scorecardresearch
 

फैक्ट चेक: स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन की सात साल पुरानी तस्वीर, अभी की बताकर हुई शेयर

ऑक्सीजन की कमी के कारण लोगों की हर दिन मौतों की खबरें सामने आ रही हैं. ऐसे में सोशल मीडिया पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन की एक तस्वीर वायरल होने लगी है.

वायरल तस्वीर वायरल तस्वीर

कोरोना के चलते देश में ऑक्सीजन के लिए त्राहि-त्राहि मची हुई है. ऑक्सीजन की कमी के कारण लोगों की हर दिन मौतों की खबरें सामने आ रही हैं. ऐसे में सोशल मीडिया पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन की एक तस्वीर वायरल होने लगी है. तस्वीर के साथ दावा किया जा रहा है कि देश में ऑक्सीजन की कमी से लोग मर रहे हैं लेकिन स्वास्थ्य मंत्री भिंडी काटने में व्यस्त हैं. तस्वीर में हर्षवर्धन एक कमरे में पलंग पर बैठे नजर आ रहे हैं और कोई सब्जी छील रहे हैं.

इंडिया टुडे एंटी फेक न्यूज वॉर रूम (AFWA) ने पाया कि तस्वीर के साथ किया जा रहा दावा भ्रामक है. ये तस्वीर दिसंबर 2013 की है और इसका कोरोना से कोई लेना देना नहीं.

तस्वीर को अलग- अलग कैप्शन के साथ सोशल मीडिया पर पोस्ट किया जा रहा है. कुछ यूजर्स ने लिखा है "ऑक्सीजन की कमी से लोग मर रहे है,हमारे स्वास्थ्य मंत्री भिंडी छिल रहे है". वहीं कुछ लोग लिख रहे हैं "पता कीजिए आखिर आजकल हमारे स्वास्थ्य मंत्री कहां भिंडी छिल रहे है". फेसबुक पर भी तस्वीर को शेयर किया जा रहा है. वायरल ट्वीट का आर्काइव यहां देखा जा सकता है.

कैसे पता की सच्चाई?

तस्वीर को रिवर्स सर्च करने पर हमें "वन इंडिया" की एक खबर मिली जिसमें वायरल तस्वीर मौजूद थी. खबर के मुताबिक ये तस्वीर 7 दिसंबर 2013 को दिल्ली के कृष्णा नगर स्थित हर्षवर्धन के घर में खींची गई थी. तस्वीर 2013 में हुए दिल्ली विधान सभा चुनाव के कुछ दिन बाद ही ली गई थी. ये तस्वीर 8 दिसंबर 2013 को 'मिंट' में प्रकाशित हुई एक रिपोर्ट में भी देखी जा सकती है. इस चुनाव में बीजेपी दिल्ली में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी और पार्टी की तरफ से मुख्यमंत्री का चेहरा हर्षवर्धन ही थे.

कुछ सोशल मीडिया यूजर्स वायरल तस्वीर के साथ हर्षवर्धन की एक अन्य तस्वीर भी शेयर कर रहे हैं, जिसमें वह लूडो खेलते हुए दिख रहे हैं. इस तस्वीर को भी अभी का बताया जा रहा है.

बता दें कि ये तस्वीर भी मई 2019 की है और इसे कोरोना से जोड़ना गलत है. पिछले साल भी ये तस्वीर गलत दावे के साथ वायरल हुई थी. इंडिया टुडे ने इसे खारिज करते हुए खबर भी की थी.

यहां हमारी पड़ताल में साबित हो जाता कि हर्षवर्धन की ये तस्वीर सात साल से ज्यादा पुरानी है जिसे भ्रामक दावे के साथ सोशल मीडिया पर शेयर किया जा रहा है.

फैक्ट चेक

सोशल मीडिया यूजर्स

दावा

देश में ऑक्सीजन की कमी से लोग मर रहे है लेकिन स्वास्थ्य मंत्री भिंडी काटने में व्यस्त हैं.

निष्कर्ष

तस्वीर दिसंबर 2013 की है और इसका कोरोना से कोई लेना देना नहीं.

झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • कौआ: आधा सच
  • कौवे: ज्यादातर झूठ
  • कौवे: पूरी तरह गलत
सोशल मीडिया यूजर्स
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें