, नौ मिनट नौ सेकंड, नौ मिनट 48 सेकंड और 10 मिनट 48 सेकंड पर सुनी जा सकती हैं.  

कांग्रेस और सपा के जिक्र वाले हिस्से हटा दिए

असली वीडियो में राजनाथ ‘हमारे सेना के जवानों का हाथ मत बांधो’ वाले बयान से पहले यूपीए सरकार का नाम लेकर उसकी तीखी आलोचना करते हैं. ये हिस्सा वायरल वीडियो में हटा दिया गया है.

इसी तरह, सीबीआई के दुरुपयोग वाले बयान में वो साफ तौर पर कांग्रेस का नाम लेते हैं, पर वायरल वीडियो में ‘कांग्रेस’ शब्द भी गायब कर दिया गया है.

वहीं, यूपी में सौ से अधिक सांप्रदायिक दंगे होने वाली बात के बाद राजनाथ उत्तर प्रदेश की तत्कालीन समाजवादी पार्टी सरकार का नाम लेकर उसकी आलोचना करते हैं. ये वाला हिस्सा भी वायरल वीडियो में मौजूद नहीं है.  उत्तर प्रदेश में 2012 से 2017 तक समाजवादी पार्टी की सरकार थी. 

साफ पता लग रहा है कि ऐसा लोगों की आंखों में धूल झोंकने के लिए किया गया है ताकि वो वीडियो की असलियत न जान पाएं.

कुल मिलाकर बात साफ हो जाती है कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के एक पुराने बयान को हालिया दिखाने के लिए उसे एडिट करके शेयर किया जा रहा है.

फैक्ट चेक

सोशल मीडिया यूजर्स

दावा

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह बीजेपी सरकार के विरोध में उतर आए हैं.

निष्कर्ष

ये वीडियो साल 2013 का है जिसे एडिट करके हाल-फिलहाल का दिखाने की कोशिश की जा रही है.

झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • कौआ: आधा सच
  • कौवे: ज्यादातर झूठ
  • कौवे: पूरी तरह गलत
सोशल मीडिया यूजर्स
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें