scorecardresearch
 

फैक्ट चेक: जितेंद्र त्यागी नहीं लड़ रहे हैं नूपुर शर्मा का केस, सोशल मीडिया पर फैली अफवाह

नूपुर शर्मा विवाद के बीच अब कई लोग ऐसा कह रहे हैं कि उनका केस शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष जितेंद्र त्यागी लड़ेंगे. जितेंद्र का नाम पहले वसीम रिजवी था और वो पिछले साल धर्म परिवर्तन करवा के मुसलमान से हिंदू बन गए थे.

X
फैक्ट चेक स्टोरी फैक्ट चेक स्टोरी

नूपुर शर्मा विवाद के बीच अब कई लोग ऐसा कह रहे हैं कि उनका केस शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष जितेंद्र त्यागी लड़ेंगे. जितेंद्र का नाम पहले वसीम रिजवी था और वो पिछले साल धर्म परिवर्तन करवा के मुसलमान से हिंदू बन गए थे.

फेसबुक पर ये दावा काफी वायरल है कि पूर्व बीजेपी प्रवक्ता नूपुर का केस जितेंद्र लड़ेंगे और पैगंबर मोहम्मद पर उनकी टिप्पणी को सही साबित करेंगे.

मिसाल के तौर पर, एक फेसबुक यूजर ने लिखा,  “अब आएगा असली मजा, बहन नूपुर शर्मा का केस जितेंद्र त्यागी वसीम रिजवी लड़ेंगे अब जो होगा वो सरेआम होगा कुरान पढ़ी जाएगी और सबको बताया जाएगा क्या लिखा है इसमें. अब टीवी पर लाइव और दिखा दे तो मजा आ जाए.”

क्राउडटैंगल टूल के मुताबिक बीते एक हफ्ते में इस पोस्ट पर 2000 से भी अधिक इंटरैक्शन (लाइक, शेयर, रीएक्शन) हो चुके हैं. 

जितेंद्र त्यागी ने इंडिया टुडे की फैक्ट चेक टीम को बताया​ कि वो नूपुर शर्मा का केस नहीं लड़ रहे हैं. हां, इतनी बात सच है कि उन्होंने नूपुर से उनके केस में हर संभव मदद करने का वादा किया है.

कैसे पता लगाई सच्चाई?

हमें कहीं भी ऐसी कोई रिपोर्ट नहीं मिली जिसमें लिखा हो कि जितेंद्र त्यागी, नूपुर शर्मा का केस लड़ने वाले हैं. ये मामला इतना चर्चा में है, लिहाजा अगर हकीकत में ऐसा होता, तो इसे लेकर हर जगह खबर छपी होती. इस बारे में और जानकारी पाने के लिए हमने जितेंद्र से संपर्क किया. जितेंद्र ने  नूपुर का केस लड़ने की बात को सिर्फ एक अफवाह बताया.

वो कहते हैं, “नूपुर का केस तो उनके वकील ही लड़ेंगे, लेकिन इतनी बात सच है कि मैंने उनसे बात करके उन्हें मदद का आश्वासन दिया है. पैगंबर मुहम्मद को लेकर उन्होंने जो बयान दिया है, वो एकदम सही है. मैंने उन्हें अपनी किताब भी दी है जिसमें उनके बयान को सही साबित करने वाले कई रेफरेंस हैं.”

विवादों से नाता
जितेंद्र त्यागी ने पिछले साल डासना देवी मंदिर, गाजियाबाद के महंत यति नरसिंहानंद की मौजूदगी में सनातन री​ति-रिवाजों के साथ हिंदू धर्म अपनाया था.

 अपने विवादित बयानों की वजह से वो कई बार चर्चा में आ चुके हैं. उन्हें हरिद्वार में आयोजित धर्म संसद में भड़काऊ भाषण देने के आरोप पर 13 जनवरी को गिरफ्तार किया गया था. 17 मई को सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें सशर्त तीन महीने की जमानत दी थी. इससे पहले वो मदरसों को बंद करने की बात भी कह चुके हैं.

 
पैगंबर मोहम्मद पर विवादित टिप्पणी के मामले में नूपुर शर्मा के खिलाफ दिल्ली, मुंबई, ठाणे और बंगाल में एएफआईआर दर्ज हुई है.

साफ है कि जितेंद्र त्यागी के नूपुर शर्मा का केस लड़ने की बात बेबुनियाद है.

फैक्ट चेक

सोशल मीडिया यूजर्स

दावा

पूर्व बीजेपी प्रवक्ता नूपुर शर्मा का केस शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष जितेंद्र त्यागी लड़ेंगे. 

निष्कर्ष

जितेंद्र त्यागी ने ‘आजतक’ को बताया है कि वो नूपुर का केस नहीं लड़ रहे हैं. हालांकि वो इस केस में उनकी पूरी मदद करेंगे. 

झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • कौआ: आधा सच
  • कौवे: ज्यादातर झूठ
  • कौवे: पूरी तरह गलत
सोशल मीडिया यूजर्स
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें