scorecardresearch
 

फैक्ट चेक: राजस्थान में पिछले साल पुजारी को जिंदा जलाने की खबर वायरल, ताजा मामला बताकर प्रियंका पर निशाना

राजस्थान में पिछले साल एक पुजारी को जिंदा जलाकर मार दिया गया था. एक साल पुराना इसका वीडियो अब शेयर किया जा रहा है और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को निशाने पर लेते हुए पूछा जा रहा है कि वो राजस्थान कब जाएंगी.

पुराने वीडियो के बहाने पर प्रियंका पर निशाना. पुराने वीडियो के बहाने पर प्रियंका पर निशाना.

लखीमपुर खीरी हत्याकांड को लेकर इस समय कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा चर्चा में हैं. लेकिन सोशल मीडिया पर एक पोस्ट के जरिए प्रियंका से सवाल किया जा रहा है कि वे कांग्रेस शासित राज्य राजस्थान कब जाएंगी जहां एक पुजारी को जिंदा जला दिया गया है. पोस्ट में पुजारी को जला देने का दावा एक तस्वीर के साथ किया गया है जिसमें एक आदमी आग में झुलसा हुआ नजर आ रहा है.

पोस्ट में प्रियंका गांधी की आलोचना करते हुए कहा गया है कि वो ब्राह्मणों की नकली हितैषी हैं और पुजारी के मामले में कुछ नहीं बोलेंगी क्योंकि अपराध राजस्थान में हुआ है. फेसबुक पर ये पोस्ट काफी वायरल है.

क्या है सच्चाई?

इंडिया टुडे एंटी फेक न्यूज़ वॉर रूम (AFWA) ने पाया कि यह घटना सच है, लेकिन लगभग एक साल पुरानी है, ना कि हाल-फिलहाल की. ये मामला राजस्थान के करौली का था.

कुछ कीवर्ड्स की मदद से खोजने पर हमें इस मामले को लेकर पिछले साल अक्टूबर की कई खबरें मिलीं. इस घटना पर उस समय काफी बवाल हुआ था और कांग्रेस सरकार कटघरे में आ गई थी.

"दैनिक भास्कर" की रिपोर्ट के मुताबिक, घटना करौली जिले के सपोटरा इलाके में हुई थी जहां बाबूलाल वैष्णव नाम के एक पुजारी को कुछ लोगों ने पेट्रोल डालकर जला दिया था. इलाज के दौरान पुजारी की मौत हो गई थी. पुलिस का कहना था कि आरोपी मंदिर की जमीन पर कब्जा करना चाहते थे जिसका पुजारी ने विरोध किया था. इसी के चलते पुजारी को जिंदा जला दिया गया था. मामले का मुख्य आरोपी कैलाश मीणा नाम का एक व्यक्ति था. पीड़ित के आखिरी शब्द भी यही थे कि उसे "....कैलाश ने जलाया". कैलाश और कुछ अन्य आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था.

घटना के बाद गांव में काफी विरोध-प्रदर्शन हुआ था और पीड़ित के परिवार वालों ने सरकार से मुआवजा और सरकारी नौकरी की मांग की थी. यह सच है कि घटना पर प्रियंका गांधी और राहुल गांधी की चुप्पी पर बीजेपी नेताओं ने उन्हें घेरा था और सवाल उठाया था कि दोनों करौली कब जाएंगे. वायरल पोस्ट में दिख रही तस्वीर पीड़ित पुजारी की ही है जिसे "दैनिक भास्कर" ने छापा था.

यहां साफ हो जाता है कि राजस्थान की जिस घटना को लेकर प्रियंका गांधी से सवाल किए जा रहे हैं वो लगभग एक साल पुरानी है. घटना को इस तरह से पेश किया गया है जैसे यह हाल-फिलहाल में हुई हो.

फैक्ट चेक

सोशल मीडिया यूजर्स

दावा

प्रियंका गांधी वाड्रा कांग्रेस शासित राज्य राजस्थान कब जाएंगी जहां एक पुजारी को जिंदा जला दिया गया है.

निष्कर्ष

यह घटना सच है, लेकिन लगभग एक साल पुरानी है, ना कि हाल-फिलहाल की. मामला राजस्थान के करौली का था.

झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • कौआ: आधा सच
  • कौवे: ज्यादातर झूठ
  • कौवे: पूरी तरह गलत
सोशल मीडिया यूजर्स
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें