scorecardresearch
 

फैक्ट चेक: अखिलेश यादव ने नहीं किया है 2000 मस्जिदें बनवाने का वादा, फर्जी है ये पोस्टर

इंडिया टुडे के एंटी फेक न्यूज वॉर रूम (AFWA) ने पाया कि सोशल मीडिया पर वायरल पोस्टर फर्जी है. अखिलेश यादव ने मुसलमानों से यूपी चुनाव 2022 के मद्देनजर इस तरह का कोई वादा नहीं किया है.

X
अखिलेश यादव ने नहीं किया है 2000 मस्जिदें बनवाने का वादा अखिलेश यादव ने नहीं किया है 2000 मस्जिदें बनवाने का वादा

क्या अखिलेश यादव ने चुनाव जीतने पर 2000 मस्जिदें बनवाने और दलित-पिछड़ों का आरक्षण घटा कर मुसलमानों को 30 प्रतिशत आरक्षण देने का वादा किया है? सोशल मीडिया पर एक वायरल पोस्टर के जरिये कुछ ऐसा ही दावा किया जा रहा है.

इस पोस्टर में लिखा है, “पश्चिमी यूपी और पूर्वांचल में 2000 नई मस्जिद बनाई जायेगी, अयोध्या में बाबरी मस्जिद के लिए हजार करोड़ रुपये दिए जाएंगे, अयोध्या का नाम परिवर्तन किया जाएगा, दलितों और पिछड़ों का आरक्षण कम करके मुसलमानों को 30% आरक्षण दिया जाएगा, लव जेहाद कानून को खत्म किया जायेगा, यह वादा है मेरा मुसलमानों से. -अखिलेश यादव”.

इस पोस्टर के नीचे यह भी लिखा है, “समाजवादी पार्टी के आईटी सेल द्वारा यूपी मे मुसलमानो के व्हाट्सऐप पर भेजा जा रहा है, इस मैसेज को 100 करोड़ हिंदुओं के पास खासकर यूपी के एक-एक हिंदुओं के पास भेजो. 300 यूनिट फ्री बिजली के चक्कर हिंदू बर्बाद हो जाएंगे”.

इस पोस्टर को शेयर करते हुए एक फेसबुक यूजर ने लिखा, “संभल जाओ वक्त रहते, वरना नामोनिशां भी ना होगा दास्तानों मे”.
 


इंडिया टुडे के एंटी फेक न्यूज वॉर रूम (AFWA) ने पाया कि सोशल मीडिया पर वायरल पोस्टर फर्जी है. अखिलेश यादव ने मुसलमानों से यूपी चुनाव 2022 के मद्देनजर इस तरह का कोई वादा नहीं किया है.  

कैसे पता लगाई सच्चाई?

अगर अखिलेश यादव ने सचमुच 2000 मस्जिदें बनवाने और अयोध्या का नाम बदलने जैसे वादे किए होते, तो इसे लेकर सभी जगह चर्चा होती. प्रमुख अखबारों में इस बयान पर खबर छपी होती. पर हमें इस तरह की कोई खबर नहीं मिली. समाजवादी पार्टी के सोशल मीडिया हैंडल्स पर भी अखिलेश के ऐसे किसी बयान का जिक्र नहीं मिला.

हमने वायरल पोस्टर समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता नासिर सलीम को भेजा. उन्होंने हमें बताया कि ये पोस्टर पूरी तरह से फर्जी है. अखिलेश यादव या समाजवादी पार्टी की तरफ से इस तरह की कोई भी घोषणा नहीं की गई है.

समाजवादी पार्टी फैक्ट चेक नाम के एक ट्विटर हैंडल ने भी इस पोस्टर को फर्जी बताया गया है. इस ट्वीट को समाजवादी पार्टी मीडिया सेल के वेरिफाइड हैंडल ने रीट्वीट किया है.  

 

साफ तौर पर, पोस्टर में लिखी बातें मनगढ़ंत हैं. इन्हें अखिलेश यादव की चुनावी घोषणाओं के रूप में पेश किया जा रहा है.  

 

फैक्ट चेक

सोशल मीडिया यूजर्स

दावा

अखिलेश यादव ने मुसलमानों से वादा किया है कि चुनाव जीतने पर वो 2000 मस्जिदें बनवाएंगे और दलितों-पिछड़ों का आरक्षण घटा कर मुसलमानों को 30 प्रतिशत आरक्षण देंगे.

निष्कर्ष

ये पोस्टर फर्जी है. अखिलेश यादव ने इस तरह का कोई वादा नहीं किया है.

झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • कौआ: आधा सच
  • कौवे: ज्यादातर झूठ
  • कौवे: पूरी तरह गलत
सोशल मीडिया यूजर्स
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें