scorecardresearch
 

फैक्ट चेक: महंगाई से जुड़े सवालों पर पीएम मोदी को जनता ने दिए कड़े जवाब? इस वीडियो की हकीकत कुछ और ही है

इंडिया टुडे के एंटी फेक न्यूज वॉर रूम (AFWA) ने पाया कि ये वीडियो 25 अप्रैल 2022 को महंगाई के विरोध में हुए महाराष्ट्र कांग्रेस के एक अनोखे विरोध प्रदर्शन का है. इस प्रदर्शन में पीएम मोदी के एक पुराने भाषण में पूछे गए सवालों की ऑडियो क्लिप लाउडस्पीकर पर बजाई गई थी. इसके बाद उन सवालों का कांग्रेस नेताओं ने सामूहिक रूप से जवाब दिया था.

X
ये वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है ये वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है

सोशल मीडिया पर कुछ लोग एक वीडियो शेयर करते हुए कह रहे हैं कि एक सभा में महंगाई से जुड़े सवाल पूछने पर जनता ने सरेआम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बेइज्जती कर दी.

सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में कुछ लोग एक साथ खड़े दिख रहे हैं. बड़े-बड़े लाउडस्पीकर लगे हैं. कुछ सेकेंड्स बाद पीएम मोदी की आवाज में तीन सवाल पूछे जाते हैं. पहला सवाल, “आपका फायदा हुआ कि नहीं हुआ?” इस पर भीड़ में शामिल लोग हाथ ऊपर करके घुमाने लगते हैं और जवाब देते हैं, “नहीं हुआ”. दूसरा सवाल, “पेट्रोल के दाम कम हुए कि नहीं हुए?” लोग कहते हैं, “नहीं हुए”. अगला सवाल पूछा जाता है, “आपकी जेब में थोड़ा-बहुत पैसा बचने लगा है कि नहीं बचने लगा है?” ये सुनकर भी लोग कहते हैं, “नहीं”.

इस वीडियो को शेयर करते हुए ऐसा कहा जा रहा है कि जब पीएम मोदी ने एक हालिया सभा में महंगाई को लेकर ये सवाल पूछे तो त्रस्त जनता ने उन्हें बिना किसी लाग-लपेट के दो-टूक जवाब दे दिया.

मिसाल के तौर पर, एक फेसबुक यूजर ने ये वीडियो पोस्ट करते हुए लिखा, “जनता मोदी जी को पूरी ताकत से जवाब दे रही है। सुन रहे हैं ना मोदी जी? #PriceHike”


इंडिया टुडे के एंटी फेक न्यूज वॉर रूम (AFWA) ने पाया कि ये वीडियो 25 अप्रैल 2022 को महंगाई के विरोध में हुए महाराष्ट्र कांग्रेस के एक अनोखे विरोध प्रदर्शन का है. इस प्रदर्शन में पीएम मोदी के एक पुराने भाषण में पूछे गए सवालों की ऑडियो क्लिप लाउडस्पीकर पर बजाई गई थी. इसके बाद उन सवालों का कांग्रेस नेताओं ने सामूहिक रूप से जवाब दिया था.

क्या है इस वीडियो की कहानी?  

वीडियो को गौर से देखने पर उसमें लाउडस्पीकर पर बड़े-बड़े अक्षरों में ‘शेखर साउंड धुले’ लिखा हुआ देखा जा सकता है. ‘धुले’, महाराष्ट्र का एक जिला है. इसी तरह, वीडियो में कांग्रेस का चुनाव चिह्न यानी हाथ का पंजा भी नजर आ रहा है.

साथ ही, पीछे एक जगह ‘हिन्दुस्तान पेट्रोलियम’ का लोगो भी दिख रहा है.

ये देखकर हमें अंदाजा लगा कि ये धुले, महाराष्ट्र में किसी पेट्रोल पंप के पास का कांग्रेस का कोई आयोजन हो सकता है.

मराठी कीवर्ड्स की मदद से तलाशने पर हमें इस वीडियो से मिलती-जुलती तस्वीर मराठी न्यूज वेबसाइट ‘साम टीवी’  की 25 अप्रैल 2022 की एक रिपोर्ट में मिली. यहां बताया गया है कि ये वीडियो महंगाई के विरोध में किए गए कांग्रेस के एक विरोध प्रदर्शन का है जिसकी अगुवाई धुले ग्रामीण क्षेत्र के सांसद कुणाल पाटिल ने की थी.

महाराष्ट्र कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष नाना पटोले ने भी 25 अप्रैल को ये वीडियो ट्विटर पर पोस्ट किया था. साथ ही मराठी भाषा में कैप्शन लिखा था, जिसका हिंदी अनुवाद है, “धुले कांग्रेस कार्यकर्ता महंगाई के खिलाफ आंदोलन करते हुए.”

कुणाल पाटिल ने इस प्रदर्शन का एक दूसरा वीडियो फेसबुक पर पोस्ट किया था. यहां उन्होंने बताया है कि ये प्रदर्शन ‘श्रीराम पेट्रोल पंप’ के सामने सैकड़ों कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने इकट्ठे होकर किया.

वीडियो के बारे में और जानकारी पाने के लिए हमने कुणाल से संपर्क किया. उन्होंने हमें बताया कि ये वीडियो उत्तरी महाराष्ट्र के धुले जिले में 25 अप्रैल को हुए प्रदर्शन का है. वो कहते हैं, “कांग्रेस पार्टी महंगाई के मुद्दे को लेकर लगातार राज्य के अलग-अलग जिलों में इस तरह के प्रदर्शन कर रही है.”  

पीएम मोदी ने कब और कहां पूछे थे महंगाई से जुड़े ये सवाल?

वीडियो की सच्चाई पता लगने के बाद हमने पीएम मोदी के सवालों वाले ऑडियो की जांच शुरू की. कीवर्ड सर्च के जरिये तलाशने पर सबसे पहले हमें एक यूट्यूब वीडियो में इन सवालों वाला पीएम मोदी के भाषण का अंश मिला. यहां ऊपर बाईं तरफ 1 फरवरी, 2015 तारीख लिखी है.

 

फेसबुक के ‘डेट फिल्टर’ की मदद से हमें पता लगा कि पीएम मोदी ने 1 फरवरी, 2015 को इस वीडियो का लिंक पोस्ट किया था.

2 फरवरी, 2015 को पीएम नरेंद्र मोदी के आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर उनका द्वारका, दिल्ली में दिया गया वो भाषण पोस्ट किया गया था, जिसका ऑडियो वायरल वीडियो में सुनाई देता है. इस कार्यक्रम के वीडियो में किरण बेदी और बीजेपी के कई दिग्गज नेता बैठे नजर आ रहे हैं.

पीएम मोदी का वायरल वीडियो वाला ऑडियो यहां 13 मिनट से सुना जा सकता है. जनता से महंगाई को लेकर सवाल पूछने के बाद मोदी कहते हैं,

“अब हमारे विरोधी कहते हैं कि ये तो मोदी नसीब वाला है, इसलिए हुआ है. अब मुझे बताइए कि आपको नसीब वाला चाहिए कि कम नसीब चाहिए. चलो भई मान लिया कि नसीब वाला है, लेकिन रुपया तो आपकी जेब में बचा न. अगर मोदी का नसीब देश की जनता के काम आता है तो इससे बढ़िया नसीब की बात क्या होती है.”      

इसके बाद दर्शक दीर्घा में बैठे लोग ‘मोदी-मोदी’ चिल्लाने लगते हैं.

ये वीडियो पीएम मोदी ने 1 फरवरी, 2015 को फेसबुक पर भी पोस्ट किया था.

जाहिर है, महाराष्ट्र कांग्रेस के महंगाई के खिलाफ किए गए प्रदर्शन के एक वीडियो के जरिये पीएम मोदी पर निशाना साधा जा रहा है.

फैक्ट चेक

सोशल मीडिया यूजर्स

दावा

एक सभा में जब पीएम मोदी ने लोगों से पूछा, “पेट्रोल के दाम कम हुए कि नहीं हुए” तो जनता ने जवाब दिया, “नहीं हुए”.

निष्कर्ष

ये वीडियो महाराष्ट्र के धुले जिले में आयोजित कांग्रेस के एक धरना प्रदर्शन का है. प्रदर्शन के दौरान लाउडस्पीकर पर पीएम मोदी के सवालों की एक सात साल पुरानी ऑडियो क्लिप बज रही थी. कांग्रेस नेता इन सवालों के जवाब दे रहे थे.

झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • कौआ: आधा सच
  • कौवे: ज्यादातर झूठ
  • कौवे: पूरी तरह गलत
सोशल मीडिया यूजर्स
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें