scorecardresearch
 

फैक्ट चेक: चुनाव आयोग ने नहीं दिया बिहार की 25 सीटों पर रिकाउंटिंग का आदेश

सोशल मीडिया पर कुछ लोग ‘बिहार_मांगे_रिकाउंटिंग’ जैसे हैशटैग्स के साथ कह रहे हैं कि चुनाव आयोग ने 25 सीटों पर दोबारा मतगणना के आदेश दे दिए हैं.

वायरल पोस्ट वायरल पोस्ट

नीतीश कुमार ने 16 नवंबर की शाम सातवीं बार बिहार के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली. राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) ने चुनाव में धांधली का आरोप लगाते हुए इस शपथ ग्रहण समारोह का बहिष्कार किया.

आरजेडी और उसके सहयोगी दलों ने चुनाव के तुरंत बाद ही चुनाव आयोग से कुछ विशेष सीटों पर दोबारा मतगणना की मांग की थी. इस बीच सोशल मीडिया पर कुछ लोग ‘#बिहार_मांगे_रिकाउंटिंग’ जैसे हैशटैग्स के साथ कह रहे हैं कि चुनाव आयोग ने 25 सीटों पर दोबारा मतगणना के आदेश दे दिए हैं.

इस पोस्ट्स का आर्काइव्ड वर्जन यहां और यहां देखा जा सकता है.

इंडिया टुडे के एंटी फेक न्यूज वॉर रूम (AFWA) ने पाया कि ये दावा गलत है. चुनाव आयोग ने रिकाउंटिंग की मांग को पूरी तरह खारिज कर दिया था और अब ये उम्मीदवार कोर्ट जाने की तैयारी में हैं.

तेजस्वी फैन्स’ नाम के ट्विटर अकाउंट ने पोस्ट किया, “मेहनत रंग लाई...चुनाव आयोग द्वारा 25 सीटों पर दोबारा मतगणना के आदेश... #बिहार_मांगे_रिकाउंटिंग”.

इसी तरह ‘अखिलेश यादव पैरोडी’ नाम के ट्विटर अकाउंट ने लिखा, “चुनाव आयोग द्वारा 25 सीटों पर दोबारा मतगणना के आदेश. तेज़ रफ़्तार तेजस्वी सरकार!” खबर लिखे जाने तक इस पोस्ट को तकरीबन 6100 लोग लाइक कर चुके थे और करीब 716 लोग शेयर कर चुके थे.

फेसबुक पर भी ये दावा काफी वायरल है. आरजेडी नेता तेजस्वी यादव का समर्थन करने वाले सोशल मीडिया पेजों पर इसे खूब शेयर किया जा रहा है.

इस पर कमेंट करते हुए एक यूजर ने लिखा, “अब स्थितियां साफ हो सकेंगी. चुनाव आयोग के इस निर्णय की सराहना और तेजस्वी यादव की हिम्मत को सलाम.”

क्या है सच्चाई

बिहार चुनाव में धांधली का आरोप लगाते हुए छह उम्मीदवारों ने दोबारा मतगणना की मांग की थी. लेकिन चुनाव आयोग ने उनकी मांग को खारिज कर दिया था. ‘टाइम्स नाउ’ की रिपोर्ट के अनुसार, बिहार के मुख्य निर्वाचन अधिकारी एचआर श्रीनिवास ने इस बारे में बयान दिया, "दोबारा मतगणना कराने के लिए उम्मीदवारों की तरफ से सचमुच आवेदन आए थे. लेकिन जांच करने पर पता चला कि जो कारण वे बता रहे हैं, वह सही नहीं थे. इसलिए दोबारा मतगणना कराने की अर्जियां खारिज कर दी गईं." उन्होंने ये भी कहा, "हमने सभी उम्मीदवारों को उनकी अर्जियां खारिज करने की वजह लिखित रूप में समझाई है."

इस बारे में ‘बिजनेस स्टैंडर्ड’, ‘आउटलुक हिंदी’ और ‘नेशनल हेराल्ड’ में भी खबर छपी थी.

वहीं, ‘न्यूज 18 हिंदी’ की एक रिपोर्ट के अनुसार, महागठबंधन के 21 उम्मीदवार अब इस मामले को लेकर कोर्ट की शरण में जाने की तैयारी कर रहे हैं. इनमें से ज्यादातर उम्मीदवार आरजेडी के हैं.

हमें चुनाव आयोग की वेबसाइट या सोशल मीडिया अकाउंट पर ऐसी कोई जानकारी नहीं मिली जिसमें बिहार विधानसभा की 25 सीटों पर रिकाउंटिंग कराने का आदेश हो. आरजेडी के सोशल मीडिया अकाउंट्स पर भी हमें रिकाउंटिंग से जुड़े चुनाव आयोग के ऐसे किसी आदेश का ब्यौरा नहीं मिला.

​इस तरह हम कह सकते हैं कि चुनाव आयोग के बिहार विधानसभा की 25 सीटों पर दोबारा मतगणना करवाने का दावा पूरी तरह मनगढ़ंत है.

फैक्ट चेक

सोशल मीडिया यूजर्स

दावा

चुनाव आयोग ने बिहार विधानसभा चुनाव की 25 सीटों पर दोबारा मतगणना के आदेश दिए हैं.

निष्कर्ष

चुनाव आयोग ने रिकाउंटिंग की मांग खारिज कर दी थी. असंतुष्ट उम्मीदवार अब कोर्ट का दरवाजा खटखटाने की तैयारी में हैं.

झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • कौआ: आधा सच
  • कौवे: ज्यादातर झूठ
  • कौवे: पूरी तरह गलत
सोशल मीडिया यूजर्स
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें